S M L

भारत-वेस्टइंडीज 2017, पांचवां वनडे: सीरीज जीत कर पिछली हार भुलाना चाहेगा भारत

भारत वेस्टइंडीज पांचवा वनडे गुरुवार को जमैका में खेला जाएगा

Bhasha | Published On: Jul 06, 2017 09:30 AM IST | Updated On: Jul 06, 2017 11:11 AM IST

0
भारत-वेस्टइंडीज 2017, पांचवां वनडे: सीरीज जीत कर पिछली हार भुलाना चाहेगा भारत

भारतीय बल्लेबाज गुरुवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ पांचवें और अंतिम एकदिवसीय मैच में श्रृंखला जीतने के इरादे से उतरेंगे. इससे पहले चौथे एकदिवसीय मुकाबले में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को धूल चटाई थी, जिसके बाद भारतीय टीम के बल्लेबाजों को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था.

चौथे वनडे में भारत को वेस्टइंडीज ने 190 रनों का लक्ष्य दिया था, जोकि भारत के बल्लेबाजी क्रम को देखते हुए आसानी से चेज किया जा सकता था. लेकिन धीमी पिच वेस्टइंडीज की शानदार गेंदबाजी के चलते टीम इंडिया को 11 रन से शिकस्त का सामना करना पड़ा.

टीम इंडिया के बल्लेबाजों में सबसे अधिक आलोचना पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की हुई. धोनी ने बेहद धीमी बल्लेबाजी की और 114 गेंद में 54 रन की पारी के दौरान 70 गेंद खाली खेली.

इतनी देर क्रीज पर टिके रहने के बाद जब धोनी ने पहली बार जब बड़ा शॉट खेलने का प्रयास किया, तो वो उसमें नाकाम रहे और कैच थमा बैठे. धोनी की इस पारी के बाद एक बार फिर फिनिशर के रूप में उनकी भूमिका पर सवाल उठने लगे हैं.

रविंद्र जडेजा भी खराब शाट खेलकर पवेलियन लौटे, जिससे महत्वपूर्ण मौकों पर भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों की नाकामी एक बार फिर उजागर हुई.

भारत के लिए अब तक शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे की अगुआई वाले शीर्ष क्रम ने अधिकांश रन बनाए हैं और टीम इंडिया चाहेगी कि ये दोनों अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखें. रहाणे श्रृंखला के चार मैचों में अब तक तीन अर्धशतक और एक शतक जड़ चुके हैं.

बल्लेबाजों के शॉट चयन की आलोचना करने वाले कप्तान विराट कोहली अगर मध्य क्रम में बदलाव करते हैं तो किसी को हैरानी नहीं होगी.

वहीं करीब तीन साल बाद टीम इंडिया की वनडे टीम में वापसी करने वाले दिनेश कातर्कि भी कोई खास प्रभाव नहीं छोड़ पाए हैं. हालांकि सिर्फ एक विफलता के बाद टीम प्रबंधन के उन्हें बाहर करने की संभावना नहीं है.

यह देखना होगा कि पैर की मांसपेशियों में खिंचाव के बाद सीनियर बल्लेबाज युवराज सिंह की टीम वापसी होती है या नहीं. जबकि केदार जाधव को खुद को साबित करने के काफी मौके मिले हैं. लेकिन उनके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है. वह अंतिम एकादश में जगह बचा पाते हैं या नहीं यह देखना होगा.

चौथे वनडे की हैरानी भरी जीत से निश्चित तौर पर वेस्टइंडीज का मनोबल बढ़ा है और अब टीम श्रृंखला बराबर करने को बेताब होगी.

हालांकि मेजबान टीम की राह आसान नहीं होगी. क्योंकि भारतीय टीम शर्मनाक हार के बाद पलटवार करने को तैयार होगी. घरेलू टीम के सलामी बल्लेबाज एविन लुईस और काइल होप पिछले मैच में अच्छी शुरआत दिलाने में सफल रहे और भारतीय गेंदबाजों को लगभग 20 ओवर तक सफलता से महरूम रखा.

कप्तान जेसन होल्डर की अगुआई वाला गेंदबाजी आक्रमण पिछले मैच से प्रेरणा लेकर एक और जानदार प्रदर्शन करने की कोशिश करेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi