S M L

भारत श्रीलंका दूसरा वनडे, धोनी के गुरुमंत्र ने भुवनेश्वर का बनाया मैच विनर

सात विकेट गिरने का बाद भुवनेश्वर ने धोनी के साथ मिलकर 100 रन की नाबाद साझेदारी करके भारत को जिताया मैच

FP Staff Updated On: Aug 25, 2017 07:18 PM IST

0
भारत श्रीलंका दूसरा वनडे, धोनी के गुरुमंत्र ने भुवनेश्वर का बनाया मैच विनर

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में धोनी के साथ मिलकर 100 रन की साझेदारी करके भुवनेश्वर कुमार ने मैच का नतीजा भारत पक्ष में बदल दिया. इस मैच में भुवनेश्वर ने अपने वनडे करियर का पहला अर्धशतक भी लगाया. इस शानदार बल्लेबाजी का क्रेडिट भुवनेश्वर कुमार ने एमएस धोनी की उस सलाह को दिया है जिसने उन्हें इस मैच का हीरो बना दिया.

दरअसल 47 ओवर में 231 रन के टारगेट का पीछ करते हुए बिना विकेट खोए 109 रन बना लिए थे. अपना चौथा वनडे खेल रहे श्रीलंका के ऑफ़ स्पिनर अकिला धनंजय ने अपने तीन ओवरों में मैच का रुख़ बदल दिया. भारत का पहला विकेट 109 के स्कोर पर गिरा और फिर 131 के स्कोर पर 16वें से 22वें ओवर के बीच भारत ने अपने 7 विकेट गंवा दिए. एक सिरे पर खड़े पूर्व कप्तान एमएस धोनी का साथ निभाने आये भुवनेश्वर कुमार .

उस वक्त टीम इंडिया बेहद मुश्किल में थी. धोनी क्रीज पर मौजूद जरूर थे लेकिन उन्हें दूसरे छोर साथ की दरकार थी. ऐसे में भुवनेश्वर जब बल्लेबाजी करने आए तब धोनी ने उनके जो कहा उसका खुलासा खुद भुवनेश्वर ने किया है.

भुवनेश्वर ने मैच के बाद बताया  ‘थोड़ा हैरान करने वाली बात जरूर थी. अच्छी पार्टनरशिप हो रही थी और अचानक 3-4 विकेट गिर गए. मैं बैटिंग करने गया तो एमएस ने कहा कि अपना नेचुरल गेम खेलो. जैसा टेस्ट में खेलते हो वैसा ही खेला. मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं था. 7 विकेट गिर चुके थे और हमारे पास खोने को कुछ नहीं था.’

खास बात ये है कि इस पूरी पारी में धोनी ने करीब 25 ओवर पिच पर रहते हुए सिर्फ एक चौका लगाया और मैच को मुकम्मल अंजाम पर पहुंचा दिया. वनडे में पहली बार अर्द्धशतक लगाने वाले भुवी कहते हैं कि दूसरे सिरे पर माही के होते हुए उनपर कोई दबाव नहीं था. भुवी ने कहा, 'उनके दूसरे सिरे पर होने से अफरातफरी और दबाव तो नहीं होता. मुझे पता था कि उनके होते हुए आख़िर में 7-8 के रेट से रन बनाना भी मुश्किल नहीं..इसलिए मैं जरा भी फिक्रमंद नहीं था.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi