विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

भारतीय टीम में कौन है विराट और कुंबले से ज्यादा पावरफुल?

पुणे मैदान के पिच क्यूरेटर ने कहा, मैंने ऐसी पिच के लिए पहले ही चेताया था.

FP Staff Updated On: Feb 27, 2017 03:01 PM IST

0
भारतीय टीम में कौन है विराट और कुंबले से ज्यादा पावरफुल?

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया. पुणे टेस्ट...पिच रिपोर्ट में पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने कहा कि ये पहले दिन की पिच नहीं तीसरे दिन की पिच है. वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि ये क्रिकेट की नहीं, कंचे खेलने की पिच है. सुनील गावस्कर और शेन वॉर्न ने इसे आठवें दिन की पिच बताया था.

इन सब कमेंट के बाद भारतीय टीम की हार ने पुणे की पिच को और सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है. हर तरफ भारतीय टीम की खिल्ली उड़ रही है. ऑस्ट्रेलिया की मीडिया ने तो इतना तक कह दिया कि हमने एक अरब लोगों को शर्मसार कर दिया.

लेकिन इस मामले में एक चौकाने वाली बात सामने आई है. पुणे पिच के क्यूरेटर पाडुरंग सलगांवकर ने भारतीय टीम के शर्मनाक हार के बाद क्रिकेट नेक्स्ट से बातचीत में बताया कि उन्होंने भी भारतीय मैनेजमेंट को पहले ही चेता दिया था कि यह पिच भारतीय टीम को भारी पड़ सकती है.

पुणे पिच क्यूरेटर ने बताया कि उन्होंने बीसीसीआई की पिच कमेटी के अध्यक्ष दलजीत सिंह और वेस्ट जोन के अध्यक्ष धीरज परसाना को चेतावनी दी थी. ये दोनों ही अधिकारी पिच बनाते समय वहां मौजूद थे.

पाडुरंग ने कहा कि मैंने साफ तौर बीसीसीआई को चेताया था. उन्होंने कहा, 'किसी का नाम नहीं लेना चाहता. लेकिन मैंने उन्हें पहले ही बता दिया था कि पिच पर पानी न देने और पिच से घास हटाने का काफी नुकसान हो सकता है.'

सलगांवकर ने कहा, ‘मैं क्या कर सकता था? हमें टीम मैनेजमेंट के आदेश की पालना करनी होती है. और यही मैंने किया.'

मैच के बाद ये भी अफवाह फैली कि भारतीय टीम के मैनेजमेंट ने ही ऐसी पिच बनाने का दबाव बनाया था. लेकिन सलगांवकर ने साफ किया कि उनसे किसी ने इस तरह की पिच बनाने के लिए नहीं कहा था. उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि किसने ऐसा करने को कहा, क्योंकि मुझसे किसी ने ऐसा नहीं करने को कहा.

अब जो हो गया वो तो बदला नहीं जा सकता लेकिन बड़ा सवाल ये है कि ऐसा करने के लिए कहा किसने. महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस अखबार से बातचीत में बताया कि टीम मैनेजमेंट की तरफ से उनके ऊपर दबाव बनाया गया था. लेकिन मैच के बाद कप्तान विराट कोहली भी पिच से खुश नहीं थे.

खबर है कि कोच अनिल कुंबले भी ऐसी पिच के पक्ष में नहीं थे. अगर कप्तान और कोच ने ऐसी पिच की मांग नहीं की थी तो वह टीम मैनेजमेंट का कौन-सा सदस्य है जिसने इस तरह का दबाव बनाया?

पुणे में भारतीय टीम की हार के साथ इस बात पर विवाद होना तय था. लेकिन अब मामला और उलझ गया क्योंकि जब कोच और कप्तान पिच से खुश नहीं थे तो इस तरह की पिच बनाने से फायदा किसे होगा?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi