S M L

आईफोन 5एस और आईफोन एसई सस्ते होने वाले हैं, लें या ना लें?

देखने में तो यह सही ही लग रहा है लेकिन क्या यह तीन साल पुराने फोन को बेचने की बढ़िया चाल है

Sheldon Pinto Updated On: May 11, 2017 07:10 AM IST

0
आईफोन 5एस और आईफोन एसई सस्ते होने वाले हैं, लें या ना लें?

ऐपल जल्द ही अपने दो छोटे आईफोन मॉडलों के दाम घटाने जा रहा है. इकॉनमिक टाइम्स में छपी रिपोर्ट के अनुसार जो आईफोन 5एस अभी अमेजन इंडिया पर 18 हजार रुपए में मिल रहा है, उसकी कीमत घटाकर 15 हजार की जा रही है, जबकि इससे कहीं नए आईफोन एसई के दाम घटाकर 20 हजार किए जा रहे हैं. दोनों ही प्राइस एंट्री लेवल स्मार्टफोन सेंगमेंट में लोगों को आकर्षित कर सकते हैं.

हमेशा की तरह, ऐपल दाम घटाकर कोई महानता नहीं दिखा रहा है, बल्कि इस कदम के जरिए वह ऐसे नए ग्राहकों तक पहुंचना चाहता है, जो अब तक अपनी जेब को देखते हुए आईफोन खरीदने की हिम्मत नहीं कर पाए हैं.

Apple iPhone7

जैसा कि ईटी ने भी लिखा है, ऐपल बजट स्मार्टफोन के सेगमेंट में आगे बढ़ना चाहती है जहां अभी लेनेवो, आसुस और शाओमी जैसे ब्रांड्स का दबदबा है. 15 हजार रुपए में आईफोन 5एस सिर्फ ऑनलाइन खरीदा जा सकेगा और यह स्टोर्स में नहीं मिलेगा. वहीं आईफोन एसई ऑफलाइन सेल्स के लिए एंट्री लेवल सेगमेंट में उतारा जाएगा.

देखने में तो यह सही ही लगेगा. लेकिन क्या यह तीन साल पुराने फोन को बेचने की बढ़िया चाल है? और फोन भी ऐसा जो अब ऐपल की ही वेबसाइट पर मौजूद नहीं है. खास बात यह है कि यह फोन ऐसे लोगों के हाथ में जाएगा जो पहली बार आईओएस इस्तेमाल करेंगे? इससे भी अहम, 15 हजार रुपए की घटी हुई कीमत पर भी क्या एक आउटडेटेड फोन को खरीदना चाहिए?

क्या है समस्या

2014 में ऐपल ने अपना आईफोन4 पेश किया और घटाने के बाद इसका दाम था 23 हजार रुपए. यह आईओएस के एल हल्के वर्जन पर चलता था लेकिन फिर भी स्लो था. ऐपल की खूब आलोचना भी हुई कि वह चार साल पुराने आईफोन को भारत लेकर आई है और वह भी तब जब वह आईफोन6 को लॉन्च कर चुकी थी. फिर भी कई लोगों को यह मॉडल पसंद आया और उन्होंने इसे खरीदा. ऐपल ने फरवरी 2016 में भारत में इसे बंद कर दिया.

iphone5s

आईफोन 5एस

तो अब हमारे पास ऐपल आईफोन 5एस आ रहा है. एक ऐसा स्मार्टफोन जो 2013 के लिए बहुत जबरदस्त था, लेकिन अब इसमें कई कमियां नजर आती हैं. इसमें एपल ए7 चिपसेट (1.3GHz – डुअल कोर) और एम7 मोशन प्रोसेसर है. लेकिन रैम सिर्फ 1 जीबी है और किसी भी सूरत में आपको 16जीबी से ज्यादा की इंटरनल मेमोरी नहीं मिलेगी.

इसके अलावा इसमें 1,560एमएएच की बैटरी है. कुल मिलाकर जो फोन आपको मिलता है वह 2017 के हिसाब काफी आउटडेटेड है. एक और बात जिसकी आपको चिंता करनी चाहिए, आईओएस 9 के बाद आईओएस की रोम की खपत बढ़ गई है.

मौजूदा ग्राहक आईओएस 10.3.1 इंस्टॉल कर सकते हैं और यह आराम से चलेगा. डुअल कोर चिप सेट के कारण यह एक साल पुराने आईफोन 6एस जितना तेज नहीं चलेगा. मेरी राय में आईफोनव6 एस की रफ्तार 2017 के लिहाज से ठीक ठाक है. मेरी एक परेशानी यह है कि आईओएस 11 हर तरह से और हैवी होगा, आकार में नहीं बल्कि फीचर के लिहाज से, इसलिए आईओएस 11 के साथ यह और स्लो होगा. इसके अलावा इसमें थ्रीडी टच भी नहीं है.

अपनी बात करूं तो मैंने पिछले साल ऐपल आईफोन 6 प्लस की जगह आईफोन 6एस लिया क्योंकि मुझे लगा कि वह थोड़ा स्लो है. बहुत से ग्राहक शायद नहीं जानते हैं कि एक बार आईफोन 5एस खरीदने के बाद उन्हें कितनी जल्दी इसे बदलने जरूरत महसूस होगी क्योंकि जब तक वे आईफोन 6एस जैसा कोई हालिया मॉडल नहीं खरीदेंगे तब तक उन्हें पूरी तरह अहसास ही नहीं होगा कि आखिर आईओएस का एक्पीरियंस होता क्या है.

तो फिर कौन सा खरीदें?

iPhone-se

आईफोन एसई

जहां तक बात आईफोन 5एस की है तो उसे न खरीदने में ही भलाई है. कारण ऊपर गिनाए जा चुके हैं. अगर ऐपल आईफोन एसई को 20 हजार रुपये की कीमत में उतारता है तो यह एक अच्छी डील हो सकती है. आईफोन एसई एक सॉलिड स्मार्टफोन है और ईमानदारी से कहूं तो अगर आप पहली बार आईओएस खरीद रहे हैं और इसे आजमाना चाहते हैं तो यह आपके लिए बढ़िया मॉडल हो सकता है. इसमें आपको लेटेस्ट गेम मिलेंगे, यह लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम पर फर्राटे से चलता है. इसमें आपको लाइव फोटो का फीचर भी मिलता है जो आईफोन 6 में भी नहीं है.

हालांकि यह उन लोगों के लिए नहीं है जो एंड्रॉयड इस्तेमाल करते रहे हैं और उन्हें बहुत सारी बैटरी चाहिए क्योंकि इसकी 1,624 एमएएच की बैटरी ज्यादा नहीं चलती भले ही इसका 4 इंच वाला छोटा सा डिस्प्ले हो जिसका रेज्योल्यूशन 1136X640 पिक्सल है और यब आपको आईओएस के ईकोसिस्टम में लेकर जाता है.

एंड्रॉयड पर विकल्प

Redmi-Note-4

रेडमी नोट 4

15,000 रुपए की कीमत पर एंड्रॉयड में बेशुमार विकल्प मौजूद हैं. सबका पसंदीदा शाओमी रेडमी नोट 4 तो है ही, जो 9,999 रुपए से शुरू होता और 12,999 रुपए तक जाता है. यह कीमत 4जीबी/64 जीबी मॉडलों की है. इसमें 4,100 एमएएच की बैटरी और जांचा परखा स्नैपड्रैगन 625 चिपसेट है. आपको चार इंच डिस्प्ले वाले आईफोन में सिर खपाने की जरूरत नहीं है क्योंकि नोट4 में 5.5 इंच का डिस्प्ले है और वह भी फुल एचडी के साथ. इसके अलावा डुअल सिम और माइक्रो एसडी कार्ट एक्सपेंशन वाला फीचर भी है.

अन्य विकल्पों में लेनोवो पी2 है जिसकी बैटरी 5,100 एमएएच के साथ और भी बड़ी है. इसके अलावा अपना पुराना फेवेरिट एंड्रॉइड वाला मोटो जी5 प्लस भी किसी से कम नहीं है जो 16,999 रुपए में मिल जाता है.

ऐपल के चाहने वाले बोलेंगे कि मैं ऐपल यानी सेब की तुलना संतरों से कर रहा हूं, लेकिन स्मार्टफोन बाजार में प्रतियोगिता बहुत बढ़ गई है. इसलिए मेरा सिर्फ सुझाव है कि एंट्री लेवल में आईओएस की शुरुआत एसई के साथ होनी चाहिए जिसका 16 जीबी वर्जन आपको अमेजन ऑनलाइन पर 20,985 रुपए का और 64 जीबी वर्जन 27,734 रुपए का मिल रहा है. उम्मीद है कि एक बार ऑफलाइन कीमतें कम होंगी तो ऑनलाइन दाम भी नीचे आएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi