S M L

समुद्री लुटेरों से मिलकर लड़े भारत, पाक और चीन, पोत को बचाया

भारत और चीन की नौसेनाओं ने साथ मिलकर अदन की खाड़ी से व्यापारिक पोत को बचाया.

FP Staff Updated On: Apr 09, 2017 03:18 PM IST

0
समुद्री लुटेरों से मिलकर लड़े भारत, पाक और चीन, पोत को बचाया

पुरानी दुश्मनी को भुलाते हुए भारत और चीन की नौसेनाओं ने साथ मिलकर अदन की खाड़ी में उस व्यापारिक पोत को बचाया, जिसे समुद्री लुटेरों ने अगवा कर लिया था. 'ओएस 35' पोत पर बीती रात समुद्री लुटरों ने हमला किया और इस अगवा पोत से सूचना मिलने के बाद भारतीय नौसेना ने दो युद्ध पोतों को भेजा.

नौसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चीनी नौसेना भी इस व्यापारिक पोत को बचाने के लिए आगे आई. पीएलए ने पोत की सफाई के लिए अपने 18 कर्मियों को तैनात किया. तुवालू का ये जहाज ओएस 35 मलयेशिया के केलांग से अदन के यमनी पोर्ट की ओर जा रहा था

भारतीय नौसेना के दो युद्धपोत आईएनएस तरकश और आईएनएस मुंबई इस बचाव कार्य में शामिल हुए. भारतीय नौसेना ने पीएलए चीन के पीएलए को कम्यूनिकेशन और एयर सपोर्ट मुहैया कराया. भारतीय नौसेना ने अपने बयान में कहा कि अदन की खाड़ी से अगवा हुए व्यापारिक पोत ओएस 35 से हमें संकेत मिले. जिसके बाद भारतीय युद्धपोतों ने पोत के कप्तान से बात की. पोत के कप्तान ने खुद को और क्रू को एक मजबूत कमरे में बंद कर लिया था.

बयान में आगे कहा गया कि 178 मीटर लंबे ओएस 35 को साफ कराने के लिए चीन ने अपने 18 कर्मियों को भेजा, जिन्हें भारतीय नौसेना ने अपने हैलीकॉप्टर्स की मदद से कम्यूनिकेशन और एयर सपोर्ट दिया. ऑल-क्लियर सिगनल मिलने के बाद खुद को कमरे में बंद किए हुए क्रू के कुछ सदस्य बाहर निकले, उन्होंने पोत के कोने-कोने पर जाकर देखने के बाद समुद्री लुटेरों के भाग जाने की पुष्टि की. मौके पर पाकिस्तान और इटली के युद्धपोत भी पहुंचे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi