S M L

आईपीएल 2017, DD Vs GL Match 42: डबल पॉइंट एजेंडा के साथ उतरेंगे डेयरडेविल्स

दिल्ली डेयरडेविल्स और गुजरात लायंस के बीच दिल्ली में मुकाबला गुरुवार को

FP Staff Updated On: May 03, 2017 05:33 PM IST

0
आईपीएल 2017, DD Vs GL Match 42: डबल पॉइंट एजेंडा के साथ उतरेंगे डेयरडेविल्स

लगातार पांच मैचों में हार के बाद बल्लेबाजों ने सही समय रंग जमाया.  सही समय पर खेली गई जागरूक पारियों से आईपीएल दस में दिल्ली डेयरडेविल्स ने अपनी उम्मीदें जीवंत रखीं. अब उसे गुरुवार को अपने घर में ही गुजरात लायन्स के खिलाफ खेलना है. यहां उसका डबल पॉइंट या टू पॉइंट एजेंडा होगा. टू पॉइंट  एजेंडा यानी जीत के साथ दो अंक पाना.

दिल्ली टीम अपनी उम्मीदों को को पंख लगाने के लिए उतरेगी जबकि सुरेश रैना की अगुवाई वाली टीम अगर मगर की कठिन डगर में बने रहने की कोशिश करेगी. डेयरडेविल्स ने मंगलवार की रात फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में सनराइजर्स हैदराबाद को रोमांचक मैच में छह विकेट से हराकर प्लेआफ में पहुंचने की उम्मीदें बनाए रखी हैं. उसके अब नौ मैचों में छह अंक हैं.

दिल्ली के लिए आगे की राह कतई आसान नहीं है क्योंकि राहुल द्रविड़ की कोचिंग वाली टीम को अगर नॉकआउट में जगह बनानी है तो उसे अपने बाकी बचे पांचों मैच जीतने होंगे. दिल्ली के लिए अच्छी बात यह है कि उसे इनमें से चार मैच अपने घरेलू मैदान फिरोजशाह कोटला पर खेलने हैं. अब तक लचर प्रदर्शन कर रहे उसके बल्लेबाज सही समय पर अपनी जिम्मेदारियों पर खरे उतरने लगे हैं.

डेयरडेविल्स का टीम प्रबंधन हालांकि यह बात अच्छी तरह से समझता है कि एक मैच में भी हार उस पर भारी पड़ जाएगी. इसलिए वह किसी भी तरह की ढिलाई से बचना चाहेगा.

दूसरी तरफ गुजरात लायंस है. उसकी भी सबसे बड़ी समस्या बल्लेबाजों का अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाना है. इसके कारण उसकी टीम ने अब तक दस मैचों में सात मैच गंवाए हैं और उसके केवल छह अंक हैं. लायंस के लिए प्लेऑफ में पहुंचना लगभग नामुमकिन लग रहा है. लेकिन अगर मगर के अंकगणित में उसकी धुंधली संभावनाएं बनी हुई हैं. निश्चित तौर पर उसकी टीम इन उम्मीदों को बरकरार रखने के लिए प्रतिबद्ध होगी.

Gujarat Lions captain Suresh Raina plays a shot during the 2017 Indian Premier League (IPL) Twenty20 cricket match between Kolkata Knight Riders and Gujarat Lions at The Eden Gardens Cricket Stadium in Kolkata on April 21, 2017. ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT / AFP PHOTO / Dibyangshu SARKAR / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

इससे पहले तक केवल संजू सैमसन के प्रदर्शन में ही निरंतरता देखने को मिली थी जिन्होंने अब तक 313 रन बनाए हैं. उनको छोड़कर दिल्ली का कोई भी बल्लेबाज 200 रन तक नहीं पहुंच पाया है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगर डेयरडेविल्स को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है तो काफी हद तक उसके बल्लेबाज जिम्मेदार रहे हैं.

जहीर चोटिल होने के कारण पिछले दो मैचों में नहीं खेल पाए. टीम को उनकी प्रेरणादायी कप्तानी, अनुभव और एक मंझे हुए गेंदबाज की कमी खली. जहीर की अनुपस्थिति में कैगिसो रबाडा पर दारोमदार था. लेकिन सनराइजर्स के बल्लेबाजों के सामने उनकी एक नहीं चली थी और वह चार ओवर में 59 रन लुटा गए थे. यह दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज निश्चित रूप से इसमें सुधार करने के लिये बेताब होगा.

क्रिस मॉरिस ऑलराउंडर की भूमिका में अमूमन खरे उतरे हैं जबकि मोहम्मद शमी अपनी सटीक गेंदबाजी से उम्मीदें जगाई हैं. अमित मिश्रा अब भी टीम के मुख्य स्पिनर हैं. लेकिन वह एक जैसा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं. बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम को चार और ऑफ स्पिनर जयंत यादव को अब तक दो मैचों में ही खेलने का मौका मिला है. उन्होंने किफायती गेंदबाजी की है.

गुजरात लायन्स की परेशानी उसके बल्लेबाजों को निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाना है. ब्रैंडन मैक्कलम (318 रन), सुरेश रैना (318 रन), दिनेश कार्तिक (221), एरॉन फिंच (199), इशान किशन (149), ड्वेन स्मिथ (94) की मौजूदगी में टीम का बल्लेबाजी क्रम बेहद मजबूत दिख रहा है. लेकिन ये अधिकतर मौकों पर टीम की जरूरतों के हिसाब से प्रदर्शन नहीं कर पाए.

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज एंड्रयू टाइ के कंधे की चोट के कारण बाहर होने से लायंस की गेंदबाजी भी कमजोर पड़ गई है. टाइ ने छह मैचों में 12 विकेट लिए थे. टीम को अब तेज गेंदबाजी में बेसिल थंपी और जेम्स फॉकनर पर भरोसा है. दिल्ली की तरफ से रणजी मैच खेलने वाले स्थानीय तेज गेंदबाज प्रदीप सांगवान को अपने घरेलू मैदान पर फिर से मौका मिल सकता है.

लायंस की सबसे बड़ी चिंता रवींद्र जडेजा का नहीं चल पाना है. भारतीय टेस्ट टीम के अहम सदस्य जडेजा ने अब तक आठ मैचों में केवल चार विकेट लिए हैं. वह रन प्रवाह रोकने में भी नाकाम रहे हैं. जडेजा का इकॉनोमी रेट 9.33 है. बाएं हाथ के इस स्पिनर का विशेषकर टेस्ट मैचों में फिरोजशाह कोटला पर अच्छा प्रदर्शन रहा है और वह उससे प्रेरणा लेकर अपने असली रंग में लौटने की कोशिश करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi