S M L

भारत अपने परमाणु हथियार से सिखाएगा चीन को सबक

अमेरिका का कहना है कि भारत लगातार अपने परमाणु हथियारों को आधुनिक बना रहा है

FP Staff | Published On: Jul 13, 2017 02:31 PM IST | Updated On: Jul 13, 2017 05:02 PM IST

0
भारत अपने परमाणु हथियार से सिखाएगा चीन को सबक

भारत और चीन के बीच पिछले कुछ दिनों से सीमा विवाद चल रहा है. ऐसे में अब ड्रैगन को भारत ने जवाब देने की ठान ली है. अमेरिका ने एक रिपोर्ट जारी की है, जो चीन के लिए चिंताजनक हो सकती है. अमेरिका के दो टॉप न्यूक्लियर एक्सपर्ट का कहना है कि भारत लगातार अपने परमाणु हथियारों को आधुनिक बना रहा है. इससे भारत पाकिस्तान पर आराम से निगाह रख सकता है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक डिजिटल जरनल After Midnight में छपे एक आर्टिकल के मुताबिक, भारत ऐसी मिसाइल बना रहा है जिसकी जद में पूरा चीन होगा. इस मिसाइल का बेस दक्षिण भारत में होगा और चीन को यहीं से निशाना बनाया जा सकेगा.

इस आर्टिकल का नाम “इंडियन न्यूक्लियर फोर्सेज 2017” था, जिसमें न्यूक्लियर एक्सपर्ट हंस एम क्रिस्टेंस और रॉबर्ट एस नॉरिस ने लिखा, ‘भारत के पास 150-200 परमाणु हथियार बनाने के लिए पर्याप्त प्लूटोनियम मौजूद है, लेकिन वह 120-130 ही बनाएगा.’

रिपोर्ट में कहा गया कि भारत के पास 600 किलोग्राम प्लूटोनियम मौजूद है, जिसके जरिए 150-200 न्यूक्लियर वॉरहेड्स बनाए जा सकते हैं. हालांकि भारत पूरे प्लूटोनियम का इस्तेमाल न्यूक्लियर वॉरहेड्स बनाने में नहीं करेगा.

क्रिस्टेंस और नॉरिस ने कहा कि अग्नि-1 मिसाइल का अगला प्रारूप टू-स्टेज, सॉलिड फ्यूल अग्नि-2 मिसाइल 2000 किलोमीटर से ज्यादा दूर तक न्यूक्लियर ले जा सकती है. इसके जरिए पश्चिमी, सेंट्रल और दक्षिणी चीन पर अटैक किया जा सकता है. वहीं, भारत की अग्नि-4 मिसाइल उत्तर-पूर्वी भारत से बीजिंग और संघाई समेत लगभग पूरे चीन पर हमला करने की क्षमता रखती है, लेकिन भारत इससे भी ज्यादा रेंज वाली अग्नि-5 तैयार कर रहा है.

अग्नि-5 तीन स्टेज और सॉलिड फ्यूल से चलने वाली इंटरकॉन्टीनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) है, जिसकी क्षमता 5000 से ज्यादा किलोमीटर तक न्यूक्लियर वॉरहेड ले जाने की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi