S M L

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: पाक मीडिया बोला, साबित हो गया कौन बाप है और कौन बेटा

जावेद मियांदाद ने तंज करते हुए कहा कि भारत कुलभूषण जाधव और चैंपियंस ट्रॉफी को भूल जाए.

Seema Tanwar | Published On: Jun 19, 2017 08:53 AM IST | Updated On: Jun 19, 2017 08:53 AM IST

0
आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: पाक मीडिया बोला, साबित हो गया कौन बाप है और कौन बेटा

यह तो होना ही था. एक तरफ जश्न और दूसरी तरफ मातम. पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल जीत गया तो जश्न उनके खाते में आया और मातम हमारे खाते में. जाहिर है आज पाकिस्तान में इससे बड़ी कोई खबर नहीं है. अखबार और टीवी सब पाकिस्तानी जीत के कसीदों से पटे पड़े हैं. पाकिस्तानी बल्लेबाज फखर जमान की खास तौर से तारीफ हो रही है जिन्होंने 114 रन की पारी के साथ शतक जड़ा और पाकिस्तान के स्कोर को 338 रन तक पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की.

कई पूर्व क्रिकेटरों के मुताबिक इस जीत के साथ पाकिस्तान में क्रिकेट के हालात बेहतर होंगे. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा तक ने टीम को बधाई दी है. साथ ही पाकिस्तानी टीवी चैनलों पर ऋषि कपूर का भी खूब मजाक उड़ रहा है जिन्होंने मैच से पहले भारत को पाकिस्तान का बाप बताया था.

रचा इतिहास

पाकिस्तान के विवादित टीवी एंकर आमिर लियाकत खान अपने शो ‘ऐसे नहीं चलेगा’ पर पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की टीशर्ट में नजर आए. बात बे बात भारत पर बरसने वाले आमिर लियाकत ने पाकिस्तान की जीत पर कहा, 'एक बार फिर इतिहास रचा गया है. ऐसा इतिहास कि भारतीय मांएं अपने बच्चों को रात को सुलाते वक्त कहा करेंगी कि बेटा जब पाकिस्तानी टीम आए तो डर जाना, क्योंकि जब पाकिस्तानी टीम आती है तो 180 रन से हराकर जाती है.'

आमिर लियाकत ने आगे कहा, "हमने उन सारी शिकस्तों का बदला लिया है जो भारत ने हमें क्रिकेट के मैदान पर दी हैं." उनका कहना है कि भारत इस हार को आसानी से नहीं भूलेगा. उन्होंने यह भी कहा कि कपूर खानदान को पता चला होगा कि बाप कौन होता है.

नियो टीवी पर नसरुल्लाह मलिक ने भी अपने शो की शुरुआत में ऋषि कपूर का मजाक उड़ाया. उनके शो पर चलने वाली पट्टी पर लिखा था- बाप कौन, बेटा कौन, ओवल के मैदान में फैसला हो गया.

इस शो में मौजूद पाकिस्तान के पूर्व चीफ सिलेक्टर हारून रशीद ने कहा कि जिस तरह पाकिस्तान की टीम ने मैच खेला, उसे देखकर कहीं से भी नहीं लग रहा था कि वह मैच हारेगी. 114 रनों की पारी खेलने वाले फखर जमान की तारीफ करते हुए हारून रशीद ने कहा कि जब से वह टीम में आए हैं उन्होंने बैटिंग को एक धार दी है. भारतीय टीम के अनुभवी और मजबूत होने की बात हारून रशीद ने कबूली लेकिन उनके मुताबिक पाकिस्तान टीम के लिए अच्छी बात रहे उसके गेंदबाज रहे जिनमें आमिर और हसन विकेट लेने वाले गेंदबाज थे जबकि शादाब खान को भारतीयों ने खेला ही नहीं था तो उन्हें अंदाजा भी नहीं था कि वह कैसे गेंद फेंकता है.

संयम की अपील

जीत की खुशी में एआरवाई चैनल के स्टूडियो में ही ढोल बजवा कर भंगड़ा किया गया. और थिरकने वालों में पाकिस्तानी क्रिकेटर युनूस खान और तनवीर अहमद भी शामिल थे. मैच का विश्लेषण करने के अलावा युनूस खान ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों और लोगों से कहा कि वह सोशल मीडिया पर ऐसी-वैसी बातें न लिखें. उन्होंने इस बात की तारीफ की कि भारतीय खिलाड़ियों ने पाकिस्तानी टीम की जीत पर उन्हें बधाई दी और उनके बारे में अच्छी अच्छी बातें की.

इसी कार्यक्रम में पूर्व क्रिकेटर और अब राजनेता बने इमरान खान का इंटरव्यू भी शामिल था जिसमें उन्होंने कहा कि अगर भारत पहले बैटिंग करता तो पाकिस्तान के लिए मुश्किल हो सकती थी. उनके मुताबिक पहले बैटिंग करने वाले पर स्कोरबोर्ड का प्रेशर नहीं होता. फखर जमान की तारीफ करते हुए इमरान खान ने कहा कि उनकी टेक्नीक अपनी डिवेलप नहीं हुई है, लेकिन जिस तरह की प्रतिभा उनमें है, वह बहुत कम लोगों में होती है.

जियो टीवी के एक शो में पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा, 'पाकिस्तान को अंडरडोग कहने वाले, पाकिस्तान को बुरा भला कहने वाले, नाम देने वाले देख लो क्या हुआ फाइनली.' उनके मुताबिक पाकिस्तान ने मुकम्मल क्रिकेट खेली जिसकी पाकिस्तान से उम्मीद की जाती थी. उनके मुताबिक, 'भारत ने शायद पाकिस्तान की बैटिंग को कम करके आंका. अच्छी विकेट पर टॉस जीतकर उन्होंने सोचा था कि पाकिस्तान शायद 250 प्लस रन बनाएगा तो हम आराम से लक्ष्य को हासिल कर लेंगे लेकिन जब स्कोर 300 प्लस होना शुरू हुआ तो भारत दबाव में आ गया.'

पहले ही कह दिया था...

पूर्व क्रिकेट कप्तान वसीम अकरम ने इस जीत को पाकिस्तान के लिए बहुत अहम बताते हुए कहा कि पाकिस्तान के क्रिकेट में एक बार फिर से जान आ गई है. चैंपियंस ट्राफी मिलने को चमत्कार बताते हुए वसीम अकरम ने 1992 के वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की खिताबी जीत को याद करते हुए कहा कि उस वक्त भी रमजान के महीने में पाकिस्तान वर्ल्ड क्रिकेट का सरताज बना था.

उधर समा टीवी पर पाकिस्तान के पूर्व नामी क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने तंज करते हुए कहा कि उन्होंने तो दो महीने पहले ही कह दिया था कि भारत कुलभूषण और चैंपियंस ट्रॉफी को भूल जाए. उन्होंने पाकिस्तान की जीत की वजह टीम के प्रदर्शन को बताया. उनके मुताबिक खेल के हर क्षेत्र में उन्होंने भारत को चित कर दिया. खासकर पाकिस्तानी बल्लेबाजों की उन्होंने खास तौर से तारीफ की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi