S M L

ये तरीका राहुल के करियर पर भारी पड़ सकता है...

बांग्लादेश के खिलाफ हैदराबाद टेस्ट में सिर्फ दो रन बनाकर हुए आउट

Shailesh Chaturvedi Updated On: Feb 09, 2017 08:29 PM IST

0
ये तरीका राहुल के करियर पर भारी पड़ सकता है...

पारी की चौथी गेंद. तस्कीन अहमद गेंदबाज. केएल राहुल कवर ड्राइव करने गए. गेंद ऑफ स्टंप के बाहर थी. लेकिन शॉट खेलते हुए राहुल ने पांव का इस्तेमाल नहीं किया. बल्ले और पैड के बीच गैप था. वजन पिछले पैर से पूरी तरह अगले पैर पर नहीं आया था. नतीजा यह हुआ कि गेंद ने बल्ले का अंदरूनी किनारा लिया और राहुल बोल्ड हो गए. सिर्फ दो रन बनाकर.

20 पारियां... पांच स्कोर 50 के पार. लेकिन दस स्कोर 20 से भी कम. इनमें भी नौ स्कोर दस से भी कम. यह केएल राहुल के टेस्ट करियर का लेखा जोखा है. जरा उनके खेलने और आउट होने के तरीके पर भी ध्यान दीजिए. क्या किसी टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज का इस तरह बार-बार आउट होना खलता है? अगर ऐसा है, तो समस्या को समझने और उससे निपटने की सख्त जरूरत है. ऐसा नहीं हुआ, तो राहुल बड़ी मुश्किल में फंस सकते हैं.

क्रिकेट में हर कोई जानता है कि बल्लेबाजी का सबसे मुश्किल स्लॉट ओपनिंग ही होती है. राहुल यहां पर बैटिंग कर रहे हैं. वो जिस तरह की गलतियां करके आउट हो रहे हैं, वो विदेश में गेंदबाजों की मददगार पिच पर टीम को परेशानियों में डालने का काम कर सकती हैं. राहुल अपनी 20 पारियों में आठ बार स्पिनर्स के हाथों आउट हुए हैं. बाकी 12 में पांच बार उन्हें कमजोर फुटवर्क का नतीजा झेलना पड़ा है. या तो वह बोल्ड हुए या एलबीडबल्यू. इनमें से एक पारी हैदराबाद की है. ऐसा हर बार राहुल के लिए पारी की शुरुआत में ही होता है.

Cricket - India v England - Fifth Test cricket match - M A Chidambaram Stadium, Chennai, India - 18/12/16. India's Lokesh Rahul reacts after being dismissed. REUTERS/Danish Siddiqui - RTX2VIN5

इससे पहले गॉल टेस्ट में धम्मिका प्रसाद ने उन्हें अंदर आती गेंद पर आउट किया. तब भी राहुल बड़ा स्कोर नहीं बना सके थे. तब भारत का पहला स्कोर 14 रन पर गिरा था. इसी सीरीज के कोलंबो टेस्ट में भी वो प्रसाद की गेंद पर आउट हुए थे. अंदरूनी किनारा लेकर गेंद स्टंप्स पर लगी थी. तब भारत का पहला विकेट तीन रन पर गिरा था.

कोलंबो में ही हुए एक और टेस्ट की दोनों पारियों में अंदर आती गेंदों ने राहुल को परेशान किया. पहली पारी में उन्होंने गेंद को छोड़ा, जो अंदर आई और राहुल बोल्ड हो गए. यहां पर भी मामला फुटवर्क का था. पांव सही जगह नहीं थे. भारत का स्कोर दो था. दूसरी पारी में फिर उन्होंने गेंद छोड़ी. ऑफ स्टंप के बाहर की गेंद थी. फिर ऑफ स्टंप कवर नहीं किया. गेंद अंदर आई और स्टंप उखाड़ गई. यहां भी भारत का स्कोर सिर्फ दो था.

केएल राहुल को तमाम लोग अगला राहुल द्रविड़ बताते रहे हैं. लेकिन ये पांच पारियां बताती हैं कि कर्नाटक के इस बल्लेबाज को राहुल द्रविड़ बनने के लिए डिफेंस पर बहुत काम करना होगा. फुटवर्क और ऑफ स्टंप का अंदाजा न हो पाना उन्हें तमाम बार भारी पड़ा है. अभी तो अपने घर में खेल रहे हैं. इंग्लैंड जैसी जगह पर, जहां गेंद सीम बहुत होती है, उनका करियर रास्ते से भटक सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi