S M L

फीफा अंडर-17 वर्ल्डकप: एक भी मुकाबला ना जीतने के बावजूद भारतीय कोच टीम के प्रदर्शन से खुश

घाना के खिलाफ आखिरी मुकाबले में 0-4 से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हुई भारतीय टीम

FP Staff Updated On: Oct 13, 2017 10:53 AM IST

0
फीफा अंडर-17 वर्ल्डकप:  एक भी मुकाबला ना जीतने के बावजूद भारतीय कोच टीम के प्रदर्शन से खुश

फीफा अंडर -17 वर्ल्डकप में अपने तीनों मुकाबले हारने के बाद भारतीय टीम भले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई है लेकिट टीम के कोच भारत के प्रदर्शन के बेहद संतुष्ट हैं. टीम के मुख्य कोच लुइस नोर्टन दे माटोस ने कहा कि बेशक उनकी टीम फीफा अंडर-17 विश्व कप में एक भी मैच नहीं जीत पाई हो, लेकिन मेजबान टीम को मिला अनुभव उनके लिए भविष्य में काफी कारगर साबित होगा. माटोस ने कहा कि अंडर-17 विश्व कप का स्तर आई-लीग और इंडियन सुपर लीग से कहीं ऊपर का था.

उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों ने इस टूर्नामेंट से काफी कुछ सीखा है जो उनके साथ तब भी रहेगा जब वह देश की सीनियर टीम के लिए खेलेंगे. माटोस ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘वह (भारत की अंडर-17 फुटबाल टीम के खिलाड़ी) दूसरों की तरह ही चतुर हैं. यह विश्व कप आई-लीग और आईएसएल से काफी बेहतर था, क्योंकि मैं जानता हूं कि जब आईएसएल टीम स्पेन में चौथी श्रेणी की टीम से खेलने जाती है वो हार जाती हैं.’

टीम के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए माटोस ने कहा, ‘इस स्तर पर दो मुश्किल मैचों के बाद मैं जानता था कि घाना के खिलाफ मैच मुश्किल होगा. मेरे मुताबिक, घाना ग्रुप में सबसे मजबूत टीम है. उनके खिलाड़ी काफी तेज हैं वो सभी मैच का रूख बदल सकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हम शारीरिक रूप से काफी थके हुए थे. जब आप शारीरिक रूप से थके होते हैं तो आपका दिमाग काम करना बंद कर देता है और आप छोटी-छोटी गलतियां करते हो. मुझे अपनी टीम पर गर्व है.’ कोच ने कहा, "दोनों टीमों के बीच काफी बड़ा अंतर था.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi