S M L

भारत-पाकिस्तान मुकाबला : ध्यानचंद स्टेडियम में हॉकी को मिली महज क्रिकेट के ब्रेक में जगह

चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल के इनिंग ब्रेक में दिखाया गया वर्ल्ड हॉकी लीग का मुकाबला

Riya Kasana | Published On: Jun 18, 2017 10:34 PM IST | Updated On: Jun 18, 2017 10:36 PM IST

भारत-पाकिस्तान मुकाबला : ध्यानचंद स्टेडियम में हॉकी को मिली महज क्रिकेट के ब्रेक में जगह

ऊपर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा है मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम. नीचे जमीं पर स्टिक लिए हॉकी के जादूगर की प्रतिमा. उसके ठीक बगल में लगी बड़ी स्क्रीन. इस पर भारत-पाकिस्तान के बीच चलता क्रिकेट मैच. जब ब्रेक हुआ, तो लोगों को याद आया कि हॉकी मैच भी चल रहा है. मैच लगाया गया. अचानक दर्शक कम हो गए. क्रिकेट का ब्रेक खत्म हुआ. हॉकी मैच हटाकर फिर क्रिकेट लगा दिया गया. स्टेडियम में सीखने वालों से लेकर कुछ और लोग वापस अपनी सीटों पर आ गए. बगल में मेजर ध्यानचंद की प्रतिमा अपनी खामोशी में तमाम सवाल समेटे रही.

कुछ रोज पहले बड़े जोर-शोर से घोषणा हुई थी. खेल मंत्री विजय गोयल आए थे ये बताने कि आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के मुकाबले मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में देखे जा सकते हैं. विशाल स्क्रीन लगाई गई थी. तब भी ये सवाल उठा था कि आखिर क्रिकेट जैसे खेल के लिए टैक्स पेयर के पैसे लगाने की क्या जरूरत है. ये खेल तो पहले ही लोकप्रिय है. सरकार का काम तो बाकी खेलों को  लोकप्रिय करना है. वैसे भी बीसीसीआई ने कभी खेल मंत्रालय को अहम नहीं माना.

आलोचनाओं के बीच अचानक खेल मंत्री के ट्विटर हैंडल से बताया जाने लगा कि हॉकी मैच भी दिखाया जाएगा. जिस दिन क्रिकेट नहीं था, उस रोज दिखाया भी गया. लेकिन उस रोज ट्विटर हैंडल पर मंत्री जी की तस्वीर नहीं आई. वो भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबले को रोज ही आई.

1 जून से शुरू हुई चैंपियंस ट्रॉफी आखिरकार 18 जून को भारत-पाकिस्तान के महामुकाबले के साथ खत्म हो गई. नई दिल्ली हो या इस्लामाबाद, कराची हो या कोलकाता, भारत-पाक मुकाबला ऐसा है कि दोनों तरफ के क्रिकेटप्रेमी अपनी टीम को हारता हुआ नहीं देख सकते. ये मुकाबला सिर्फ 22 खिलाड़ियों का नहीं होता विश्व भर में भारत-पाक क्रिकेट टीमों के करोड़ों समर्थकों के बीच भी एक अलग ही होड़ देखने को मिलती है. इसी जोश से प्रेरित होकर भारतीय खेल मंत्री विजय गोयल ने फैंस को मैच लाइव दिखाने का मौका दिया.

टीम इंडिया के सेमीफाइनल में पहुंचने की मजबूत संभावनाओं को देखते हुए खेल मंत्रालय ने उसके बाकी बचे मैचों का फ्री में सीधा प्रसारण दिखाने के लिए नेशनल स्टेडियम में विशाल एलईडी स्क्रीन लगाने का फैसला किया. मैच देखने के लिए एंट्री फ्री थी. बस दर्शकों से उनका कोई एक प्रमाणपत्र मांगा जा रहा था.

3 बजे से मुकाबला शुरू हुआ. दिल्ली वाले मैच देखने तो आए लेकिन उतनी संख्या में नहीं जितनी की अपेक्षा की जा रही थी. खेल की शुरुआत में 100-150 थे मैच की पहली पारी खत्म होते होते 300 लोग मैदान में पहुंचे. लेकिन इसके बाद संख्या ज्यादा नहीं बढ़ी. युवाओं से भरे मैदान में कई दिग्गज कोच भी दिखाई दिए.

भारत सिर्फ क्रिकेट के मैदान में ही नहीं बल्कि हॉकी के मैदान में भी पाकिस्तान का सामने कर रहा था. हॉकी के दिग्गज ध्यानचंद के नाम स्टेडियम में हॉकी के मैच की स्ट्रिमिंग तो हुई लेकिन सिर्फ  इनिंग ब्रेक के समय. इनिंग ब्रेक खत्म होते ही दोबारा मैच का सीधा प्रसारण शुरू हुआ. स्टेडियम में मौजूद लोगों की भी दिलचस्पी क्रिकेट मैच में ही थी. हां, मंत्री जी के ट्विटर हैंडल से जरूर क्रिकेट के साथ हॉकी का जिक्र होता रहा.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi