S M L

प्रो कबड्डी लीग 2017: पुणेरी पलटन को है पहली खिताबी जीत का इंतजार

पुणेरी पलटन का पहला मुकाबला 28 जुलाई को यू मुम्बा के साथ हैदराबाद में हैं

Riya Kasana Riya Kasana Updated On: Jul 22, 2017 07:48 PM IST

0
प्रो कबड्डी लीग 2017: पुणेरी पलटन को है पहली खिताबी जीत का इंतजार

प्रो कबड्डी लीग का पुणेरी पलटन एक अहम हिस्सा है और पिछले 2 सीजन में टीम टॉप 4 में रही है. इस साल टीम में बहुत सारे बदलाव हुए है और सिर्फ दीपक हुड्डा ही एकमात्र खिलाडी हैं जिसे टीम ने अनुभवी और युवाओं का मिश्रण इस नई टीम में है.

टीम में बदलाव

टीम ने सिर्फ रेडर दीपक हुड्डा को रिटेन किया है.

पिछले दो सीजन में पटना पाइरेट्स के कप्तान के रूप में नजर आए धर्मराज चेरालाथन को पुनेरी पल्टन ने 46 लाख रुपए में खरीदा. वह पिछले साल विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के डिफेंडर और भारत की राष्ट्रीय कबड्डी टीम का प्रमुख हिस्सा रहे हैं. संदीप नरवाल को पुणेरी पलटन ने 66 लाख में खरीदा. टीम ने विदेशी खिलाड़ियों में बांग्लादेश के जियाउर रहमान को 16.6 लाख रुपए और जापान के ताकामित्सु कोनो को आठ लाख रुपये में खरीदा है.

टीम का सफर

सीजन एक और सीजन दो में टीम आखिरी स्थान पर रही थी. इसके बाद तीसरे सीजन में टीम ने शानदार प्रर्दशन करते हुए प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई किया लेकिन वह पटना पाइरेट्स से हार गई. लेकिन बंगाल वॉरियर्स को हराकर उसने तीसरा स्थान हासिल किया. चौथे सीजन में भी टीम ने प्लेऑफ के लिए क्वालिफाइ किया लेकिन कोई भी मैच जीतने में नाकाम रही. और टीम ने चौथा स्थान हासिल किया.

टीम की ताकत

टीम के पास कोच के तौर पर अर्जुन अवॉर्ड विजेता और नेशनल टीम के कप्तान रहे बी.सी रमेश हैं. कर्नाटक और प्रो कबड्डी में बंगाल वॉरियर्स के कोच रह चुके रमेश अर्जेंटीना के भी विश्वकप के लिए कोच रहे है. अब उनके हाथों में पुणेरी पलटन की कमान है.

फर्स्टपोस्ट से खास बातचीत में टीम के कोच रमेश ने बताया पुणे की टीम इस बार संतुलित हैं. टीम के पास 3 ऑलराउंडर हैं. रेडिंग और डिफेंस दोनों में ही टीम मजबूत है. टीम के कप्तान दीपक हुड्डा सीजन 3 से टीम के साथ जुड़े हुए हैं. रेडिंग के मामले में वह टीम को और मजबूती देते हैं. टीम के पास धर्मराज चेरालाथन के तौर पर अनुभवी खिलाड़ी हैं. धर्मराज पिछले साल की विजेता पटना पाइरेट्स के कप्तान थे. पिछले सीजन में 8 सुपर टेकल पूरा करने वाले धर्मराज टीम के डिफेंड की कमान संभालेगें. इसके अलावा दोनों विदेशी खिलाड़ी जियाउर रहमान और जापान के ताकामित्सु कोनो भी सामने वाली टीम के लिए सरप्राइज पैकेज हो सकते हैं. अनुभवी और युवाओं का मिश्रण इस नए टीम में है.

कोच रमेश ने फर्स्ट पोस्ट को बताया की टीम हर टीम के लिए अलग रणनीति पर काम करेगी. उनके मुताबिक गुजरात और मुंबई की टीमें इस सीजन की मजबूत टीमें में से हैं.

टीम का सफर

सीजन एक और सीजन दो में टीम आखिरी स्थान पर रही थी. इसके बाद तीसरे सीजन में टीम ने शानदार प्रर्दशन करते हुए प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई किया लेकिन वह पटना पाइरेट्स से हार गई. लेकिन बंगाल वारिर्यस को हराकर उसने तीसरा स्थान हासिल किया. चौथे सीजन में भी टीम ने प्लेऑफ के लिए क्वालिफाइ किया लेकिन कोई भी मैच जीतने में नाकाम रही. और टीम ने चौथा स्थान हासिल किया.

टीम

रेडर - दीपक निवास हुड्डा (रीटेन किए गए खिलाड़ी), अक्षय जाधव, जीबी मोरे, राजेश मोंडाल, रोहित कुमार चौधरी, सुरेश कुमार, उमेश मात्रे डिफेंडर - धर्मराज चेरालाथन, गिरीश मारुति एर्नाक, मोहम्मद जियाउर रहमान ऑलराउंडर- अजय, नरेंद्र हुड्डा, रवि कुमार, संदीप नरवाल, ताकामित्सु कोनो

कोच रमेश ने बातचीत में बताया कि कबड्डी का स्तर और पहचान दोनों प्रो कबड्डी के आने के बाद से बढ़ा है. पहले मैच देखने जहां 2 से 3 हजार लोग आते वहीं लीग में 8से 9 हजार लोग आते हैं. खिलाड़ियों को अब घर-घर में पहचान मिल रही है. छोटे स्तर पर जैसे स्कूल कॉलेज में भी इस खेल  को लोकप्रिय बनाया है.

मैच ( श्री छत्रपति शिवाजी स्पोर्टस कॉप्लेक्स)

तारीख मैच
13 अक्टूबर 2017 पंजाब बनाम गुजरात

कोलकाता बनाम चेन्नई

14 अक्टूबर 2017 पुणे बनाम मुंबई
15 अक्टूबर 2017 बंगलुरू बनाम उत्तर प्रदेश

पुणे बनाम दिल्ली

17 अक्टूबर 2017 पुणे बनाम हरियाणा
18 अक्टूबर 2017 पटना बनाम बंगलुरू

पुणे बनाम जयपुर

20 अक्टूबर 2017 हैदराबाद बनाम कोलकाता

पंजाब बनाम गुजरात

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi