S M L

राहुल द्रविड़ ने नहीं ली मानद उपाधि, बोले खुद की मेहनत से लूंगा

राहुल ने कहा, वह खुद रिसर्च कर इसे हासिल करेंगे

FP Staff Updated On: Jan 26, 2017 12:35 PM IST

0
राहुल द्रविड़ ने नहीं ली मानद उपाधि, बोले खुद की मेहनत से लूंगा

भारत की दीवार कहे जाने वाले बेहतरीन क्रिकेटर राहुल द्रविड़ ने बेंगलुरु यूनिवर्सिटी से मानद उपाधि लेने से इनकार कर दिया है. 24 जनवरी को ही यूनिवर्सिटी ने द्रविड़ को मानद उपाधि प्रदान करने की घोषणा की थी. राहुल ने कहा कि वे खुद रिसर्च कर इसे हासिल करेंगे.

राहुल द्रविड़ बेंगलुरु में ही पले बढ़े और यहीं अपनी शिक्षा पूरी की. यूनिवर्सिटी ने 27 जनवरी को अपने 52वें दीक्षांत समारोह में द्रविड़ को मानद डॉक्टरेट डिग्री देने की पेशकश की थी.

विश्वविद्यालय के कुलपति बी थिमे गौड़ा ने एक बयान में कहा, 'राहुल द्रविड़ ने मानद उपाधि के लिए उन्हें चुने जाने पर बेंगलुरु विश्वविद्यालय का शुक्रिया अदा करने के साथ यह संदेश दिया है कि वह मानद उपाधि लेने के बजाय खेल के क्षेत्र में अनुसंधान करने में किसी तरह का शिक्षण कार्य पूरा करके डॉक्टरेट की डिग्री हासिल करेंगे.'

द्रविड़ ने 2014 में गुलबर्ग विश्वविद्यालय के 32वें दीक्षांत समारोह में भाग नहीं लिया था. उन्हें तब मानद डॉक्टरेट की उपाधि के लिए 12 लोगों में चुना गया था. राहुल द्रविड़ ने 2012 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था.

फिलहाल वह इंडिया 'ए' और अंडर-19 टीम के कोच के रूप में युवा क्रिकेटरों की प्रतिभा को निखारने में जुटे हुए हैं. 'क्रिकेट की दीवार' कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ को लीजेंड माना जाता है. उनका देशी और विदेशी पिचों पर जबर्दस्‍त अंतरराष्‍ट्रीय रिकॉर्ड रहा है. उन्‍होंने अपने क्रिकेट करियर में उस दौर की दिग्‍गज ऑस्‍ट्रेलिया टीम के खिलाफ जबर्दस्‍त प्रदर्शन किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi