विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

'बराक ओबामा ने नहीं कराई थी डोनाल्ड ट्रंप की जासूसी'

ट्रंप ने आरोप लगाया था कि ओबामा ने राष्ट्रपति चुनाव से पहले ट्रंप टावर की जासूसी थी.

Bhasha Updated On: Mar 21, 2017 09:26 AM IST

0
'बराक ओबामा ने नहीं कराई थी डोनाल्ड ट्रंप की जासूसी'

अमेरिका की शीर्ष ख़ुफ़िया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन (एफबीआई) और एनएसए ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को झटका देते हुए फोन टैपिंग मामले में ओबामा सरकार को क्लीन चिट दे दी है.

ट्रंप ने आरोप लगाया था कि ओबामा के आदेश पर न्यूयॉर्क में स्थित उनके ट्रंप टावर में फोन टैपिंग कराई गई थी. एफबीआई ने जांच के बाद इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है.

एफबीआई प्रमुख जेम्स कोमी और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के निदेशक एडमिरल माइकल रोजर्स ने कहा कि ट्रंप के इस दावे को लेकर किसी तरह के कोई सबूत नहीं मिले हैं. कोमे के मुताबिक ट्रंप ने फोन टैपिंग को लेकर जो आरोप लगाए हैं उनसे संबंधित कोई सबूत नहीं है. रोजर्स ने भी कोमे की इस बात का समर्थन किया और कहा कि ट्रंप के आरोप के पक्ष में कोई सबूत उपलब्ध नहीं है.

ट्रंप के आरोपों से जुड़े एक सवाल के जवाब में कोमी ने कहा कि जस्टिस डिपार्टमेंट ने भी आरोपों के समर्थन में सबूत ढूंढ़ने की कोशीश की, लेकिन कुछ नहीं मिल सका. दरअसल ट्रंप ने आरोप लगाया था कि ओबामा ने पिछले साल 8 नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले ट्रंप टावर की जासूसी कराई थी.

ट्रंप के इस आरोप के बाद अमेरिका में काफी हल्ला मचा और ओबामा के एक सहयोगी ने सामने आकर इन आरोपों का खंडन किया था. ट्रंप के आरोपों से ब्रिटेन के साथ राजनयिक विवाद की भी स्थिति हो गई जब ट्रंप और उनके सहयोगियों ने एक अमेरिकी टेलिविजन नेटवर्क के हवाले से दावा किया कि ओबामा ने ब्रिटिश इंटेलिजेंस एजेंसी को भी उनकी जासूसी के लिए कहा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi