S M L

आईपीएल 10: पुणे सुपरजायंट्स की क्या है ताकत और कमजोरी?

पुणे ने धोनी को कप्तानी से हटाकर स्टीवन स्मिथ को कप्तान बनाया

FP Staff Updated On: Apr 06, 2017 11:50 AM IST

0
आईपीएल 10: पुणे सुपरजायंट्स की क्या है ताकत और कमजोरी?

पुणे सुपरजायंट्स के लिए यह आईपीएल का दूसरा सत्र होगा. पिछले सीजन दो टीमों पर बैन लगा दिए जाने के बाद यह टीम आईपीएल से जुड़ी. इस टीम के लिए पहला सीजन बेहद निराशाजनक रहा. खेले गए 14 मैचों से महज पांच बार ही इसने जीत का स्वाद चखा और 10 पॉइंट्स के साथ यह सातवें पायदान पर रही.

पिछले सीजन कप्तान रहे महेंद्र धोनी के स्थान पर इस बार यह जिम्मेदारी स्टीव स्मिथ को सौंपी गई है. पुणे ने इस सीजन खिलाड़ियों की बोली में सबसे ज्यादा 14.5 करोड़ रुपये लगाकर इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स पर दांव लगाया है.

मजबूत पक्ष

पुणे की टीम टीम कप्तानों से सजी हुई है. जहां खुद कप्तान स्टीव स्मिथ वर्तमान समय में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के कप्तान हैं. तो वहीं फाफ डू प्लेसिस के हाथों में भी साउथ अफ्रीकी टीम की कमान है. इनके अलावा भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को भी कप्तानी का थोड़ा सा अनुभव है. अब बात करते हैं उस शख्स की जो एकमात्र ऐसा कप्तान है जिसने अपनी कप्तानी में आईसीसी की सारी ट्रॉफियां अपने नाम की हुई है.

हम बात कर रहे हैं भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की. जिनकी कप्तानी के बारे बताने की शायद ही जरूरत हो. किसी भी टीम के इतने खिलाड़ियों के पास अगर कप्तानी का अनुभव हो तो निश्चित तौर पर इसका फायदा जरूर टीम को होता है. बल्लेबाजी में डू प्लेसिस और उस्मान ख्वाजा के रूप में दो बेहतरीन ओपनर बल्लेबाज है. जो अपनी तेजी से रन बनाने में माहिर हैं. बेन स्टोक्स ऑलराउंडर खिलाड़ी है जो बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों से कमाल दिखा सकता है.

यह भी पढ़े- कब कब खेले जाएंगे पुणे के मैच

हाल ही में कप्तान बनाए गए स्टीव स्मिथ को भारतीय सरजमीं बेहद रास आती है. उन्होंने भारत में खूब रन बनाए है. अभी हाल ही में भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में स्मिथ ने 3 शतक जड़े.

राजस्थान रॉयल्स के बाहर हो जाने के बाद पुणे टीम से जुड़े अजिंक्य रहाणे एक बेहतरीन बल्लेबाज हैं. रहाणे की सबसे खास बात यह है कि वह क्रिकेट के किसी फॉर्मेट में किसी भी पोजीशन पर बेहतरीन बल्लेबाजी कर सकते हैं.

मैच को आखिर तक ले जाकर शानदार तरीके से खत्म करने की कला महेंद्र सिंह धोनी से बेहतर शायद ही किसी में हो. धोनी हालात के हिसाब से तेजी से और टिककर दोनों ही तरह से रन बनाने में माहिर हैं. इसके साथ-साथ बेहतरीन विकेटकीपिंग और कप्तानी का अनुभव भी जरूर टीम को फायदा देगी.

इन सब के अलावा मनोज तिवारी, रजत भाटिया, डेनियल क्रिस्टियन और मयंक अग्रवाल ये खिलाड़ी भी टीम को मजबूती देंगें.

कमजोर पक्ष

इस टीम की कमजोर कड़ी गेंदबाजी है. बाकि टीमों की तरह यह टीम भी खिलाड़ियों की चोट से जूझ रही है. मिचेल मार्श और स्टार स्पिनर आर अश्विन पहले ही पूरे सीजन से बाहर हो चुके है वहीं रवींद्र जडेजा भी शुरुआत के कुछ मैचों से बाहर है.

टीम - स्टीव स्मिथ (कप्तान), मयंक अग्रवाल, अंकित शर्मा, बाबा अपराजित, अंकुश बैंस, रजत भाटिया, दीपक चाहर, राहुल चाहर, डैन क्रिस्टियन, एमएस धोनी, अशोक डिंडा, फाफ ड्यू प्लेसिस, लॉकी फर्ग्युसन, इमरान ताहिर, जसकरन सिंह, उस्मान ख्वाजा, अजिंक्य रहाणे, सौरभ कुमार, बेन स्टोक्स, मिलिंद टंडन, मनोज तिवारी, एडम जम्पा, जयदेव उनाद्कट, ईश्वर पांडेय, राहुल त्रिपाठी, शर्दुल ठाकुर.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi