S M L

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017, भारत-बांग्लादेश, दूसरा सेमीफाइनल : पड़ोसियों की जंग में कौन किस पर भारी?

सिर्फ किस्मत नहीं प्रदर्शन के दम पर सेमीफाइनल में पहुंची है बांग्लादेश

Bhasha Updated On: Jun 14, 2017 10:30 PM IST

0
आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017, भारत-बांग्लादेश, दूसरा सेमीफाइनल : पड़ोसियों की जंग में कौन किस पर भारी?

भारत आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के दूसरे सेमीफाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ मैदान पर उतरेगा तो रोमांचक मुकाबला देखने को मिल सकता है.

रिकॉर्ड के मामले में भारत इस मैच जीत का प्रबल दावेदार है. क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और ऐसे में बांग्लादेश को जीत का दावेदार नहीं मानना गलत होगा. भारतीय टीम भी अपने इस पड़ोसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ किसी तरह की भी ढिलाई बरतने से बचना चाहेगी.

बांग्लादेश ने जिस तरह से लीग चरण में न्यूजीलैंड के खिलाफ शानदार वापसी करके जीत दर्ज की उसे देखते हुए कोई भी टीम उसको कमजोर मानने की गलती नहीं करेगी. इस जीत से बांग्लादेश ने सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए अपनी राह तैयार की थी.

साउथ अफ्रीका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करने के बाद भारतीय टीम भी आत्मविश्वास से भरी है. वह अपनी यही फॉर्म बरकरार रखकर बांग्लादेश को हराने की कोशिश करेगी.

भारत के बल्लेबाज फॉर्म में हैं, गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और क्षेत्ररक्षण भी बेहतरीन है. कुल मिलाकर विराट कोहली की टीम अभी खेल के तीनों विभाग में अव्वल नजर आ रही है. ऐसे में भाग्य के भरोसे सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली मशरफे मुर्तजा की टीम को जीत दर्ज करने के लिए एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर कुछ विशिष्ट प्रदर्शन करना होगा.

बांग्लादेश इससे पहले ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड जैसी टीमों को हरा चुका है जो महज इत्तेफाक नहीं माना जा सकता. यह देखना दिलचस्प होगा कि भारत रविचंद्रन अश्विन को अंतिम एकादश में बनाए रखता है या फिर उमेश यादव को वापस टीम में लाता है क्योंकि अभ्यास मैच के दौरान उनकी तेज गेंदबाजी के सामने बांग्लादेशी बल्लेबाज नहीं टिक पाए थे. भारत ने 240 रन से जीत दर्ज की थी.

बांग्लादेश की टीम ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मैच पर आंखे गड़ाए हुए थी. इंग्लैंड के जीत दर्ज करते ही बांग्लादेश की सेमीफाइनल में जगह पक्की हो गई और उसके खिलाड़ी खुशी में झूमने लगे. अगर मैदान पर प्रदर्शन की बात की जाए तो धवन और रोहित की भारतीय सलामी जोड़ी बांग्लादेश के तमीम इकबाल और सौम्य सरकार से बेहतर है.

तमीम हालांकि अभी अच्छी फॉर्म में चल रहे हैं. कोई सपने में भी कोहली की तुलना इमरुल कैस या शब्बीर रहमान से नहीं कर सकता है. महेंद्र सिंह धोनी 50 ओवरों की क्रिकेट के महान खिलाड़ियों में शुमार करते हैं जबकि मुशफिकर रहीम अब भी ऐसे खिलाड़ी है जिनके प्रदर्शन में निरंतरता का अभाव है. महमूदुल्लाह रियाद मैच विजेता है लेकिन युवराज सिंह अपना 300वां मैच खेलेंगे और वह पूरी तरह से अलग तरह के खिलाड़ी है.

मशरफे, तस्कीन, रूबेल और मुस्तफिजुर के रूप में बांग्लादेश के पास अच्छा आक्रमण है लेकिन तब भी भारत के पास भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमरा और हार्दिक पांड्या के रूप में बेहतर गेंदबाज हैं.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi