S M L

मुसलमानों को बैन करने का डोनाल्ड ट्रंप का प्लान शुरू

ट्रंप ने मुस्लिमों को रोकने के प्लान वाले आदेश जारी करने शुरू कर दिए हैं

FP Staff Updated On: Jan 26, 2017 02:19 PM IST

0
मुसलमानों को बैन करने का डोनाल्ड ट्रंप का प्लान शुरू

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने अमेरिका में मुस्लिमों की एंट्री रोकने के लिए प्लान बनाना शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा है कि ये जरूरी है, क्योंकि इसकी वजह से दुनिया बर्बाद हो रही है.

एबीसी को दिए इंटरव्यू में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि ये मुस्लिमों पर बैन जैसा नहीं है. बल्कि ये उन देशों पर बैन है, जो आतंक के गढ़ बने हुए हैं.

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है,‘उन देशों के लोग हमारे यहां आते हैं और मुश्किलें खड़ी करते हैं. हमारे देश में उन लोगों को आने की इजाजत देने से पहले ही काफी दिक्कते हैं. कई मामलों में ऐसे लोग घातक साबित हो सकते हैं ’

अमेरिकन अरब एंटी डिसक्रिमिनेशन कमेटी ने एक प्रेस रिलीज जारी करके कहा है कि डोनाल्ड ट्रंप ने एक सीरीज में कई एक्जिक्यूटिव आदेश जारी करके ये जता दिया है कि वो अरब और मुस्लिम शरणार्थियों के अधिकारों का हनन कर रहे हैं.

ट्रंप ने अभी तक ये साफ नहीं किया है कि वो किन देशों के नागरिकों पर बैन की बात कर रहे हैं लेकिन उन्होंने इतना जरूर कहा है कि उन्हें भरोसा है कि यूरोप ने इन लोगों को जर्मनी और दूसरे देशों में जाने की इजाजत देकर भारी भूल की है. इस पर ध्यान देने की जरूरत है, क्योंकि जो हो रहा है वो भयानक बर्बादी ला सकता है.

अमेरिका की मीडिया में छपे एक ड्राफ्ट ऑर्डर के मुताबिक युद्ध झेल रहे सीरिया के शरणार्थियों को अनश्चितकाल के लिए बैन किया गया है. यूएस के रिफ्यूजी एडमिशन प्रोग्राम को अगले 120 दिन के लिए निलंबित किया गया है. और ऐसे सभी देश जो युद्ध से घिरे हैं, जैसे इराक, सीरिया इरान ,सूडान, लीबिया सोमालिया और यमन से वीजा एप्लीकेशन अगले 30 दिन के लिए रद्द कर दिए गए हैं.

ट्रंप से जब पूछा गया कि उनकी इस कार्रवाई से मुस्लिम नाराज हो गए तो? उन्होंने जवाब दिया, 'नाराज ? अभी ही भारी नाराजगी है. अब इससे ज्यादा और क्या होगा? दुनिया गुस्से से भरी है. हम इराक गए. हमें नहीं जाना चाहिए था. हमने जैसा रास्ता अख्तियार किया वो नहीं करना चाहिए था. अब तो दुनियाभर में दिक्कतें पैदा हो गई हैं.'

ड्राफ्ट के मुताबिक ट्रंप चाहते हैं कि 2017 के दौरान शरणार्थियों की संख्या में कमी आए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi