विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के पक्ष में नहीं है चीन

चीनी विदेश मंत्रालय में मौजूद सूत्रों ने बताया कि चीन ने इस कदम को खारिज कर दिया क्योंकि आमराय नहीं है

FP Staff Updated On: Nov 02, 2017 10:23 PM IST

0
मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के पक्ष में नहीं है चीन

चीन ने आतंकी मौलाना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने से इंकार कर दिया है. पठानकोट हमले के सरगना को संयुक्त राष्ट्र की ओर से एक वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन की एक और कोशिश में अड़ंगा डाल दिया है.

यह लगातार दूसरा साल है जब चीन ने प्रस्ताव को बाधित किया है. पिछले साल चीन ने इसी कमेटी के समक्ष भारत की अर्जी रोकने के लिए यही काम किया था.

बीजिंग ने कहा है कि कोई आम राय नहीं बन पाने के चलते उसने इस कदम को खारिज किया है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वीटो शक्ति रखने वाले चीन ने जैश ए मोहम्मद प्रमुख को प्रतिबंधित करने के भारत के कदम को बार-बार बाधित किया है.

जैश पहले से ही संयुक्त राष्ट्र की सूची में प्रतिबंधित है. दरअसल, अजहर पर सुरक्षा परिषद की अलकायदा प्रतिबंध कमेटी के तहत प्रतिबंध लगाने की ये कोशिशें की जा रही हैं.

चीनी विदेश मंत्रालय में मौजूद सूत्रों ने बताया, ‘चीन ने इस कदम को खारिज कर दिया क्योंकि आम राय नहीं है.’

नियम के तहत रोक लगाई गई है 

इससे पहले, चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुया चुनयिंग ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, ‘हमने एक तकनीकी रोक लगाई ताकि कमेटी को और अधिक वक्त मिल सके और इसके सदस्य इस विषय पर चर्चा कर सकें. लेकिन इस विषय पर अब तक आम राय नहीं है.’

चीन की निरंतर तकनीकी रोक का बचाव करते हुए हुआ ने कहा, ‘हम कमेटी के आदेश और इसकी नियमावली का पालन करना जारी रखेंगे तथा कमेटी के सदस्यों के साथ लगातार संचार एवं समन्वय रखेंगे.’

पिछले साल मार्च में चीन 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद में एक मात्र ऐसा देश था जिसने भारत की अर्जी को बाधित किया था. वहीं, परिषद के 14 सदस्य देशों ने अजहर को प्रतिबंधित करने के भारत के कदम का समर्थन किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi