S M L

आईपीएल 2017,Final, RPS Vs MI: क्या कहता है दोनों टीमों का पिछला इतिहास?

21 मई को रात 8 बजे से हैदराबाद में होगा फाइनल मुकाबला

FP Staff | Published On: May 20, 2017 05:48 PM IST | Updated On: May 21, 2017 08:02 AM IST

आईपीएल 2017,Final, RPS Vs MI: क्या कहता है दोनों टीमों का पिछला इतिहास?

आईपीएल 10 के इस सीजन का फाइनल मुकाबला तय हो गया है. अब 21 मई को रात 8 बजे से हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में मुंबई इंडियंस और राइजिंग पुणे सुपरजायंट की टीमें खिताब के लिए जोर लगाएंगी.

मुंबई की टीम चौथी बार फाइनल खेलेगी और तीसरी बार टूर्नामेंट जीतने की कोशिश करेगी, वहीं पुणे टीम अपना पहला खिताब जीतना चाहेगी. पुणे टीम मुंबई को ही हराकर फाइनल में पहुंची थी. ऐसे में उसके पास मनोवैज्ञानिक बढ़त रहेगी.

आईपीएल 10 के लीग राउंड में दोनों ही टीमें दो बार भिड़ी थी, जिनमें दोनों ही मैच पुणे के नाम रहे थे. फिर क्वालिफायर मुकाबले में भी मुंबई को हार का मुंह देखना पड़ा था. पिछले तीन मुकाबलो में हारने के बाद मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा पर फाइनल मैच में टीम को जीत दिलाने का दबाव होगा.

पिछले सीजन यानी साल 2016 में पुणे और मुंबई के बीच दो मैच हुए थे. पहले मैच में पुणे ने 9 विकेट से जीत हासिल की थी जबकि दूसरे मैच में पुणे को उसके होम ग्राउंड पर मुंबई इंडियंस ने 8 विकेट से शिकस्‍त दी थी.

ओवऑल प्रदर्शन की बात करें, तो मुंबई इंडियंस लीग राउंड में 20 अंकों के साथ टॉप पर रही थी, जबकि राइजिंग पुणे सुपरजायंट टीम 18 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर रही थी. मुंबई ने 14 मैचों में 10 मैचों में जीत दर्ज की, जबकि स्टीव स्मिथ की कप्तानी में पुणे ने 14 मैचों में 9 मैच जीते थे.

मुंबई के इससे पहले के तीन फाइनल

मुंबई की टीम दो बार साल  2013 और 2015 में आईपीएल चैंपियन रही थी जबकि 2010 में उसे चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स से हारकर रनर अप रहना पड़ा था. आईपीएल के अपने दोनों फाइनल में मुंबई ने चेन्‍नई सुपर किंग्‍स को शिकस्‍त दी थी.  2013 में टीम ने चेन्‍नई को 23 रन से और 2015 में 41 रन से हराकर चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था.

पुणे का पहला सीजन

2016 के सीजन में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट की एंट्री धमाकेदार रही थी. इसने मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस को 9 विकेट से पहले मैच में ही मात दी थी, लेकिन वह आगे अपनी लय को बरकरार नहीं कर सकी. अगले चार मैचों में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था. हार जीत का यह सिलसिला चलता रहा था और पूरे सीजन में टीम केवल 14 में से 5 मैच ही जीत सकी थी.

मुंबई का मजबूत पक्ष

मुंबई का मजबूत पक्ष यह है कि उसे एक-दो खिलाड़ियों के बाहर होने से फर्क नहीं पड़ता. जैसा कि हमने आखिरी लीग मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ देखा था. मुंबई ने इस मैच में अब तक नहीं खेले खिलाड़ियों को मौका दिया था और केकेआर को हराकर शीर्ष स्थान पर कब्जा कर लिया था.

पूरे सीजन में मुंबई इंडियंस के बल्लेबाजों खासतौर से नीतिश राणा, लिडंल सिमंस,  पोलार्ड, पार्थिव पटेल ने शानदार खेल दिखाया है, वहीं  हार्दिक पांड्या और उनके भाई क्रुणाल पांड्या टीम के लिए ट्रंप कार्ड साबित हुए हैं. डेथ ओवरों में जसप्रीत बुमराह का प्रदर्शन अच्छा रहा है. हार्दिक और वह मिलकर पुणे के बल्लेबाजों पर अंकुश लगा सकते हैं

पुणे का मजबूत पक्ष

पुणे के लिए बल्लेबाजी में राहुल त्रिपाठी, कप्तान स्टीव स्मिथ और एमएस धोनी शानदार फॉर्म में हैं. उसके तेज गेंदबाज  जयदेव उनादकट (22 विकेट), शार्दुल ठाकुर (11 विकेट) ने अच्छा प्रदर्शन किया है, वहीं स्पिन में ऑस्ट्रेलिया के एडम जंपा पिछले कुछ मैचों से अच्छा खेल रहे हैं.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi