S M L

5 अगस्त को रिंग में फिर दिखेगा विजेंदर सिंह का जलवा!

जुल्पीकार माइमाइतालि के खिलाफ पांच अगस्त को अगला पेशेवर मुकाबला खेलेंगे

FP Staff | Published On: Jun 28, 2017 10:47 AM IST | Updated On: Jun 28, 2017 10:47 AM IST

0
5 अगस्त को रिंग में फिर दिखेगा विजेंदर सिंह का जलवा!

भारत के स्टार पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट चैंपियन जुल्पीकार माइमाइतालि के खिलाफ पांच अगस्त को अपना अगला पेशेवर मुकाबला खेलेंगे.

इस मुकाबले को 'बैटलग्राउंड एशिया' का नाम दिया गया है. डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट चैंपियन विजेंदर और डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मीडिलवेट चैंपियन जुल्पीकार के मौजूदा खिताब दांव पर होंगे.

इस मुकाबले में जो खिलाड़ी जीतेगा वह अपने खिताब की रक्षा करेगा साथ ही अपने विपक्षी के खिताब को भी अपने साथ ले जाएगा. वर्तमान में विजेंदर डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट के मौजूदा विजेता हैं, वहीं जुल्पीकार के पास डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट चैंपियनशिप का खिताब है.

वहीं बीजिंग ओलिंपिक के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाले अखिल कुमार और जितेंद्र कुमार भी इस दौरान पेशेवर मुक्केबाजी में पदार्पण करेंगे. अखिल कुमार चार राउंड के अंडरकार्ट मुकाबले में उतरेंगे.

इनके अलावा इसमें एशिया के वेल्टरवेट चैंपियन नीरज गोयाट भी रिंग में उतरेंगे. नीरज ने 2011 में चीन के गोए वेन डोंग के खिलाफ पेशेवर मुक्केबाजी में कदम रखा था. उन्होंने अभी तक 12 मुकाबले खेले हैं और उनके पास 71 राउंड का अनुभव है. उनके हिस्से आठ जीत हैं, जिनमें से दो जीत उन्होंने नॉक आउट के जरिए हासिल की हैं.

विजेंदर के विपक्षी चीनी खिलाड़ी ने अभी तक आठ पेशेवर मुकाबले खेले हैं. उन्होंने 24 राउंड खेले हैं। इसमें से उन्होंने सात जीत हासिल की हैं, जिसमें से पांच नॉकआउट मैच रहे हैं. उनका एक मैच ड्रॉ रहा है.

विजेंदर ने हाल ही में अपना डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट का खिताब बचाया था. उनके हिस्से आठ जीत हैं जिसमें से सात नॉकआउट हैं. एक मैच में वह सर्वसम्मति से विजेता चुने गए थे. उन्होंने अभी तक 30 राउंड खेले हैं.

विजेंदर ने पिछले साल जुलाई में ऑस्ट्रेलिया के कैरी होप को मात देते हुए अपना पहला पेशेवर खिताब जीता था और फिर दिसंबर में तंजानिया के फ्रांसिस चेका के खिलाफ अपना खिताब बचाया था. विजेंदर इस समय ब्रिटेन में अपने ट्रेनर ली बीयर्ड की निगरानी में अभ्यास कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘यह बेहद रोचक मुकाबला होगा, सिर्फ इसलिए नहीं कि इसमें मेरा खिताब दांव पर होगा बल्कि मैं इसी मुकाबले में दूसरे खिताब के लिए भी लड़ूंगा. मैं मुक्केबाजी को लेकर बहुत जुनूनी हूं. मेरा लक्ष्य कुछ तय खिताब जीतना है, जिसे मैं हर हाल में पूरा करूंगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi