विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

ट्रंप ने की देश में प्रवेश करने वालों की कड़ी जांच की वकालत

ट्रंप ने संदिग्धों को गुआंतानामो बे भेजने की भी मांग की है

Bhasha Updated On: Nov 02, 2017 07:48 PM IST

0
ट्रंप ने की देश में प्रवेश करने वालों की कड़ी जांच की वकालत

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने न्यूयॉर्क में आईएसआईएस से प्रेरित एक उज्बेक द्वारा आठ लोगों की हत्या कर देने की घटना के बाद देश में आने वालों के लिए कड़ी ‘बैकग्राउंड जांच’ की बात कही है. इस मुद्दे पर कई सांसदों ने उनका समर्थन भी किया है.

बुधवार को हुए हमले में मुखर ट्रंप ने संदिग्धों को गुआंतानामो बे भेजने की भी मांग की. न्यूयॉर्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के पास 29 वर्षीय एक हमलावर ने ट्रक भीड़ पर चढ़ा दी थी. उज्बेक प्रवासी सैफुल्लो हबीबुल्लैविक सेईपोव को इस हमले के सिलसिले में गुरुवार को आरोपित किया गया.

ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘अमेरिका जल्द ही काफी कड़ी बैकग्राउंड जांच प्रक्रिया लागू करेगा. हमारे नागरिकों की सुरक्षा प्रथम है.’ व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने कहा कि कड़े पृष्ठभूमि परीक्षण के लिए कुछ खास घटकों में वृद्धि की जाएगी, जिनमें बायोमेट्रिक एवं बायोग्राफिकल डाटा के संग्रहण एवं समीक्षा, खुफिया सेवाओं में सुधार, दस्तावेज संबंधी जरूरतों में सुधार, सत्यापन और साझेदार देशों के साथ सूचना साझा करना आदि शामिल हैं.

कई सांसद समर्थन में

इसमें सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा सहित अन्य एजेंसियों के लिए जांच-परख और अन्य प्रक्रियाएं कड़ा करना भी शामिल है.

UNDATED :This undated photo provided by St. Charles County Department of Corrections via KMOV shows the Sayfullo Saipov. A man in a rented pickup truck mowed down pedestrians and cyclists along a busy bike path near the World Trade Center memorial on Tuesday, Oct. 31, 2017, killing several. Officials who were not authorized to discuss the investigation and spoke on the condition of anonymity identified the attacker Saipov.AP/PTI(AP11_1_2017_000006B)

इस मुद्दे पर कई सांसद ट्रंप के समर्थन में आ गए हैं. सांसद माइक रोजर्स ने कहा, ‘न्यूयॉर्क का हमला इस बात का सबूत है कि राष्ट्रपति जिन चीजों की तरफदारी कर रहे हैं, वह सही और आवश्यक है. हमारी बिल्कुल कड़ी पृष्ठभूमि परीक्षण व्यवस्था होनी चाहिए.’ सांसद स्कॉट डेस जारलाइस ने कहा कि यह बड़ी चौंकाने वाली बात है कि देश इस्लामिक आतंकवाद की अनदेखी करता जा रहा है.

हालांकि अमेरिकन सिविल लिबर्टीज यूनियन ने ट्रंप की आवेदकों की कड़ी पृष्ठभूमि परीक्षण योजना की निंदा की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi