विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

शेरीन की मौत पर अनाथालय ने दिया माता-पिता से उलट बयान

मैथ्यूज ने पुलिस को बताया था कि बच्ची को जब गोद लिया गया था, उस समय वह कुपोषित थी

Bhasha Updated On: Oct 26, 2017 12:09 PM IST

0
शेरीन की मौत पर अनाथालय ने दिया माता-पिता से उलट बयान

अमेरिका के एक भारतीय दंपती को तीन वर्षीय शेरीन मैथ्यूज गोद देने वाले भारत के अनाथालय की संचालक ने कहा है कि शेरीन को खाने संबंधी कोई समस्या नहीं थी. ये अनाथालय अब बंद हो चुका है.

शेरीन का शव डलास में उसके माता पिता के घर से करीब आधा मील की दूरी पर एक सड़क के नीचे सुरंग से रविवार को मिला था. पुलिस और स्वयंसेवक 7 अक्टूबर से बच्ची की तलाश कर रहे थे.

जांचकर्ताओं ने क्या बताया?

जांचकर्ताओं ने बताया है कि उसके पिता वेस्ले मैथ्यूज ने शुरूआत में उन्हें बताया था कि उसने बच्ची को 7 अक्टूबर को देर रात तीन बजे घर के बाहर एक पेड़ के निकट खड़े होने की सजा दी थी क्योंकि वह दूध नहीं पी रही थी. उसने कहा था कि वह 15 मिनट बाद उसे देखने गया था.

मैथ्यूज ने पुलिस को बताया था कि बच्ची को जब गोद लिया गया था, उस समय वह कुपोषित थी और वह जब भी जागती थी, उस भोजन देने की आवश्यकता होती थी, ताकि उसका वजन बढ़ सके.

अनाथालय की संचालक ने क्या कहा?

इस बीच, अनाथालय की संचालक बबीता कुमारी ने टेलीविजन स्टेशन डब्ल्यूएफएए को बताया कि लड़की को कोई समस्या नहीं थी और बच्ची को गोद लेने की प्रक्रिया के दौरान वेस्ले और सिनी मैथ्यूज बहुत प्यार करने वाले माता पिता लग रहे थे.

बबीता ने कहा, ‘बच्ची जब यहां थी, उस समय उसे न तो दूध पीने में और न ही खाने में कोई समस्या थी.’ बच्चों को गोद देने में मदद करने वाली अंतरराष्ट्रीय एजेंसी को जब कल फोन किया गया तो उसने कोई जवाब नहीं दिया. ऐसा माना जा रहा है कि इसी एजेंसी ने शेरीन को गोद लेने में दंपती की मदद की थी.

वेस्ले मैथ्यूज ने पुलिस के सामने बदला अपना बयान

वेस्ले मैथ्यूज के खिलाफ पहले बच्ची के जीवन को खतरे में डालने या उसे छोड़ने के आरोप लगाए गए थे. उन्होंने सोमवार को पुलिस के सामने अपना बयान बदलते हुए कहा कि बच्ची दूध पी रही थी और इसी दौरान गले में दूध अटकने के कारण उसका दम घुट गया और घर के गैरेज में उसकी मौत हो गई. इसके बाद वह उसके शव को बाहर लेकर गया.

इसके बाद वेस्ले मैथ्यूज को गिरफ्तार कर लिया गया और उसके खिलाफ बच्ची को चोट पहुंचाने के आरोप लगाए गए जिनके साबित होने पर उसे आजीवन कारावास तक की सजा हो सकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi