S M L

आखिरकार सरकार को याद आए पहले ओलिंपिक मेडलिस्ट केडी जाधव, पद्म श्री के लिए भेजा प्रस्ताव

सुशील ने चौथी बार पेश की पद्म भूषण की दावेदारी, बीसीसीआई ने नहीं भेजा अभी तक कोई नाम, 15 सितंबर है नाम भेजने की आखिरी तारीख

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Sep 11, 2017 06:50 PM IST

0
आखिरकार सरकार को याद आए पहले ओलिंपिक मेडलिस्ट केडी जाधव, पद्म श्री के लिए भेजा प्रस्ताव

देश को ओलिंपिक मेडल दिलाने वाले एथलीट्स को अब भले ही हाथों-हाथ लिया जाता हो लेकिन  सबसे पहला व्यक्तिगत ओलिंपिक मेडल हासिल करने वाले पहलवान केडी जाधव को अबतक पद्म अवॉर्ड से भी नहीं नवाजा गया है. उनको पद्म अवॉर्ड और उनकी एकेडमी के लिए पैसों मांग को लेकर बीते दिनों उनके परिवार ने देश के पहले ओलिंपिक मेडल को नीलाम करने की भी बात कही थी.

देश के पहले ओलिंपिक मेडल की नीलामी की बात के बाद अब सरकार ने केडी जाधव की सुध ली है.  केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय  की ओर से उनके लिए पद्म श्री की सिफारिश की है. यह सिफारिश अब खेल मंत्रालय के जरिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय भेजी जाएगी जो इस पर अंतिम फैसला करेगा.

आपको बता दें कि केडी जाधव ने साल 1952 के हेलसिंकी ओलिंपिक में रेसलिंग में ब्रांज मेडल हासिल किया था. आजादी के बाद किसी भी व्यक्तिगत स्पर्धा में यह भारत का पहला मेडल था. केडी जाधव को जीते जी कभी कोई सम्मान नहीं मिल सका था. उनकी मौत के 16 साल बाद साल 2000 में उन्हें मरणोपरांत अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.

sushilkumarwwe

 

केडी जाधव के अलावा इस बार पद्म अवॉर्डस की दौड़ में भारत को दो बार ओलिंपिक मेडल दिला चुके रेसलर सुशील कुमार भी शामिल हैं. सुशील ने लगातार चौथी बार देश के तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान यानी पद्म भूषण के लिए के लिए आवेदन किया है. इससे पहले तीन बार खेल मंत्रालय द्वारा उनके नाम की सिफारिश भेजे जाने के बावजूद उसे गृह मंत्रालय द्वारा मंजूर नहीं किया गया था. सुशील के अलावा बिलियर्ड स्नूकर चैंपियन पंकज आडवाणी ने भी पद्म भूषण के लिए दावेदारी पेश की है.

बीसीसीआई ने अभी तक नहीं भेजा कोई नाम

खेल मंत्रालय के पास कई खिलाड़ियों ने पद्म अवार्ड्स के लिए आवेदन भेजा है. लेकिन सबसे ज्यादा आश्चर्यजन बात यह है कि बीसीसीआई की ओर से किसी भी क्रिकेट के नाम की सिफारिश अबतक नही भेजी गई है. हालांकि नाम भेजने की अंतिम तारीख 15 सितंबर है. इससे पहले भी ऐसा हुआ है जब बोर्ड ने तय वक्त कोई सिफारिश नहीं भेजी हो. हालांकि इस बार उम्मीद है कि बोर्ड हाल ही में महिला क्रिकेट के फाइनल में पहुंच वाली भारतीय टीम की किसी सदस्य के नाम की सिफारिश वक्त रहते भेज दे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi