S M L

गलत वीजा आवेदन के लिए भारतीय-अमेरिकी पर 40 हजार डॉलर का जुर्माना

भारतीय मूल के एक अमेरिकी कारोबारी को गलत एच-1बी वीजा आवेदन करने के लिए 40,000 डॉलर का जुर्माना लगाया है

Bhasha Updated On: Aug 11, 2017 05:51 PM IST

0
गलत वीजा आवेदन के लिए भारतीय-अमेरिकी पर 40 हजार डॉलर का जुर्माना

एक संघीय अदालत ने न्यू हैम्पशायर में रहने वाले भारतीय मूल के एक अमेरिकी कारोबारी पर गलत एच-1बी वीजा आवेदन करने के लिए 40,000 डॉलर का जुर्माना लगाया है और तीन साल तक निगरानी में रहने की सजा सुनाई है. एक अमेरिकी अटार्नी ने यह जानकारी दी.

अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक भारतीय-अमेरिकी कारोबारी रोहित सक्सेना ने संयुक्त राज्य अमेरिका की नागरिकता और प्रवासी सेवाओं को झूठी जानकारी देने का जुर्म स्वीकार किया था.

42 साल के सक्सेना न्यू हैम्पशायर के मैनचेस्टर स्थित एक कंपनी ‘आस्क आईटी ग्रुप एलएलसी’ के अध्यक्ष और सीईओ हैं और उन्होंने कथित तौर पर धोखाधड़ी करके 45 वीजा के आवेदन किए थे. और दावा किया था कि उसकी कंपनी कैलिफोर्निया स्थित कंपनी में व्यावसायिक सेवाओं के लिए विदेशी कर्मचारियों की भर्ती कर रही है.

US CONSULATE VISA LINEUPS - 3/17/03 -Yog Gorur picks up his India passport from the US CONSULATE in Toronto while other people lineup in front of US CONSULATE to apply or pick up visa applications. (Photo by Vince Talotta/Toronto Star via Getty Images)

हालांकि, कैलिफोर्निया की कंपनी ने आस्क आईटी ग्रुप एलएलसी से कोई समझौता नहीं किया था और उसके यहां विदेशी कर्मचारियों के कोई पद रिक्त नहीं थे. अमेरिकी अटार्नी जॉन जे फेर्ले ने कल कहा कि सक्सेना इस बात को जानते था कि विदेशी कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं की जाएगी.

अमेरिकी न्याय विभाग ने कहा कि सक्सेना ने कैलिफोर्निया की कंपनी के लिए विदेशी श्रमिकों की नौकरियों का झूठा दावा किया और उनके लिए गलत तरीके से वीजा का आवेदन किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi