S M L

टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच का मसला: हितों के टकराव के मामले में फंस सकते हैं भरत अरुण

तमिलनाडु प्रीमियर क्रिकेट लीग की टीम के कोच बने भरत अरुण

FP Staff | Published On: Jul 17, 2017 03:12 PM IST | Updated On: Jul 17, 2017 03:16 PM IST

0
टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच का मसला: हितों के टकराव के मामले में फंस सकते हैं भरत अरुण

टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच के पद के लिए भरत अरुण के लिए बोर्ड में घमासान मचा है. और अगर भरत अरुण के नाम पर अंतिम मोहर लगती है तो वह हितों के टकराव के मामले में फंस सकते हैं. दरअसल रविवार को तमिलनाडु प्रीमियर क्रिकेट लीग ने उन्हें वीबी थिरूवल्लूर वीरंस का कोच बनाने का ऐलान कर दिया. ऐसे में भारत के गेंदबाजी कोच बनाए जाने पर वह ठीक वैसे ही हितों के टकराव के मामले में फंस सकते हैं जैसे जूनियर टीम इंडिया के कोच राहुल द्रविड़ फंसे थे.

द्रविड़ के मामले में बोर्ड के प्रशासकों की समिति यानी सीओए ने स्पष्ट कर दिया था कि यह साफ-साफ हितों के टकराव का ममाला है. और इसके बाद, द्रविड़ के आईपीएल की टीम दिल्ली डेयर डेविल्स का साथ छोड़ने के बाद ही, उनके उनके साथ बोर्ड ने करार किया था.

इसके अलावा भरत अरुण आईपीएल में रॉयल चैलेंजर बैंग्लौर यानी आरसीबी के गेंदबाजी कोच भी है. ऐसे में अगर उन्हें रवि शास्त्री के साथ टीम इंड़िया में जुड़ने का मौका मिलता है तो उन्हें आरसीबी का साथ भी छोड़ना होगा.

आपको बता दें कि सचिन, सौरव और लक्ष्मण की क्रिकेट एवायजरी कमेटी ने रवि शास्त्री के साथ जहीर खान को 150 दिन के लिए टीम इंडिया का गेंदबाजी कंसल्टेंट बनाने की सिफारिश की है. दूसरी ओर शास्त्री अपनी पसंद का सपोर्ट स्टाफ लाने के लिए अड़े हुए हैं. भरत अरुण बतौर गेंदबाजी कोच शास्त्री की पहली पसंद हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi