S M L

मूडीज की रेटिंग में 28 सालों में पहली बार डाउनग्रेड हुआ चीन

चीन की रेटिंग गिरने की मुख्य वजह बढ़ता कर्ज है

FP Staff | Published On: May 24, 2017 09:26 PM IST | Updated On: May 24, 2017 09:26 PM IST

मूडीज की रेटिंग में 28 सालों में पहली बार डाउनग्रेड हुआ चीन

मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने बुधवार को चीन की क्रेडिट रेटिंग घटाकर एए3 से ए1 कर दी है. एजेंसी में कहा है कि चीन की रेटिंग गिरने की मुख्य वजह बढ़ता कर्ज है. पिछले 28 सालों में पहली बार चीन की रेटिंग में गिरावट आई है.

मूडीज ने एक बयान में कहा, ‘मूडीज को उम्मीद है कि आने वाले सालों में इकनॉमी में तेजी से बढ़ोतरी होगी. योजनाबद्ध सुधार कार्यक्रम के धीमा होने की संभावना है, लेकिन यह रुकेगा नहीं. वहीं, निवेश हेतु लिए जाने वाले कर्ज में बढ़ोतरी होगी.’

क्यों हुआ चीन डाउनग्रेड?  

बयान में कहा गया है कि रेटिंग में यह डाउनग्रेड चीन की वित्तीय ताकत में गिरावट के मद्देनजर किया गया है. एजेंसी का कहना है कि आनेवाले सालों में चीन की आर्थिक ताकत कुछ हद तक घट जाएगी क्योंकि अर्थव्यस्था पर कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा है. इससे चीन के विकास दर में कमी आएगी.

चीन की अर्थव्यवस्था साल 2016 में 6.7 प्रतिशत की दर से बढ़ी, जबकि इसके पिछले  साल यह 6.9 प्रतिशत थी. साल 2016 में चीनी सरकार का बजट घाटा जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) का करीब तीन फीसदी था.

मूडीज को उम्मीद है कि साल 2018 तक सरकार का कर्ज जीडीपी के 40 फीसदी तक और 2020 के अंत तक जीडीपी के 45 फीसदी तक पहुंच जाएगा. चीन की सरकार मूडीज के इस डाउनग्रेडिंग से सहमत नहीं है. चीनी सरकार कहना है कि मूडीज की रेटिंग विश्वसनीय नहीं है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi