S M L

जयपुर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष का जवाब, कोई साबित करे, राजपूताना लीग में फिक्सिंग होती है

असलम का विवादों पर जवाब, राजपूताना लीग सिर्फ युवाओं के भविष्य के लिए

Lakshya Sharma | Published On: Jul 13, 2017 04:16 PM IST | Updated On: Jul 16, 2017 04:15 PM IST

0
जयपुर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष का जवाब, कोई साबित करे, राजपूताना लीग में फिक्सिंग होती है

राजस्थान में राजपूताना लीग शुरू हुई तो काफी विवाद हुआ. इस लीग पर कई आरोप लगे. पहला कि बीसीसीआई ने इस लीग को बैन कर दिया है तो कैसे ये लीग हो सकती है.

साथ ही मैच के दौरान स्टेडियम में सट्टेबाजों की मौजूदगी से लीग पर फिक्सिंग के भी आरोप भी लगने लगे थे लेकिन जैसे जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ने लगा विरोधियों की आवाज भी दबने लगी. जो विरोधी पहले जोर शोर से फिक्सिंग का आरोप लगा रहे थे, वह अब तक कोई सबूत पेश नहीं कर पाए.

आरसीए के निंलबित सचिव आरएस नांदू ने टूर्नामेंट में फिक्सिंग की आशंका देखते हुए बीसीसीआई, जयपुर पुलिस आयुक्त, बीसीसीआई सीईओ, आरसीए के एथिक्स को पत्र लिखकर इसे लेकर शिकायत की थी लेकिन इन सबके सामने भी साबित नहीं हो पाया कि फिक्सिंग जैसा काम इस लीग में हो रहा है.

जयपुर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष मोहम्मद असलम ने फ़र्स्टपोस्ट से बातचीत में बताया कि बीसीसीआई की भ्रष्टाचार यूनिट खुद इसकी जांच के लिए जयपुर पहुंची लेकिन अब तक उन्हें ऐसा कुछ नहीं लगा.

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ये लीग सिर्फ युवा खिलाड़ियों के लिए हो रही है, हां मैं ये मानता हूं कि बीसीसीआई ने इसकी मान्यता कैंसिल कर दी है लेकिन हमनें सारे कागजात बीसीसीआई को पहले ही भेज दिए हैं.

मोहम्मद असलम ने साफ किया है कि इस लीग के लिए हमनें आरसीए से इजाजत ली थी लेकिन अब आरसीए में बदलाव हुए तो उन्होंने बदले की भावना से लीग की इजाजत निरस्त कर दी.

वहीं, आरसीए के सचिव ने कहा कि ‘यह लीग राज्य स्तर की थी. हमने इस लीग को लेकर आरसीए से अनुमति ली थी.’

इससे पहले आरसीए के अधिकारी मोहम्मद इकबाल ने फिक्सिंग के आरोपों को निराधार बताया. उन्होंने बताया कि बीसीसीआई को टूर्नामेंट को लेकर सारी जानकारी वह भेज चुका है.

उन्होंने कहा कि विरोधी गुट अब हमें काम करने नहीं दे रहा और बेवजह विवाद कर रहे हैं.

आपको बता दें बीसीसीआई ने आरसीए पर भी प्रतिबंध लगाया हुआ है.हालांकि इसके बाद आरसीए ने ललित मोदी को पहले आरसीए अध्यक्ष और फिर नागौर क्रिकेट अध्यक्ष पद से हटा दिया था. अब इस क्रिकेट लीग को जो संभाल रहे हैं उनका नाम है मोहम्मद असलम.

आपको बता दे कि मोहम्मद असलम राजस्थान के पूर्व स्पिनर है और फिलहाल जयपुर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष भी है.

सवाल ये भी है कि जब इस लीग में कोई बड़ा खिलाड़ी खेल ही नहीं रहा है तो इस लीग का आयोजन कैसे करा रहा है क्योंकि आरसीए पहले ही हाथ खड़े कर चुकी है और आरसीए के मौजूदा सचिव मोहम्मद इकबाल का कहना है कि असलम इस लीग में केवल एक सहायक है और वह इसके लिए कोई रकम नहीं ले रहे हैं.

बीसीसीआई का लेटर

WhatsApp-Image-2017-07-13-at-155255

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi