S M L

आईपीएल 2017: वो युवा चेहरे जिन्होंने इस साल बनाई अपनी पहचान

राशिद, वॉशिंगटन और नीतिश राणा जैसे कई युवाओं ने किया शानदार प्रदर्शन

Riya Kasana | Published On: May 22, 2017 07:58 PM IST | Updated On: May 22, 2017 08:05 PM IST

आईपीएल 2017: वो युवा चेहरे जिन्होंने इस साल बनाई अपनी पहचान

आईपीएल का दसवां सत्र खत्म हो चुका है. इस सत्र में जीत भले ही मुंबई इंडियंस की हुई हो पर इस सफर में जीत क्रिकेट भी हुई. कभी अनुभव जीता तो कभी युवा जोश. लेकिन यकीनन युवा टेलेंट को देखकर इस बात का तो यकीन हो गया कि भारत का क्रिकेट भविष्य बहुत उज्जवल है.

इस साल भी यंग ब्रिगेड ने शानदार प्रदर्शन करके धूम मचाई. संजू सैमसन, जयदेव उनाद्कट, नितीश राणा, ऋषभ पंत और मनन वोहरा इस यंग ब्रिगेड में शामिल हैं. इन सभी खिलाड़ियों ने मैचों के परिणाम अपने पक्ष में बदले हैं.

राहुल त्रिपाठी- महाराष्ट्र के बल्लेबाज राहुल त्रिपाठी को इस सीजन के पहले कोई नहीं जानता था. आरपीएस ने मौजूदा सीजन की शुरुआत मयंक अग्रवाल और अजिंक्य रहाणे को ओपनिंग में उतारते हुए की. हालांकि मयंक की खराब फॉर्म ने पुणे टीम को नया विकल्प ढूंढने के लिए मजबूर कर दिया. उनके जल्दी आउट होने की वजह से रहाणे के ऊपर अतिरिक्त जिम्मेदारी बढ़ जाती थी. इसी बीच टीम मैनेजमेंट ने राहुल त्रिपाठी को टीम में जगह दी और ये बदलाव टीम के लिए मास्टर स्ट्रोक साबित हुआ. इस दाहिने हाथ के बल्लेबाज ने 146.44 के स्ट्राइक रेट से 391 रन बनाए जिसमें 17 छक्के शामिल है. इस दौरान उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ शानदार 95 रनों की पारी खेली और दो अर्धशतक भी लगाए.

ऋषभ पंत -मौजूदा टूर्नामेंट के शुरुआत के पहले ऋषभ पंत के पिता का निधन हो गया था लेकिन इसके बावजूद पंत ने अंतिम संस्कार करने के एक दिन बाद ही टीम में वापसी की और पहले ही मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ अर्धशतक जड़ दिया. हालांकि, पंत इस दौरान खराब फॉर्म से भी गुजरे. वह तीन बार शून्य और दो बार छोटे स्कोर पर आउट हुए लेकिन जिस अंदाज में उन्होंने बैटिंग की उसने जता दिया कि भविष्य में वह टीम इंडिया के स्टार बनने वाले हैं. उनकी बेहतरीन पारी गुजरात लायंस के खिलाफ आई जब उन्होंने 43 गेंदों में 97 रन ठोक डाले. इस दौरान उन्हें मैन ऑफ द मैच ही नहीं मिला बल्कि सचिन तेंदुलकर ने ये तक कह डाला कि ये उनके हिसाब से यह अब तक की आईपीएल की बेहतरीन पारी है. उन्होंने 14 मैचों में 165.61 के स्ट्राइक रेट से 366 रन बनाए.

जयदेव उनाद्कट - 25 साल के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनाद्कट भारत के लिए पिछली बार वनडे में 2013 और टी 20 में 2016 में खेले थे. लेकिन जयदेव को शुरुआती मुकाबलों में खेलना का मौका नहीं मिला लेकिन जब अशोक डिंडा की जगह कप्तान स्टीव स्मिथ ने उन पर भरोसा जताया तो जयदेव उनके भरोसे पर खरे उतरे. सनराइजर्स हैदराबाद के साथ हुए लीग मैच में 20वें ओवर में उन्होंने मेडन ओवर में हैट्रिक ली. इस आईपीएल में उन्होंने पुणे के लिए खेलते हुए 12 मैचों में 24 विकेट हासिल किए और वह पर्पल कैप की दौड़ में भुवनेश्वर कुमार के बाद दूसरे नंबर पर रहे.

नितीश राणा- राणा ने बल्ले का वो जौहर इस आईपीएल में दिखाया है जिसकी ज्यादातर लोगों को उम्मीद नहीं थी. अंबाति रायडू के चोटिल होने के बाद लगातार मिले मौकों का उन्होंने बखूबी इस्तेमाल किया और 13 मैचों में 27 की औसत से 333 रन जड़ डाले जिसमें तीन अर्धशतकीय पारियां थीं. एक समय वह ऑरेंज कैप की दौड़ में डेविड वॉर्नर के साथ रेस लगा रहे थे. मुंबई ने इससे पहले 2015 में खिताब जीता था तब से ही राणा मुंबई की टीम के साथ हैं.

राशिद खान - आईपीएल के सीजन 10 की नीलामी में जब अफगानिस्‍तान के राशिद खान पर चार करोड़ रुपये की ऊंची कीमत पर सनराइजर्स हैदराबाद ने खरीदा तो यह सवाल सबकी जुबान पर था कि उन पर इतना बड़ा दांव क्यों? वास्तव में महज 18 साल के राशिद ने अपने क्रिकेट कौशल से हर किसी को प्रभावित किया है. वे दाएं हाथ के लेग ब्रेक बॉलर और बैट्समैन हैं. सनराइजर्स की ओर से खेलते हुए राशिद ने 14 मैचों में 17 विकेट लिए. इसमें गुजरात लायंस के खिलाफ 19 रन देकर 3 विकेट लिए जो सत्र में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था. सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में छठे स्थान पर रहे. उन्होंने 6.62 की औसत से 358 रन दिए.

इनके अलावा भी  वॉशिंगटन सुंदर, मोहम्मद सिराज, संजू सैमसन और सिद्धार्थ कौल जैसे कई खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से यह साबित किया कि आने वाले समय में यह सब अंतराष्ट्रीय स्तर अपना नाम करने के लिए तैयार है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi