विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

संयुक्त राष्ट्र ने दर्ज किए यौन उत्पीड़न के 31 मामले

जुलाई से सितंबर के बीच मध्य अफ्रीकी गणराज्य, कांगो, हैती, लाइबेरिया, माली और दक्षिण सूडान में छह शांतिरक्षक अभियानों में 12 नए मामले सामने आए

Bhasha Updated On: Nov 04, 2017 05:43 PM IST

0
संयुक्त राष्ट्र ने दर्ज किए यौन उत्पीड़न के 31 मामले

संयुक्त राष्ट्र ने तीन महीनों में यौन उत्पीड़न के 31 नए मामले दर्ज किए हैं. इसमें आधे मामलों में यूएन कर्मचारी और यूएन शरणार्थी एजेंसी के सहायक संगठन शामिल हैं.

जुलाई से सितंबर के बीच मध्य अफ्रीकी गणराज्य, कांगो, हैती, लाइबेरिया, माली और दक्षिण सूडान में छह शांतिरक्षक अभियानों में 12 नए मामले सामने आए.

यूएनएचसीआर ने 15 आरोप दर्ज किए हैं. वहीं, तीन नए मामलों में विश्व निकाय के आव्रजन कर्मी शामिल हैं और एक आरोप यूनिसेफ से संबंधित है.

संयुक्त राष्ट्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार यूएनएचसीआर से संबंधित एक आरोप सही पाया गया, वहीं दो की जांच चल रही है. अन्य मामलों की समीक्षा की जा रही है.

यूएन के अधिकारी इस बात से चिंतित हैं 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने शांतिरक्षकों और कर्मचारियों की ओर से यौन शोषण किए जाने के मामलों को रोकने को अपने कार्यकाल का प्रमुख उद्देश्य बनाया है.

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र प्रमुख निश्चित ही इस बात से दुखी हैं कि इस प्रकार की घटनाएं लगातार हो रही हैं.

24 अक्टूबर को यूएन ने अपने 72 साल पूरे कर लिए. 1945 में अस्तित्व में आने के बाद से विश्व का सबसे बड़ा संगठन दुनिया में शांति कायम करने और खुशहाली लाने की कोशिशों में लगा हुआ है.

1945 में दूसरे विश्व युद्ध की भयावहता को देखते हुए यूएन चार्टर जारी किया गया. इसका उद्देश्य विश्व में शांति बनाए रखना, युद्ध जैसी आशंकाओं पर लगाम लगाना, निरस्त्रीकरण को बढ़ावा देना साथ ही न्याय और समान अधिकार का प्रसार करना था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi