S M L

नाटो देशों के खराब प्रदर्शन पर अमेरिका छोड़ सकता है अपनी सदस्यता

नाटो और तेजी से आगे नहीं बढ़ता है तो अमेरिका उसका हिस्सा नहीं रहेगा.

Bhasha | Published On: May 18, 2017 01:54 PM IST | Updated On: May 18, 2017 01:55 PM IST

नाटो देशों के खराब प्रदर्शन पर अमेरिका छोड़ सकता है अपनी सदस्यता

आतंकवाद से लड़ने के नाटो देशों के खराब प्रदर्शन पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप नाटो की सदस्यता छोड़ सकते हैं.

ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वह अब एक ऐसे स्थान पर हैं जब वह नाटो में बने रहना चाहेंगे. लेकिन अगर नाटो और तेजी से आगे नहीं बढ़ता है तो अमेरिका उसका हिस्सा नहीं रहेगा.

यह बयान अगले सप्ताह ब्रसेल्स में शुरू हो रहे नाटो शिखर सम्मेलन से पहले आया है.

ट्रंप इस सप्ताह पांच देशों की यात्रा पर जा रहे हैं. इस दौरान वह बेल्जियम में होने वाले शिखर सम्मेलन में  शिरकत करेंगे. ट्रंप इस बैठक में नाटो नेताओं के साथ अफगानिस्तान में युद्ध एवं आईएसआईएस के खिलाफ लड़ाई पर विचार-विमर्श करेंगे.

व्हाहट हाउस प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा कि हम या तो नाटो की दिशा में वास्तविक बदलाव देखेंगे. या फिर इन चीजों पर काम करने के लिए अन्य रास्तें तलाशने की कोशिश करेंगे.

उन्होंने कहा कि हम देखेंगे की राष्ट्रपति ट्रंप शिखर सम्मेलन में क्या कहते हैं. क्योंकि यह अमेरिका के लोगों के लिए गंभीर मुद्दा है. नाटो में बने रहने के लिए हम सभी की सुरक्षा के लिए भुगतान नहीं करना चाहते. यह अमेरिकी करदाताओं के लिए भी उचित नहीं है और राष्ट्रपति खुद ऐसा नहीं होने देना चाहते.

उन्होंने जानकारी दी कि ब्रसेल्स शिखर सम्मेलन में ट्रंप इस बात पर चर्चा करेंगे, कि हमें यूरोप में अपने सहयोगियों द्वारा और कोशिश करने की कितनी आवश्यकता है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi