S M L

विंबलडन 2017 : सेरेना, शारापोवा की गैरमौजूदगी में मिलेगी नई महिला चैंपियन

विश्व नंबर एक कर्बर, ओस्तापेंको और कई खिलाड़ियों के लिए खुली है खिताबी राह

Bhasha | Published On: Jul 02, 2017 04:54 PM IST | Updated On: Jul 02, 2017 04:54 PM IST

0
विंबलडन 2017 : सेरेना, शारापोवा की गैरमौजूदगी में मिलेगी नई महिला चैंपियन

सेरेना विलियम्स बच्चे के जन्म की तैयारियों में जुटी हैं. मारिया शारापोवा जांघ की चोट की वजह से बाहर हैं. सोमवार से शुरू होने वाले विम्बलडन टूर्नामेंट में ये दोनों खिलाड़ी नहीं खेल पाएंगी. इससे सभी खिलाड़ियों के पास इस ग्रैंड स्लैम में ट्रॉफी हथियाने का बराबरी का मौका होगा.

वर्ष 2015 और 2016 में खिताब जीतने वाली सेरेना सितंबर में मां बनेंगी. उनके कोर्ट से दूर रहने से शीर्ष स्तर पर एक खालीपन आ गया और उम्मीद थी कि डोपिंग प्रतिबंध से वापसी करने के बाद रूसी स्टार शारापोवा इसे भरने में सफल रहेंगी. लेकिन मांसपेशियों में चोट की वजह से उन्हें महज तीन टूर्नामेंट खेलने के बाद विंबलडन क्वालिफाइंग टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा.

सेरेना 23 ग्रैंड स्लैम खिताब अपने नाम कर चुकी हैं. उनकी और शारापोवा की अनुपस्थिति में महिला टेनिस में स्टार खिलाड़ियों की कमी दिखती है. इससे विंबलडन में किसी भी खिलाड़ी को प्रबल दावेदार नहीं कहा जा सकता. लेकिन इससे अन्य खिलाड़ियों को सुर्खियों में आने का मौका मिला. जैसे लातविया की येलेना ओस्तापेंको ने फ्रेंच ओपन में सभी को चौंकाते हुए खिताब जीता था.

दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी एंजलीक कर्बर ने कहा, ‘निश्चित रूप से अगर सेरेना नहीं खेल रही तो यह थोड़ा अलग ही होगा. इन दो हफ्तों में कुछ भी संभव है. अभी काफी अच्छी खिलाड़ी आ रही हैं. वे बड़े टूर्नामेंट जीत सकती हैं.’ बीस साल की ओस्तापेंको रोलां गैरो के फाइनल में सिमोना हालेप को हराकर खिताब जीता जिससे वह विश्व रैंकिंग में 47वें स्थान से उछलकर 13वें स्थान पर पहुंच गईं. लेकिन अब उन्हें साबित करना होगा कि यह सिर्फ संयोग से ही नहीं हुआ.

वर्ष 2014 में जूनियर विंबलडन चैंपियन बनी ओस्तापेंको का खेल ऑल इंग्लैंड क्लब के कम उछाल भरे कोर्ट के मिजाज से मेल खाता है, जिससे वह इस सतह पर खेल का पूरा लुत्फ उठाती हैं. वह पहले दौर में आलियाकसांद्रा सासनोविच से भिड़ेंगी. वहीं हालेप अपने पहले ग्रैंड स्लैम खिताब से चूकने के बाद से उबर नहीं सकी हैं. वह 2014 फ्रेंच ओपन के फाइनल में भी हार गई थीं.

Latvia's Jelena Ostapenko celebrates winning against Romania's Simona Halep during their final tennis match at the Roland Garros 2017 French Open on June 10, 2017 in Paris.  / AFP PHOTO / GABRIEL BOUYS

25 वर्षीय रोमानियाई खिलाड़ी विंबलडन में सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ सकी हैं. वह अपने अभियान की शुरुआत मारिना इराकोविच के खिलाफ करेंगी. वहीं पहले दौर में इरिना फालकोनी से भिड़ने वाली कर्बर को अगर खिताब की संभावनाएं बरकरार रखनी हैं तो उन्हें अपने खेल में काफी सुधार करना होगा. 12 महीने पहले उन्हें विंबलडन के फाइनल में सेरेना से हार मिली थी. लेकिन पिछले साल उन्होंने ऑस्ट्रेलियन और यूएस ओपन में ट्रॉफी अपने नाम की. पर उन्होंने 2017 में अभी तक एक भी डब्ल्यूटीए खिताब नही जीता है.

वर्ष 2011 और 2014 की विंबलडन चैंपियन पेत्रा क्वितोवा पहले दौर में वीनस रोजवाटर डिश से भिड़ेंगी. दिसंबर में एक चोर ने उनके घर में घुसकर उन पर हमला किया था जिसमें उनके हाथ में चोट लगी थी. इससे वह छह महीने तक टेनिस से बाहर रहीं. अगर वह वापसी कर लेती हैं तो यह शानदार होगा.

पांच बार की विंबलडन विजेता वीनस विलियम्स (37 वर्षीय) भी दावेदारों में शामिल होंगी, वहीं दुनिया की पूर्व नंबर एक विक्टोरिया अजारेंका ने मां बनने के बाद एक साल के ब्रेक के बाद वापसी की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi