S M L

'रिश्तेदार' डॉक्टर कैसे गए ओलिंपिक, सीबीआई कर रही है जांच

रियो ओलिंपिक के लिए गए भारतीय दल में दो डॉक्टरों की नियुक्ति पर सवाल

Bhasha, FP Staff | Published On: May 19, 2017 10:49 PM IST | Updated On: May 19, 2017 10:49 PM IST

'रिश्तेदार' डॉक्टर कैसे गए ओलिंपिक, सीबीआई कर रही है जांच

रियो ओलिंपिक में भारतीय दल में हुई गड़बड़ियों को लेकर सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है. आरोप है कि भारतीय दल के साथ डॉक्टर के नाम पर दो रेडियोलोजिस्ट को ले जाया गया था. ‘अपने लोगों’ को ले जाने की होड़ में ऐसा किया गया था. आरोप यही है कि डॉ. पवनदीप सिंह और कर्नल आर.एस. नेगी को ले जाया गया, जो ‘क्वालिफाइड नहीं थे न ही उनके पास अनुभव था.’

सिंह आईओए के उपाध्यक्ष तरलोचन सिंह के बेटे हैं. उन्हें चीफ मेडिकल ऑफिसर बनाकर भेजा गया था. नेगी को भी आईओए पदाधिकारी का रिश्तेदार बताया जाता है. आरोप है कि वो आईओए महासचिव राजीव मेहता के करीबी हैं. हालांकि मेहता इन आरोपों से इनकार करते रहे हैं. रियो ओलिंपिक पिछले साल अगस्त में हुए थे.

सीबीआई सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि भाई-भतीजावाद के इन आरोपों की जांच एजेंसी कर रही है. प्रारंभिक जांच इसलिए की जा रही है कि पहली नजर में ये अपराध का मामला बनता है या नहीं. इस दौरान बाकी जानकारियां भी इकट्ठा की जा रही हैं.

इस बीच राजीव मेहता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि हम सीबीआई के साथ सहयोग कर रहे हैं. जो जानकारियां उन्होंने मांगी हैं, हम वो मुहैया करा रहे हैं. उन्होंने डॉक्टर को कैसे चुना गया, इस सवाल पर कहा कि चुनाव की प्रक्रिया होती है. यह आईओए अध्यक्ष के हाथ में भी होता है कि किसी चुना जाए. किसी को चुनने की कोई एक प्रक्रिया नहीं होती.

सीबीआई की स्पोर्ट्स इंटिग्रिटी यूनिट होती है, जो खेल में भ्रष्टाचार और अनियमितता की जांच करती है. पिछले दो साल में लगातार उनके पास तमाम शिकायतें आई हैं.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi