S M L

टोक्यो ओलिंपिक 2020 : कुश्ती को झटका, 56 पहलवानों की भागीदारी होगी कम

भारत की उम्मीदों पर पड़ सकता है असर, अब तक कुश्ती से ओलिंपिक में आए हैं पांच मेडल.

FP Staff | Published On: Jun 13, 2017 03:34 PM IST | Updated On: Jun 13, 2017 05:39 PM IST

टोक्यो ओलिंपिक 2020 : कुश्ती को झटका, 56 पहलवानों की भागीदारी होगी कम

कुश्ती भले ही जापान का पुराना खेल हो और जापान को सूमो पहलवान दुनियाभर में मशहूर हो, लेकिन तीन साल बाद जापान की राजधानी टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक खेलो में पहले कि तुलना में कम पहलवान भागीदारी करेंगे. इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी यानी आईओसी ने 2020 में टोक्यो ओलंपिक खेलों में होने वाले इंवेंट्स का ऐलान कर दिया है. और इसमें कुश्ती को तगड़ा झटका लगा है.

आईओसी के इस ऐलान के बाद अब टोक्यो ओलिंपिक में कुश्ती में 18 कैटेगरी होगी. जिनमें से छह पुरुषों की फ्रीस्टाइल, छह महिलाओं की फ्री स्टाइल और छह ग्रीको-रोमन के इवेंट होगे. हर कैटेगरी में 16 पहलवानों की भागीदारी होगी. इस हिसाब से टोक्यो ओलिंपिक में कुल 288 पहलवान भाग ले सकेंगे. वहीं इसकी तुलना में 2016 में रियो में हुए ओलिंपिक खेलो में 344 पहलवानों ने भागीदारी की थी.

आईओसी के इस फैसले  से भारत की उम्मीदों को भी झटका लग सकता है. ओलिंपिक में कुश्ती एक ऐसा इवेंट है जिसमें भारत ने अब तक कुल पांच मेडल हासिल किए हैं, जो हॉकी के बाद सबसे ज्यादा है. पिछले तीन ओलिंपिक खेलों से भारत के पहलवान हर बार कुश्ती में मेडल हासिल कर रहे हैं. और इस लिहाज से टोक्यो में भी भारत को मेडल्स की उम्मीदें हैं.

आईओसी टोक्यो ओलिंपिक में दो नए इवेंट्स को भी शामिल किया है जिनमें ‘3 ऑन 3 बास्केटबॉल‘ और ‘फ्रीस्टाइल साइकलिंग’ शामिल है. इन खेलों को शामिल किए जाने के एवज में ही कुश्ती में 56 भागीदारों की कटौती की गई है. कुश्ती साल 1896 से ओलिंपिक खेलों का हिस्सा रही है ऐसे में इस इवेंट में भागीदारों की संख्या को कम करना इस खेल पर नकारात्म प्रभाव ही डालेगा.

2020 टोक्यो ओलिंपिक में कुल 10,626 एथलीट्स के भाग लेने की उम्मीद है. रियो ओलंपिक 2016 में कुल 10,500 एथलीट्स ने हिस्सा लिया था.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi