S M L

आईपीएल 2017, DD Vs MI Match 45: अब दिल्ली के सामने है 'टॉप' की चुनौती

दिल्ली में लगातार दो मैच जीतने के बाद डेयरडेविल्स का मुकाबला शनिवार को अब मुंबई इंडियंस से

Bhasha | Published On: May 05, 2017 04:53 PM IST | Updated On: May 05, 2017 04:53 PM IST

आईपीएल 2017, DD Vs MI Match 45: अब दिल्ली के सामने है 'टॉप' की चुनौती

अपने युवा बल्लेबाजों के दम पर पिछले दो मैचों में बड़े लक्ष्य हासिल करके दमदार जीत दर्ज करने वाली दिल्ली डेयरडेविल्स के सामने अब बड़ी चुनौती है. उसे बेहतरीन फॉर्म में चल रहे मुंबई इंडियंस के विजय रथ को रोककर आईपीएल दस के प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी कवायद को नए मुकाम पर पहुंचाने की कोशिश करनी है.

टूर्नामेंट के शुरू में लड़खड़ाने के बाद नॉकआउट की दौड़ से बाहर होने की कगार पर खड़ी दिल्ली ने पिछले दो मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन करके खुद को दावेदारों में शामिल कर दिया है. उसने सनराइजर्स हैदराबाद के 189 रन और फिर गुजरात लायंस के 208 रन के स्कोर को बौना साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. अब फिर दिल्ली में ही मुकाबला है.

इन दो जीत से दिल्ली के दस मैचों में आठ अंक हो गए हैं और अगर वह अपने बाकी बचे चारों मैच जीतने में सफल रहती है तो फिर प्लेऑफ में भी जगह सुनिश्चित कर लेगी. मुंबई ने दस मैचों में से आठ में जीत दर्ज की और उसने प्लेआफ में जगह पक्की कर ली है.

रोहित शर्मा की अगुवाई वाली मुंबई टीम की निगाह अब शीर्ष दो स्थानों पर टिकी है. इसके लिए वह कोई कसर नहीं छोड़ेगी. दिल्ली के लिए अच्छी खबर यह है कि उसके बल्लेबाज फॉर्म में लौट आए हैं. सनराइजर्स के खिलाफ जहां उसके शीर्ष क्रम के सभी बल्लेबाजों ने योगदान दिया, वहीं लायंस के खिलाफ ऋषभ पंत और संजू सैमसन ने अकेले दम पर टीम को जीत दिला दी थी.

लायंस के 209 रन के लक्ष्य के सामने पंत और सैमसन ने फिरोजशाह कोटला में छक्कों की झड़ी लगा दी थी. पंत ने अपने 97 रन में नौ छक्के जबकि सैमसन ने 61 रन की पारी में सात छक्के लगाए. इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 143 रन की साझेदारी की. मुंबई के गेंदबाजों के लिए इन दोनों पर लगाम कसना आसान नहीं होगा जो अपनी ‘क्लीन हिटिंग’ के कारण राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर सरीखे दिग्गजों को भी अपना मुरीद बना चुके हैं.

डेयरडेविल्स के गेंदबाजों को जरूर कसी हुई गेंदबाजी करने की जरूरत है क्योंकि कैगिसो रबाडा, पैट कमिंस और मोहम्मद शमी जैसे तेज गेंदबाज, अमित मिश्रा और शाहबाज नदीम सरीखे स्पिनर पिछले दो मैचों में अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाए.

इसके अलावा उसे अपने क्षेत्ररक्षण में भी थोड़ा सुधार करना होगा. अगर पंत और सैमसन ने धमाकेदार पारियां नहीं खेली होती तो फिर लायंस के खिलाफ सुरेश रैना को दो जीवनदान देना टीम को भारी पड़ सकता था. फिरोजशाह कोटला की पिच बल्लेबाजों के लिए अनुकूल दिख रही है और ऐसे में फिर से बड़े स्कोर वाले मैच की उम्मीद की जा सकती है.

जहां तक मुंबई इंडियंस का सवाल है तो उसके लिए सब कुछ अनुकूल चल रहा है. वह पिछले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ जीत दर्ज करके प्लेऑफ में जगह पक्की करने वाली पहली टीम बन गई. उस मैच में रोहित ने 56 रन की पारी खेलकर कप्तान की भूमिका अच्छी तरह से निभाई थी.

उसके पास भी नितीश राणा के रूप में युवा बल्लेबाज है जो लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है. दिल्ली का यह रणजी खिलाड़ी कोटला की पिच से भी अच्छी तरह वाकिफ है. मिचेल मैकलेनेघन मुंबई की तरफ से गेंदबाजी की अच्छी तरह से अगुवाई कर रहे हैं. लसिथ मलिंगा भले ही अपनी अच्छी फॉर्म में नहीं हैं. लेकिन जसप्रीत बुमराह के रूप में उसके पास डेथ ओवरों का कुशल गेंदबाज है. हरभजन सिंह कोटला की पिच पर दिल्ली के बल्लेबाजों के लिये परेशानी खड़ी कर सकते हैं.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi