S M L

'ट्रंप राष्ट्रपति पद से हटा दिए गए हैं' सुनकर चैन से ली आखिरी सांस

ओरेगॉन में रहने वाले माइकल गारलैंड इलियट ट्रंप के धुर विरोधी थे

FP Staff | Published On: Apr 20, 2017 07:54 AM IST | Updated On: Apr 20, 2017 08:13 AM IST

'ट्रंप राष्ट्रपति पद से हटा दिए गए हैं' सुनकर चैन से ली आखिरी सांस

अमेरिका में एक व्यक्ति ने यह खबर सुनने के बाद चैन से आखिरी सांस ली कि डोनाल्ड ट्रंप अब राष्ट्रपति नहीं रहे.

ओरेगॉन में रहने वाले 75 साल के माइकल गारलैंड इलियट का स्वास्थ्य बहुत खराब था. वह खबरें सुनने और देखने के बड़े शौकीन थे. वह ट्रंप के धुर-विरोधियों में थे और ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने से बेहद दुखी भी. कई वर्षों से उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा था और उनकी स्थिति बेहद खराब थी.

टाइम की खबर के अनुसार, इलियट को उनकी पूर्व पत्नी और बेस्ट फ्रेंड टेरेसा ने उनके आखिरी पलों में बताया कि ट्रंप अब राष्ट्रपति नहीं रहे और उन्हें महाभियोग के जरिए हटा दिया गया है. यह सुनने के बाद इलियट का निधन हो गया. दि ओरेगोनियन में छपे उनके शोक संदेश में लिखा गया कि 6 अप्रैल को तब उनकी शांतिपूर्वक मृत्यु हुई जब उनकी पूर्व पत्नी और सबसे करीबी दोस्त टेरेसा इलियॉट ने उन्हें बताया कि डोनाल्ड ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटा दिया गया है.

टेरेसा ने कहा कि उन्होंने यह झूठ इसलिए कहा क्योंकि मुझे पता था कि यह बिल्कुल अंतिम क्षण है और इससे उन्हें आराम मिल सकता है. ऐसा ही हुआ. यह झूठ सुनने के बाद उन्होंने आखिरी सांस ली.

जाहिर है, टेरेसा ने कोरा झूठ बोला क्योंकि ट्रंप अभी भी अमेरिका के राष्ट्रपति हैं. हालांकि उनके खिलाफ रूस से संबंधों को लेकर जांच चल रही है और कई लोग यह मांग कर रहे हैं कि उनपर महाभियोग चलाया जाए. महाभियोग वह प्रक्रिया है जिसके जरिए किसी राष्ट्रपति को पद से हटाया जा सकता है.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi