S M L

चैंपियंस ट्रॉफी 2017: इस बार बांग्लादेश को कम समझना होगा बड़ी भूल

चैंपियंस ट्रॉफी का पहला मैच इंग्लैंड बनाम बांग्लादेश 1 जून को

Lakshya Sharma | Published On: May 31, 2017 10:49 AM IST | Updated On: May 31, 2017 11:13 AM IST

चैंपियंस ट्रॉफी 2017: इस बार बांग्लादेश को कम समझना होगा बड़ी भूल

1 जून से शुरू हो रहे मिनी वर्ल्डकप का पहला मैच बांग्लादेश और इंग्लैंड के बीच खेला जाएगा. पिछले दो से तीन सालों में बांग्लादेश क्रिकेट में जिस तरह का सुधार देखने को मिला है, वह गजब है. हाल ही में आयरलैंड में खेली गई त्रिकोणीय सीरीज में बांग्लादेश ने शानदार प्रदर्शन किया और अब वह आईसीसी रैंकिंग में तीन बड़ी टीमों(श्रीलंका, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज) को पीछे छोड़ते हुए छठे नंबर पर पहुंच गई है.

जाहिर है कि बांग्लादेश ने इतना बड़ा मुकाम अपनी मेहनत के बल पर पाया है. जैसा कि बांग्लादेश को चैंपियंस ट्रॉफी में ग्रुप ए में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ रखा गया है. ऐसे में बांग्लादेश की कड़ी अग्निपरीक्षा होगी. वैसे बांग्लादेश इस टूर्नामेंट में बड़ा उलटफेर कर सकती है. इसके पहले भी वह कई बार आईसीसी टूर्नामेंटों में उलटफेर करते हुए बड़ी टीमों को बाहर कर चुकी है. ऐसे में एक बार फिर से सबकी नजरें बांग्लादेश पर होगी. वैसे चैंपियंस ट्रॉफी में बांग्लादेश का रिकॉर्ड अब तक बढ़िया नहीं रहा है और वह आठ मैचों में से सिर्फ एक मैच ही जीत पाए हैं.

टीम की ताकत और कमजोरी

टीम की ताकत टॉप ऑर्डर में तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, शाकिब अल हसन और महमदुल्लाह जैसे बल्लेबाजों की मौजूदगी है. इन बल्लेबाजों ने पिछले दो सालों में रनों का अंबार लगाया है और टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई है.

गेंदबाजी की जिम्मेदारी मशरफे मुर्तजा और मुस्तफिजुर रहमान के कंधों पर रहेगी. दोनों ने पिछले एक साल में 13 मैचों में 24 विकेट झटके हैं. ये दोनों ही खिलाड़ी बांग्लादेश की गेंदबाजी के अगुवा हैं. ऐसे में तेज गेंदबाजी आक्रमण काफी सधा हुआ नजर आता है. स्पिन गेंदबाजी की जिम्मेदारी अनुभवी शाकिब अल हसन के कंधों पर होगी.

इस टीम की सबसे बड़ी कमजोरी है कि यह टीम आईसीसी टूर्नामेंट में उलटफेर तो कर सकती है लेकिन लगातार मैच जीतना इस टीम के लिए मुश्किल है. इंग्लैंड की परिस्थिति में खुद को ढालना भी टीम के खिलाड़ियों के लिए मुश्किल हो सकता है.

टीम का चैंपियंस ट्रॉफी में प्रदर्शन

बांग्लादेश साल 2000 में पहली बार आईसीसी नॉकआउट में शामिल हुई थी. इसके बाद साल 2006 तक वह इस टूर्नामेंट का लगातार हिस्सा रही. लेकिन पिछले दो बार (2009, 2013) में वह क्वालीफाई नहीं कर पाई. करीब एक दशक के बाद वह इस टूर्नामेंट में नंबर 6 टीम के रूप में शिरकत कर रही है. जाहिर है कि उसका इरादा धमाल मचाने का होगा. वैसे चैंपियंस ट्रॉफी में बांग्लादेश का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है. बांग्लादेश ने इस टूर्नामेंट में कुल 8 मैच खेले हैं जिनमें उन्हें महज एक जीत नसीब हुई है. ये जीत उन्हें साल 2006 में जिम्बाब्वे के खिलाफ नसीब हुई थी.

फॉर्म में अनुभवी खिलाड़ी

टीम के स्टार खिलाड़ियों की बात करें तो उनमें शीर्ष पर तमीम इकबाल हैं. इकबाल ने साल 2017 में 7 मैचों में 66 के औसत से 330 रन बनाए हैं. जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं. महमदुल्लाह भी गजब की फॉर्म में है. उन्होंने पांच पारियों में ही 80 की औसत से 160 रन बनाए हैं और सबसे ज्यादा 3 बार नॉट आउट रहे हैं. उन्होंने दो अर्धशतक लगाए हैं. गेंदबाजी में मुस्ताफिजुर रहमान गजब हैं. मुस्ताफिजुर ने 2017 में 6 पारियों में 21 के शानदार औसत से 13 विकेट झटके हैं वहीं उनके जोड़ीदार मशरफे मुर्तजा ने 6 पारियों में ही 11 विकेट लिए हैं. इस तरह इन खिलाड़ियों पर सबसे ज्यादा दारोमदार होगा.

टीम का हालिया प्रदर्शन

बांग्लादेश ने साल 2015 से 2017 के बीच कुल 25 वनडे मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 13 मैच जीते हैं और 10 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है. इसके अलावा दो मैच बेनतीजा रहे हैं. अच्छी बात यह है कि बांग्लादेश ने साल 2015-16 में अपनी सरजमीं पर बेहतरीन खेल दिखाया था और भारत, पाकिस्तान जैसी बड़ी टीमों को हराने में सफलता हासिल की थी. अपनी सरजमीं पर पिछले दो सालों में बांग्लादेश ने 15 मैचों में से 10 जीते और जता दिया कि अब वह विश्व क्रिकेट में कमजोर टीम तो कतई नहीं हैं.

वैसे विदेशों में उनका रिकॉर्ड भी ठीक-ठाक रहा. उन्होंने इस दौरान 10 मैच विदेश में खेले जिनमें तीन में उन्हें जीत और पांच में हार का सामना करना पड़ा लेकिन इस दौरान उन्होंने जिस स्तर का खेल दिखाया वो गजब रहा. न्यूजीलैंड और आयरलैंड के खिलाफ हालिया त्रिकोणीय सीरीज में भी बांग्लादेश टीम के खिलाड़ियों शानदार प्रदर्शन किया. जो बताता है कि अगर उनका दिन हुआ तो वे किसी भी टीम को हराने का माद्दा रखते हैं.

बांग्लादेश का चैंपियंस ट्रॉफी शेड्यूल

चैंपियंस ट्रॉफी में बांग्लादेश ग्रुप ए में है. वह पहला मैच 1 जून को इंग्लैंड के खिलाफ खेलेंगे. दूसरा मैच 5 जून को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ और उसका तीसरा मैच 9 जून को न्यूजीलैंड के खिलाफ होगा. वैसे इससे पहले बांग्लादेश की टीम दो प्रैक्टिस मैच भी खेलेगी. बांग्लादेशी टीम 27 मई को पाकिस्तान और 30 मई को भारत के खिलाफ प्रैक्टिस मैच खेलेगी.

 

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi