विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

LIVE: ईरान-इराक बॉर्डर पर 7.2 तीव्रता के भूकंप में 328 की मौत, 1700 घायल

भूकंप के झटके रविवार रात 9.18 बजे महसूस किए गए. भूकंप का केंद्र हलबजा से 32 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम में 33.9 किलोमीटर की गहराई में था.

FP Staff Updated On: Nov 13, 2017 03:10 PM IST

0
LIVE: ईरान-इराक बॉर्डर पर 7.2 तीव्रता के भूकंप में 328 की मौत, 1700 घायल

ईरान-इराक बॉर्डर पर रविवार देर रात आए भीषण भूकंप की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 328 हो गई है. इरान की सरकारी एजेंसी ने ये जानकारी दी है. जबकि, 1700 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 7.2 मापी गई. वहीं भूकंप की वजह से हुए भूस्खलन के चलते बचाव कार्यों में मुश्किल हो रही है. कई इलाकों में बिजली चली गई. इसकी वजह से भी राहत कार्यों में दिक्कत आ रही है.

अमेरिका के भूगर्भ सर्वेक्षण यानी यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने बताया कि भूकंप के झटके रविवार रात 9.18 बजे महसूस किए गए. भूकंप का केंद्र हलबजा से 32 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम में 33.9 किलोमीटर की गहराई में था.

ट्विटर पर जारी किए गए कुछ वीडियो से पता चला है कि नार्थ इराक के सुलेमानिया इलाके में लोग भाग रहे हैं. भूकंप की वजह से घरों की खिड़कियों के कांच टूट गए हैं. दरबंदीखान इलाके में कई इमारतों को जबरदस्त नुकसान पहुंचा और कंक्रीट के बड़े बड़े स्ट्रकक्चर धराशायी हो गए.

ईरान के सरकारी प्रसारण ‘आईआरआईबी’ ने अपनी वेबसाइट पर 129 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की जानकारी दी. वहीं आधिकारिक समाचार समिति ‘ईरना’ का कहना कि करीब 300 लोग घायल हुए हैं और इस आंकड़े के बढ़ने की आशंका है.

बताया जा रहा है कि इराक की सीमा में छह अन्य लोग भी मारे गए हैं.

ईरान के करमानशाह प्रांत के डिप्टी गवर्नर मोजतबा निक्केरदर ने कहा, ‘‘हम तीन आपात राहत शिविर स्थापित करने की तैयारी कर रहे हैं.’’ ‘यूएसजीएस’ ने बताया कि भूकंप हलबजा से 30 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम में रविवार रात करीब नौ बजकर 20 मिनट पर आया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भूकंप की वजह से ईरान के 14 राज्य प्रभावित हुए हैं. इन राज्यों में काफी तबाही मची है. कई मकान ढह गए. बिजली के खंभे उखड़ गए. गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है. कई जगह तो सड़कें भी धंस गई हैं.

भूकंप से अभी तक कितना नुकसान हुआ है, इसका आकलन किया जाना है. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, ये काफी जबर्दस्त भूकंप था. ऐसे में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

बता दें कि अभी पांच साल पहले भी ईरान-इराक में दो बड़े भयानक भूकंप आए थे. इसमें करीब 150 लोगों की जान गई थी. अगस्त 2012 में भी ईरान के उत्तर-पश्चिमी इलाके में दो जबर्दस्त भूकंपों में करीब 250 लोग मारे गए, जबकि 1300 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

(एजेंसियों के इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi