S M L

आईटीटीएफ चैलेंज चिली ओपन : सौम्यजीत का दोहरा खिताब

सौम्यजीत और अमलराज जोड़ी ने पुरुष डबल्स का खिताब भी अपने नाम किया

IANS | Published On: May 01, 2017 08:31 PM IST | Updated On: May 01, 2017 08:31 PM IST

आईटीटीएफ चैलेंज चिली ओपन : सौम्यजीत का दोहरा खिताब

भारत के शीर्ष पुरुष टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत घोष ने आईटीटीएफ चैलेंज चिली ओपन के एकल वर्ग का फाइनल जीता. हमवतन एंथनी अमलराज को मात देते हुए खिताब पर कब्जा जमाया. वहीं सौम्यजीत ने अमलराज के साथ ही जोड़ी बनाकर पुरुष युगल का खिताब भी अपने नाम किया.

सौम्यजीत ने रविवार को अमलराज को 4-2 (8-11, 13-11, 11-6, 11-9, 4-11, 11-7) से मात दी. वह आईटीटीएफ चैलेंज सीरीज और आईटीटीएफ वर्ल्ड टूर टूर्नामेंट जीतने वाले तीसरे भारतीय बन गए हैं. वहीं अमलराज फाइनल में पहुंचने वाले चौथे भारतीय बने.

सोमवार को ही हुए युगल वर्ग के फाइनल मुकाबले में सौम्यजीत ने अमलराज के साथ बुल्गारिया के फिलिप फ्लोरिट्ज और रोमानिया के हुनोर जोक्स की जोड़ी को 3-1 (13-11, 10-12, 14-12, 11-9) से मात दी.

एकल वर्ग फाइनल में अमलराज ने अच्छी शुरुआत की और पहला गेम जीत लिया लेकिन, दूसरे गेम में करीबी मुकाबले में हार गए. तीसरे गेम में भी अमलराज को हार मिली.

चौथे गेम में 8-9 से पीछे चल रहे अमलराज ने टाइम आउट लिया और इसके बाद एक अंक हासिल करते हुए बराबरी कर ली, लेकिन गेम उनके हाथ से निकल गया. पांचवें गेम में अमलराज ने वापसी की और गेम अपने नाम किया, लेकिन छठे गेम में सौम्यजीत ने जीत हासिल करते हुए खिताब अपने नाम किया.

खिताब जीतने के बाद जारी बयान में सौम्यजीत ने कहा, ‘मुझे छठे गेम की शुरुआत आक्रामक करनी पड़ी क्योंकि मैं अपने पहले बड़े अंतरराष्ट्रीय खिताब के बारे में सोच रहा था. अमलराज के खिलाफ जीत हासिल करना मुश्किल था.’

उन्होंने कहा, ‘मैं यह टूर्नामेंट जीतने वाला तीसरा भारतीय खिलाड़ी हूं. मैं इसे लेकर बेहद खुश हूं, लेकिन शीर्ष वरीय होने के नाते मैं शुरू से ही दबाव महसूस कर रहा था.’

हारने के बाद अमलराज ने कहा, ‘मेरे लिए यह पहला फाइनल और पहला स्वर्ण था. 10 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में यहां अभी तक चीन, जापान और जर्मनी ही रहते थे, लेकिन अब भारत ने यह खिताब जीता है. भारत में टेबल टेनिस के भविष्य के लिए यह महत्वपूर्ण है.’

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi