S M L

गौतम का 'गंभीर' सवाल, लोगों की भूख मिटाने से ज्यादा क्यों जरूरी हो गए हैं मंदिर-मस्जिद?

आजादी के 70 साल पूरे होने पर गौतम का ट्वीट हो रहा है वायरल, एक भूखे बच्चे की तस्वीर पोस्ट करके पूछा है सवाल

FP Staff Updated On: Aug 09, 2017 06:52 PM IST

0
गौतम का 'गंभीर' सवाल, लोगों की भूख मिटाने से ज्यादा क्यों जरूरी हो गए हैं मंदिर-मस्जिद?

भारत की आजादी को इस साल 70 साल पूरे होने जा रहे हैं. हम स्वतंत्रता दिवस की 70वीं सालगिरह मनाने जा रहे हैं. इस मौके पर  क्रिकेटर गौतम गंभीर ने एक ट्वीट किया है जिसके बाद वाकई कई वाजिब सवाल खड़े कर दिए हैं.

 

 

गौतम गंभीर ने ट्वीट में एक तस्वीर डाली है, उस तस्वीर में एक भूखा बच्चा गंदगी से लिपटा हुआ बाल मजदूरी करते हुए दिख रहा है. गौतम गंभीर ने इस फोटो पर लिखा है कि आज भी हम मंदिर और मस्जिद बनाने में लगे हैं, हम तुम्हारे लिए कुछ नहीं कर सकते हैं. गंभीर ने ट्वीट के जरिए कहा है कि आजादी के 70 साल बाद भी मैं इस सवाल का जवाब ढूंढ़ रहा हूं.

 

गंभीर का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. यह पहली बार नहीं है कि गौतम ने इस प्रकार का ट्वीट किया हो. इससे पहले गौतम चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत की हार पर जश्न मनाने वाले अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारुख को पाकिस्तान जाने की सलाह दी थी.

आपको बता दें कि गंभीर छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने की भी बात कही थी. इसके अलावा आईपीएल के दौरान उन्हें मैन ऑफ द मैच की राशि भी उनके सहयोग के लिए दी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi