S M L

ब्रिटिश लेखक काजुओ इशिगुरो को लिटरेचर का नोबल

काजुओ इशिगुरो को ये सम्मान उनकी किताब 'नॉवेल्स ऑफ ग्रेट इमोशनल फोर्स' के लिए मिला है.

FP Staff Updated On: Oct 05, 2017 06:05 PM IST

0
ब्रिटिश लेखक काजुओ इशिगुरो को लिटरेचर का नोबल

लिटरेचर में नोबल पुरस्कार विजेता के नाम की घोषणा हो गई है. इस बार ब्रिटिश लेखक काजुओ इशिगुरो को लिटरेचर में नोबल पुरस्कार मिला है. इशिगुरो को ये सम्मान उनकी किताब 'नॉवेल्स ऑफ ग्रेट इमोशनल फोर्स'  के लिए मिला है. काजुओ इशिगुरो ब्रिटिश स्क्रीनराइटर और शॉर्ट स्टोरी राइटर भी हैं. इशिगुरो मूलत जापानी हैं. उनका परिवार 1960 में इंग्लैंड आ गया था.

इशिगुरो मूलत जापानी हैं. उनका परिवार 1960 में इंग्लैंड आ गया था.

पिछले साल नोबल लिटरेचर पुरस्कार अमेरिकी गायक बॉबी डायलन को दिया गया था. जिसके बाद इसकी बहुत आलोचना हुई थी. इसमें कहा गया था कि गाने लिखने वाला लिटरेचर नहीं लिखता.

2015 में नोबल लिटरेचर स्वेतलाना एलेक्सी को मिला था. वह नॉन-फिक्शन लेखक और खोजी पत्रकार हैं.

पिछले हफ्ते रसायन के क्षेत्र में नोबल पुरस्कार की घोषणा हुई थी. इस बार ये पुरस्कार जाक डुबेशों, योआखिम फ्रैंक और रिचर्ज हेंडरसन को मिला है. इन वैज्ञानिकों को क्रायो इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोपी के विकास के लिए इस पुरस्कार से नवाजा गया है.

नोबल पुरस्कार विजेता जाक डुबेशो स्विटजरलैंड की लूसान यूनिवर्सिटी से जुड़े हैं, वहीं फ्रैंक न्यूयॉर्क की कोलंबिया यूनिवर्सिटी से हैं, हेंडरसन कैंब्रिजड के एमआरसी लैवोरेट्री ऑफ मॉलिक्यूलर बायोलॉजी से हैं.

पहला नोबल लिटरेचर पुरस्कार की घोषणा 1901 में हुई थी. तब से इसकी घोषणा 109 बार हो चुकी है. अब तक यह सम्मान 113 लेखकों को मिल चुका है.

Kazuo Ishiguro

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi