S M L

मीडिया को साथ लेकर यह कैसा सरप्राइज निरीक्षण करने पहुंचे खेल मंत्री राठौड़?

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में फीफा अंडर 17 वर्ल्डकप की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Sep 06, 2017 10:51 PM IST

0
मीडिया को साथ लेकर यह कैसा सरप्राइज निरीक्षण करने पहुंचे खेल मंत्री राठौड़?

सोमवार को नए खेल मंत्री के तौर कुर्सी संभालने के दो दिन बाद ही खेल मंत्री और पूर्व ओलिंपिक मेडलिस्ट राज्यवर्धन सिंह राठौड़ एक्शन में दिखे. राठौड़ ने बुधवार को दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम को दौरा किया. आने वाले दिनों में होने वाले फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप  की तैयारियों का जायजा भी लिया.

साल 2004 में आयोजित ओलिंपिक खेलों में 'डबल ट्रैप' निशानेबाजी में रजत पदक जीतने वाले राठौर ने स्टेडियम के रखरखाव का संचालन करने वाले भारतीय खेल प्राधिकरण के अधिकारियों से टूर्नामेंट के दौरान स्टेडियम में सर्वश्रेष्ठ सुविधाओं की उपलब्धिता को सुनिश्चित करने का आग्रह किया.

दौरे के बाद खेल मंत्री के ट्विटर हैंडल से इस निरीक्षण की कुछ तस्वीरें पोस्ट की गईं और इसे एक सरप्राइज विजिट यानी औचक दौरा कहा गया.

Surprise inspection of SAI @ JLN stadium. Known faces,offices. Good not good enough when best needed. Athletes first philosophy must prevail pic.twitter.com/iM6RcQush7

इन तस्वीरों में खेल मंत्री राठौड़ स्टेडियम के अधिकारियों के साथ तैयारियों पर गुफ्तगू करते दिखाई दे रहे हैं. साथ में खेल सचिव और भारतीय खेल प्राधिकरण यानी साई के महानिदेशक इंजेती श्रीनिवास भी है. लेकिन जो एक बात इन तस्वीरों में और दिखाई दे रही है, वह इस औचक दौरे यानी सरप्राइज विजिट की बात से मेल नहीं खा रही है.

दरअसल, इन चार तस्वीरों में से एक तस्वीर में खेल मंत्री राठौड़ से साथ एक न्यूज चैनल के राजनीति बीट कवर करने वाले रिपोर्टर भी दिखाई दे रहे हैं. ऐसे में सवाल यह है कि क्या राठौड़ मीडिया को या यूं कहें कि चुनिंदा मीडिया को बता कर यह सरप्राइज विजिट करने गए थे? और अगर वाकई में ऐसा है तो फिर खेल मंत्री के इस औचक निरीक्षण को महज पब्लिसिटी स्टंट ही समझा जा सकता है.

rathore with media

आपको पता दें कि राठौड़ के पूर्ववर्ती खेल मंत्री यानी विजय गोयल भी इससे पहले कई जगहों पर मीडिया को साथ लेकर औचक निरीक्षण पर जाते थे. साथ ही सोशल मीडिया पर भी उनके इन दौरों का खूब प्रचार होता था. हालांकि मंत्रिपरिषद के फेरबदल में उनकी कुर्सी नहीं बच पाई. उनके बाद मंत्री बने राज्यवर्धन सिंह राठौड़ पहले ऐसे खेल मंत्री हैं जो ओलिंपिक मेडलिस्ट भी रहे हैं. खेल मंत्री के पद पर उनके मौजूदगी को खेल जगत में बेहद खुशी और आशा के साथ देखा जा रहा है. ऐसे में अब देखना होगा कि क्या राठौड़, विजय गोयल की बनाई हुई लीक पर ही चलते हैं या फिर खेल मंत्रालय को नए मुकाम पर लेके जाते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi