विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

सिक्किम सीमा विवाद के बीच जी-20 में मोदी और शी जिनपिंग ने मिलाया हाथ

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर सराहना की

Bhasha Updated On: Jul 08, 2017 11:27 AM IST

0
सिक्किम सीमा विवाद के बीच जी-20 में मोदी और शी जिनपिंग ने मिलाया हाथ

जर्मनी के हैम्बर्ग में हो रहे जी-20 सम्मेलन के दौरान 5 ब्रिक्स देशों के नेताओं ने एक अनौपचारिक बैठक की. इस दौरान सिक्किम के डोका ला में भारत के साथ विवाद के बावजूद चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर सराहना की.

सिक्किम क्षेत्र में भारत और चीन की सेनाओं के बीच चल रहे गतिरोध के बावजूद प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने ब्रिक्स नेताओं की अनौपचारिक बैठक के दौरान एक दूसरे से हाथ मिलाया और 'व्यापक मुद्दों ' पर चर्चा की.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने बताया कि मोदी और शी ने व्यापक मुद्दों पर चर्चा की है.

प्रवक्ता ने ट्वीट किया, 'हैमबर्ग में चीन की मेजबानी में हुई ब्रिक्स नेताओं की अनौपचारिक बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी ने व्यापक मुद्दों पर बातचीत की.' बागले ने बातचीत से जुड़े मुद्दों के बारे में ब्यौरा नहीं दिया.

विदेश मंत्रालय ने मोदी और शी की हाथ मिलाते हुए तस्वीर ट्वीट की.

मोदी ने भी चीन की तारीफ 

बाद में मोदी ने चीन की अध्यक्षता में ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) समूह में गतिशीलता की 'तारीफ' की . मोदी ने बीजिंग की मेजबानी में होने जा रहे ब्रिक्स के आगामी शिखर सम्मेलन के लिए पूर्ण समर्थन देने की भी बात कही .

जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर ब्रिक्स के नेताओं की एक अनौपचारिक मुलाकात में बोलते हुए मोदी ने समूह के नेताओं से अपील की कि वे आतंकवाद से मुकाबले और वैश्विक अर्थव्यवस्था  वृद्धि में तेजी लाने के लिए नेतृत्व दिखाएं .

मोदी के ठीक बाद अपने संबोधन में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भी भारत की अध्यक्षता के दौरान ब्रिक्स की गतिशीलता की तारीफ की . भारत की अध्यक्षता की अवधि पूरी होने के बाद चीन को ब्रिक्स की अध्यक्षता सौंपी गई है .

पांचों ब्रिक्स देशों के नेताओं, जिनमें रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन भी शामिल हैं, ने आगामी सितंबर में चीन के शियामेन में होने वाले 9वें शिखर सम्मेलन की तैयारियों और प्राथमिकताओं पर चर्चा की .

मुलाकात के बाद विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, मोदी ने कहा कि ब्रिक्स दुनिया भर में स्थिरता, सुधार, प्रगति और उत्तम शासन की सशक्त आवाज है .

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi