S M L

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में किसको मिलेगी टीम में एंट्री?

6 जनवरी को इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन

FP Staff Updated On: Jan 06, 2017 07:48 AM IST

0
इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में किसको मिलेगी टीम में एंट्री?

भारत और इंग्लैंड के बीच वनडे और टी20 ओवर की क्रिकेट सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन 6 जनवरी को होगा. इस समय भारतीय टीम चोटिल खिलाड़ियों की परेशानी से जूझ रही है.

धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली वनडे टीम की कप्तानी संभालेंगे. एमएस धोनी विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे. तो आइए आपको बताते है कि कौन से खिलाड़ी इस टीम में जगह बना सकते हैं.

विराट कोहली

virat

धोनी के वनडे और टी20 से कप्तानी छोड़ने का बाद विराट कोहली पहली बार पूर्ण रूप से वनडे टीम की कप्तानी संभालेंगे. वैसे भी टीम में इस नाम पर किसी को कोई बहस करने की जरूरत नहीं है. टीम चुनते समय इनका नाम सबसे पहले लिख लिया जाएगा. साल 2016 विराट के लिए यादगार रहा और उम्मीद है नये साल की शुरुआत भी विराट जबरदस्त तरीके से करें. विराट कोहली साल और अपनी वनडे कप्तानी की सीरीज को यादगार बनाना चाहेंगे. सीमित ओवर का क्रिकेट तो उन्हें ज्यादा भाता है.

एम एस धोनी

dhoni11

लगभग 9 साल बाद धोनी एक कप्तान के रूप में टीम में ना होकर एक खिलाड़ी के तौर पर खेलेंगे. न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई वनडे सीरीज में नंबर चार पर बल्लेबाजी की थी. चैंपियंस ट्रॉफी के लिए खुद को इसके लिए तैयार करना चाहेंगे. धोनी को भी पता है कि चैंपियंस ट्रॉफी की तैयारी के लिए ये आखिरी मौका है और धोनी इस मौके को बेकार नहीं जाने देना चाहेंगे.

केएल राहुल

lokesh

कर्नाटक के इस खिलाड़ी ने पिछले एक साल में शानदार प्रदर्शन किया है. राहुल ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में अपनी काबिलियत साबित की है. राहुल इस समय अच्छी फॉर्म में है, अगर वह टीम में चुने जाते है तो इससे भारतीय टीम को फायदा होगा.

शिखर धवन

SYDNEY, AUSTRALIA - JANUARY 23: Shikhar Dhawan of India bats during game five of the Commonwealth Bank One Day Series match between Australia and India at Sydney Cricket Ground on January 23, 2016 in Sydney, Australia. (Photo by Matt King/Getty Images)

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज को न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज से बाहर कर दिया गया था. दिल्ली के लिए खेलते हुए भी उन्होंने कुछ बड़ा कमाल नहीं किया. लेकिन चयनकर्ता इंग्लैंड के तेज गेंदबाजी आक्रमण के सामने शिखर के अनुभव का इस्तेमाल कर सकते है. वह 2017 में इंग्लैंड में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी के लिए शिखर के नाम पर विचार कर रहे होंगे. आपको बता दे कि साल 2014 में इंग्लैंड में हुई चैंपियंस ट्रॉफी में शिखर ने शानदार प्रदर्शन किया था.

करुण नायर

Chennai: India's Karun Nair celebrates after scoring 300 runs during the fourth day of the fifth cricket test match against England at MAC Stadium in Chennai on Monday. PTI Photo by R Senthil Kumar(PTI12_19_2016_000194B)

करुण ने चेन्नई टेस्ट में 300 रन बनाकर सबका ध्यान अपनी ओर खींचा. चयनकर्ता उन्हें सीमित ओवर्स में भी टॉप ऑर्डर बल्लेबाज के रूप में टीम में शामिल कर सकते हैं. आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से करुण ने टॉप ऑर्डर में कई अच्छी पारियां खेली है. इस समय करुण का आत्मविश्वास अपने चरम पर होगा और चयनकर्ता इसका फायदा जरूर लेना चाहेंगे.

मनीष पांडे

PANDAY

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में 104 रन की पारी खेलने के बाद मनीष पांडे का बल्ला कुछ शांत रहा है. लेकिन हो सकता है चयनकर्ता उनकी काबिलियत पर विश्वास करे और उन्हें नंबर पांच के बल्लेबाज के लिए टीम में चुने. मनीष के लिए आखिरी मौका साबित होगा टीम में अपनी जगह बनाने के लिए क्योंकि कई खिलाड़ी इस जगह के लिए अपना दावा ठोक चुके हैं.

सुरेश रैना

raina

न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के लिए जब रैना को टीम में शामिल किया गया तो कुछ लोगों ने इसका विरोध भी किया, हालांकि चोट के कारण वह सीरीज में नहीं खेल पाए. रैना अपने अनुभव के कारण दोबारा टीम इंडिया की जर्सी में नजर आ सकते हैं. चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान टीम में उनकी मौजूदगी कप्तान कोहली का हौसला जरूर बढाएगी. रैना ने इंग्लैंड में 37.5 की औसत से रन बनाए हैं. इस दौरान उनका औसत 113.6 का है.

केदार जाधव

KEDAR

महाराष्ट्र के इस खिलाड़ी ने भारतीय टीम के न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली 3-2 से मिली जीत में गेंद और बल्ले से अहम योगदान दिया. केदार ने गेंद से कई अहम मौकों अपने कप्तान के लिए विकेट लिए. साथ ही बल्ले से निचले क्रम में अच्छी बल्लेबाजी की थी. केदार ने सभी की उम्मीद पूरी की और किसी को निराश नहीं किया. इंग्लैंड के खिलाफ भी केदार पूरी तरह तैयार हैं.

शाहबाज़ नदीम

551731_379415382098270_2046826336_nFG

झारखंड के इस खिलाड़ी को टीम में शामिल किया जा सकता है. नदीम ने अपने पिछले दो रणजी सीजन में 50 से ज्यादा विकेट लिए हैं, और सेलेक्टर्स को मजबूर किया है कि उनकी तरफ ध्यान दिया जाए. बाएं हाथ का ये गेंदबाज इंग्लैंड के लिए दिक्कतें पैदा कर सकता है क्योंकि इंग्लैंड की टीम में कई आक्रामक बल्लेबाज हैं. धोनी ने इस गेंदबाज को बहुत करीब से देखा है, हालांकि वह कप्तान तो नहीं है लेकिन ये भी मत भूलिए कि मुख्य चयनकर्ता प्रसाद भी उनके साथ नागपुर में नदीम का प्रदर्शन पास से देख चुके हैं.

अमित मिश्रा

AMIT

अमित मिश्रा का टेस्ट मैचों में प्रदर्शन खास नहीं रहा लेकिन वनडे टीम में वह भारतीय स्पिनर्स को लीड करेंगे, इसमें कोई शक नहीं है. न्यूजीलैंड के खिलाफ अमित मिश्रा का प्रदर्शन शानदार रहा. इंग्लैंड के बल्लेबाज मिश्रा को आसानी से नहीं खेल पाएगा, इसकी उम्मीद है.

भुवनेश्वर कुमार

BHUVI

दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज को मोहम्मद शमी के चोट के कारण मौका मिल सकता है. नई बॉल के साथ कंट्रोल से वह इंग्लैंड के कुछ बल्लेबाजों को परेशान कर सकते हैं. आखिरी ओवर्स में सधी हुई गेंदबाजी के कारण भी सीमित ओवर क्रिकेट में वह उपयोगी साबित हो सकते हैं.

जसप्रीत बुमराह

Cricket - West Indies v India - World Twenty20 cricket tournament semi-final - Mumbai, India - 31/03/2016. India's Jasprit Bumrah bowls. REUTERS/Shailesh Andrade - RTSD0X4

साल 2016 में इस गेंदबाज ने भारतीय टीम को एक नई उम्मीद दी है. भारत में अच्छे और आखिरी ओवर में सटीक गेंदबाजी करने वालों की कमी रही है, लेकिन बुमराह पुरानी गेंद से काफी असरदार हैं. बुमराह ने अपनी सटीक लाइन और पेस के कारण कम समय में ही क्रिकेट दिग्गजों और टीम मैनेजमेंट का दिल जीत लिया है. लगातार यॉर्कर फेंकने की काबिलियत उन्हें और खास बनाती है.

धवल कुलकर्णी

kul

मुंबई के इस गेंदबाज की जगह भारतीय टीम में कभी पक्की नहीं रही. जब भी कोई तेज गेंदबाज चोटिल होता तभी धवल को टीम में मौका मिलता है. इस समय भी भारतीय टीम चोटों से जूझ रही है तो हो सकता है उन्हें फिर से टीम में शामिल कर लिया जाए. शायद धवल को भी पता है कि उन्हें जो मौके मिल रहे हैं उन्हें जल्द से जल्द भुनाना होगा. गेंद को स्विंग कराने की क्षमता इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए मुश्किल पैदा कर सकती है.

आशीष नेहरा

nehra

इस टीम में एक नाम देखकर शायद आप सबसे ज्यादा चौंक जाए. उस खिलाड़ी का नाम है आशीष नेहरा. नेहरा को साल 2011 वर्ल्डकप के बाद से ही दरकिनार किया गया. लेकिन अब चयनकर्ता उन्हें टी20 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन का इनाम दे सकते हैं.

नेहरा अपनी फिटनेस पर काफी काम कर रहे हैं. इसके साथ ही वह अपने बचपन के कोच तारक सिन्हा के साथ ट्रेनिंग कर रहे हैं. इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में भी उनका चयन पक्का माना जा रहा है.

आपको बता दे कि इस समय टीम इंडिया के कुछ मुख्य जैसे मोहम्मद शमी, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, अक्षर पटेल और जयंत यादव चोटिल है जबकि  अश्विन और  जडेजा को इस सीरीज में आराम दिया जा सकता है.

प्रियंक पांचाल

18278

गुजरात के इस युवा बल्लेबाज ने इस साल रणजी सीजन में अपनी बल्लेबाजी की चमक बिखेरी. प्रियंक ने इस साल रणजी सीजन में 1000 से ज्यादा रन बनाए है. प्रियंक ने कई बार मुश्किल परिस्थिति में रन बनाए. अगर इस उनके प्रदर्शन पर नजर डाली जाए तो उन्होंने 9 मैचों में 1270 रन बनाए है.

इन 9 मैचों में उन्होंने 5 शतक और 4 अर्धशतक लगाए. 5 शतक में उनके नाम 314 रन की नाबाद पारी भी रही. हालांकि ये देखने वाली होगी कि चयनकर्ता उनके इस प्रदर्शन से प्रभावित होते है या नहीं. संभव है कि उनका चयन न हो क्योंकि एक तो चैंपियंस ट्रॉफी बिल्कुल नजदीक है. ऐसे में चयनकर्ता नए ओपनर के साथ नहीं जाना चाहेंगे. दूसरा चयनकर्ता केवल एक सीजन में अच्छे प्रदर्शन को शायद तवज्जो ना दें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi