S M L

आईपीएल 2017, DD Vs RCB Match 56 : नतीजे के लिए नहीं, बड़े नामों को देखने के लिए जाएं कोटला

दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुके हैं

FP Staff, Bhasha Updated On: May 15, 2017 12:07 AM IST

0
आईपीएल 2017, DD Vs RCB Match 56 : नतीजे के लिए नहीं, बड़े नामों को देखने के लिए जाएं कोटला

मुकाबले की कोई अहमियत नहीं है. लेकिन फिर भी आप दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम का रुख कर सकते हैं. आपको नहीं पता कि अगले साल शेन वॉटसन आईपीएल का हिस्सा होंगे या नहीं. आपको ये भी नहीं पता कि जहीर खान खेलेंगे या नहीं. आप जरूर चाहेंगे कि क्रिस गेल, एबी डिविलियर्स और विराट कोहली को एक साथ बल्लेबाजी करते देखें. भले ही इन तीनों के लिए सीजन कुछ खास नहीं रहा हो. हालांकि डिविलियर्स नहीं खेलेंगे.

वैसे भी भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के लिए टीम से ज्यादा शख्स की अहमियत रही है. तभी जब दिल्ली डेयरडेविल्स शुक्रवार को पुणे सुपरजायंट के खिलाफ खेल रही थी, तो स्टेडियम धोनी-धोनी की आवाज से गूंज रहा था. भले ही धोनी विपक्षी टीम के हों. यहां तो रॉयल चैलैंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली ही लोकल प्लेयर हैं. ऐसे में मैच के नतीजे से नहीं, खिलाड़ियों की वजह से मुकाबला अहम होगा, जब दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चलैंजर्स बैंगलोर आमने-सामने होंगे.

इस मुकाबले में दोनों टीमों का लक्ष्य जीत के साथ टूर्नामेंट से विदा लेने का होगा. दोनों टीमें खराब प्रदर्शन के बाद प्लेऑफ की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी हैं.

दिल्ली जहां लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रही, वहीं बैंगलोर का प्रदर्शन तो बहुत ही शर्मनाक रहा. दिल्ली ने कल फिरोजशाह कोटला पर राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स को सात रन से हराया. लेकिन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को पिछले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने मात दी. आरसीबी 13 मैचों में दो जीत और 10 हार के साथ अंकतालिका में सबसे नीचे है जबकि डेयरडेविल्स छह जीत और सात हार के साथ छठे स्थान पर है.

सितारों से सजी आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि उनकी टीम गलतियों से सबक लेकर अगले सत्र में बेहतर खेलेगी. पिछले चार चार शतक समेत रिकॉर्ड 973 रन बनाने वाले कोहली इस सत्र में सिर्फ 250 रन बना सके. अपने लिए जो उंचे मानदंड उन्होंने कायम किए हैं, वह खुद उन पर खरे नहीं उतर सके.

कंधे की चोट के कारण पहले तीन मैचों से बाहर रहे कोहली वापसी के बाद भी कोई कमाल नहीं कर पाए. वहीं क्रिस गेल और एबी डिविलियर्स ने निराश किया. शेन वॉटसन के लिए तो यह सत्र उनके कैरियर का सबसे खराब साबित हुआ.

आईपीएल के पहले सत्र में (2008 में) राजस्थान रॉयल्स की जीत के नायक रहे ऑस्ट्रेलियाई हरफनमौला वॉटसन मौजूदा सत्र को याद नहीं रखना चाहेंगे. दूसरी ओर दिल्ली के खिलाड़ी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके. युवा ऋषभ पंत पिता के निधन के कुछ घंटों बाद ही टीम से जुड़ गए थे और टुकड़ों में अच्छा खेले. संजू सैमसन और श्रेयस अय्यर ने भी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं किया. राहुल द्रविड़ जैसा दिग्गज बल्लेबाज कोच होने के बावजूद दो बार टीम 70 से कम के स्कोर पर आउट हुई.

जहीर खान ने अपनी ओर से पूरा प्रयास किया और शुक्रवार के मैच में पुणे के खिलाफ उम्दा कप्तानी की. उन्हें अपने गेंदबाजों से एक और अनुशासित प्रदर्शन की उम्मीद होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi