S M L

Pro kabaddi league 2017: दूसरे दिन तेलुगु टाइटंस को दूसरी जीत की दरकार, पटना से भिड़ेगी

दूसरे मैच में जयपुर पहले मैच में दिल्ली से भिड़ेगी, दोनों चाहेगी पहली जीत

FP Staff Updated On: Jul 29, 2017 02:59 PM IST

0
Pro kabaddi league 2017:  दूसरे दिन तेलुगु टाइटंस को दूसरी जीत की दरकार, पटना से भिड़ेगी

जयपुर पिंक पैंथर्स बनाम दिल्ली दबंग

पिंक पैंथर्स प्रो कबड्डी की सबसे मजबूत टीमों में से एक हैं. इस टीम ने पहला सीजन जीता था. हालांकि इसके बाद सीजन 2 और सीजन 3 में यह टीम खास प्रदर्शन नहीं कर सकी. दूसरे सीजन में जयपुर की टीम पांचवें स्थान पर रही थी. इसके बाद हुए सीजन 3 में टीम का प्रदर्शन और खराब रहा और वह छठे नंबर पर रही. इसके बाद टीम के प्रदर्शन में सुधार हुआ. चौथे सीजन में उनके प्रदर्शन में सुझार हुआ. टीम ने प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई किया. इसके बाद फाइनल में उसे पटना पायरेट्स से हार का सामना करना पड़ा. टीम का सफल टेकल रेट 32% है. टीमों में बड़े बदलाव के बाद पुराने रिकॉर्डों से कुछ खास फर्क नहीं पड़ेगा. टीम के पास जसवीर सिंह के नाम पर एक बेहतरीन रेडर हैं जो पहले सीजन से टीम के साथ हैं. मंजीत चिल्लर टीम में ऑलराउंडर के तौर पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाते नजर आएंगे. विदेशी खिलाड़ी के तौर पर कोरिया के लिए डोंग ग्यू किम जुड़े हैं. जो बाकी टीमें के लिए सरप्राइज फैक्टर साबित हो सकते हैं.

वहीं दिल्ली इस बार बदले हुए अंदाज में दिखेगी.दिल्ली की टीम इस बार नए चेहरो और युवा जोश के साथ प्रो कबड्डी सीजन 5 में उतरेगी. ईरान के मेराज शेख के हाथों में टीम की कमान होगी. टीम के पास राजेश हिमदीगिरी को तौर पर बेहतरीन कोच हैं. उन्होंने इस बार टीम को नई रणनीति के तहत तैयार किया है. दिल्ली की टीम ने ऑलराउंडर मेराज शेख को रिटेन किया है. साथ ही उन्हें टीम को कप्तान भी बनाया गया है. रोहित बारियाल को दिल्ली ने 32 लाख रुपए में अपने साथ जोड़ा. इसके अलावा पटना पाइरेट्स के ही डिफेंडर रहे खिलाड़ी बाजीराव होगडे को दबंग दिल्ली ने 44.50 लाख रुपए में खरीद कर टीम में जोड़ा है. दबंग दिल्ली ने सबसे बड़ी बोली लगाकर सूरज देसाई को 52.5 लाख रुपए में अपनी टीम में शामिल किया है.

पटना पायरेट्स बनाम तेलुगु टाइटंस

टीम पहले ही सीजन से शानदार प्रदर्शन करती नजर आई है. यह उन टीमों में से है जो शुरुआत से ही टॉप 5 में रही है. पहले सीजन में उसने प्लेऑफ के लिए क्वालिफाइ में किया था. 14 मैचों में 7 मैच जीतकर वह तीसरे स्थान पर रही.  इसके बाद दूसरे सीजन में टीम के प्रदर्शन में थोड़ी गिरावट आई और इस सीजन में टीम चौथे स्थान पर रही. लेकिन इसके बाद टीम ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए तीसरे और चौथे सीजन में लगातार जीत दर्ज की. और इस बार उसका इरादा हैट्रिक लगाने पर होगा. टीम की सबसे बड़ी ताकत है उनके रेडर और कप्तान प्रदीप नवल. प्रदीप तीसरे सीजन से टीम से जुड़े थे. पिछले सीजन में 116 रेड प्वाइंट थे डो सीजन में सबसे ज्यादा थे. इसी कारण उन्होंने ‘मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर’ का खिताब जीता था. मोनू गौयत अपनी फ्लेक्सीबिलीटी के लिए प्रसिद्ध हैं और रेडिंग में यह टीम की ताकत होगी. 31 साल के विशाल माने पटना का डिफेंस संभालते नजर आएंगे. राइट कवर पर सुरक्षा के आलवा उनका अनुभव भी टीम के लिए फायदेमंद होगं. लेफ्ट कवर पर उनका साथ देते नजर आएंगे सचिन शिंगाडे जो अपने गजब के ब्लॉक के लिए जाने जाते हैं.

टीम के रेडर राहुल चौधरी उसकी सबसे बड़ी ताकत है. दो बार वह टीम को खिताब के पास तक ले जा चुके हैं लेकिन टीम के कमजोर डिफेंस की वजह से वह ऐसा करने में नाकाम रहे. टीम के साथ फिर से जुड़े नीलेश सालुनके ने अपने खेल से पहले प्रभावित किया है.

इस बार भी टीम को उनसे उम्मीद होगी. 3 महीने तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में राकेश कुमार टीम में अनुभव की कमी को पूरा करते दिखेंगे. विदेशी खिलाड़ी के तौर पर टीम के साथ इरान के फरहाद रहीमी से भी टीम अच्छा प्रदर्शन चाहेगी.

23 साल के विनोद के तौर पर टीम के पास युवा चेहरा है जिसके दम पर टीम का डिफेंस होगा. उनका साथ देने के लिए टीम ने अमित चिल्लर को जोड़ा है जिनका काम बैकलाइन की सुलक्षा होगा जो हमेशा से टीम की कमजोरी रही है. तेलुगु टाइटंस जहां अपनी दूसरी जीत के लिए मैदान पर उतरेगी तो वहीं पटना विजयी शुरुआत चाहेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi