S M L

हार्दिक पांड्या: कभी नहीं थे दो वक्त के खाने के पैसे, आज है देश का लाडला क्रिकेटर

टीम इंडिया के नए सुपरस्टार बने हार्दिक पांड्या

Lakshya Sharma Updated On: Aug 13, 2017 02:04 PM IST

0
हार्दिक पांड्या: कभी नहीं थे दो वक्त के खाने के पैसे, आज है देश का लाडला क्रिकेटर

आजकल आप अखबार पढ़ ले या न्यूज चैनल देख ले, एक क्रिकेटर का नाम है जो आपको बार बार दिखेगा, इसकी चर्चा भी हर जगह होती दिखाई देगी. अगर मौजूदा समय में देखे या तो शायद विराट कोहली का नाम ज्यादातर सुनने को मिलेगा या इस खिलाड़ी का. चलिए पहले इस खिलाड़ी के नाम का खुलासा कर देते हैं इस खिलाड़ी का नाम है हार्दिक पांड्या. हार्दिक को इस समय भारतीय क्रिकेट का रॉकस्टार कहा जा रहा है

और ये चर्चा हो भी क्यों ना,   हार्दिक पांड्या ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में जो पारी खेली वो साबित करती है कि वह भारतीय टीम का नया स्टार है. पांड्या ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट की पहली पारी में 108 रन की तूफानी पारी खेली. 96 गेंद पर 108 रन की पारी में उन्होंने 8 चौके 7 छक्के लगाए.  उनकी इस पारी की बदौलत भारत ने पहली पारी में 487 रन का स्कोर खड़ा किया.

कप्तान विराट से लेकर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर तक इस खिलाड़ी के मुरीद है. पिछले कुछ महीनों में इस खिलाड़ी ने अपना नाम इस कदर रोशन कर लिया है कि हर क्रिकेट फैन की जुबान पर उनका नाम है.

पिछले 2 सालों में इस खिलाड़ी ने वह सब हासिल किया जो एक युवा खिलाड़ी का सपना होता है. टी20 क्रिकेट से अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत करने वाले हार्दिक अब क्रिकेट इतिहास का सबसे पुराने फॉर्मेट टेस्ट क्रिकेट में भी अपनी छाप छोड़ रहे हैं.

जब सचिन ने हार्दिक से कहा, तुम जल्दी ही भारत से खेलोगे

श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट में 50 रन की तूफानी पारी खेलने के बाद तो टीम के कप्तान विराट कोहली ने उनकी तुलना इंग्लैंड के सुपरस्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स से कर दी. आपको बता दे कि सचिन तेंदुलकर ने हार्दिक से आईपीएल के पहले ही सीजन में कह दिया था कि वह जल्द ही भारत से खेलेंगे. तो आपको बताते हैं कि हार्दिक ना आखिरकार अपने करियर की शुरुआत कैसे की.

हार्दिक पांड्या का जन्म 11 अक्टबर 1993 को गुजरात के सूरत में रहने वाले हिमांशु पांड्या के घर हुआ. उनके पिता कार फायनेंस का छोटा सा बिजनेस करते थे.

Mumbai Indians cricketer Hardik Pandya (L) and brother and teammate Mumbai Indians cricketer Krunal Pandya smile during the 2017 Indian Premier League (IPL) Twenty20 cricket match between Mumbai Indians and Sunrisers Hyderabad at Wankhede Stadium in Mumbai on April 12, 2017. GETTYOUT /----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / AFP PHOTO / INDRANIL MUKHERJEE / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

हार्दिक ने एक इंटरवियू में बताया था कि उनका क्रिकेट खेलने का कोई इरादा नहीं था. उनका बड़ा भाई क्रिकेट खेलने का शौकीन था और वह उनके साथ ग्राउंड में मौज मस्ती करने के लिए जाया करते थे. इस बीच कोच किरण मोरे ने हार्दिक को मौज-मस्ती करते हुए देखा और कहा तुम मस्ती कर रहे हो. तुम्हें भी अपने भाई की तरह क्रिकेट खेलना चाहिए.

इसी दौरान मोरे ने हार्दिक के पिता से कहा कि अगर आप अपने बेटों को क्रिकेटर बनाना चाहते हो तो बड़ौदा शिफ्ट हो जाओ. सूरत में क्रिकेट का कल्चर नहीं है. इसके बाद हार्दिक पांड्या ने क्रिकेट खेलना शुरू किया और आज वह भारत की इंटरनेशनल क्रिकेट टीम का एक हिस्सा है

कोच किरण मोरे के बड़ौदा शिफ्ट होने की सलाह देने के बाद हार्दिक पांड्या के पिता साल 1999 में सूरत से बड़ौदा शिफ्ट हो गए. सूरत में हार्दिक पांड्या के पिता छोटे-मोटे काम करते थे. जहां हार्दिक के पिता कार फाइनेंस का पार्ट टाइम जॉब करते थे. हार्दिक के पिता इतना कम कमा पाते थे कि उनके परिवार का खर्चा भी नहीं चल पाता था.

हार्दिक पांड्या और उसका भाई केवल मैगी खाकर मैदान पूरा दिन बिताते थे. परिवार में आर्थिक अभाव व अनेक कठिनाइयों के बावजूद उन्होंने बड़ौदा के जूनियर रैंक में अपनी पहचान बनानी शुरू की. इसी बीच उनके पिता को हार्ट अटैक का दौरा पड़ा और डॉक्टरों ने उनको आराम करने की सलाह दी जिससे उनको काम छोड़ना पड़ा. यह समय उनके और उनके परिवार लिए कठिन था.

Dharamsala : India's Hardik Pandya celebrates with team mate Virat Kohli the dismissal of New Zealand batsman L Ronchi in the first ODI match in Dharamsala on Sunday. PTI Photo by Shirish Shete (PTI10_16_2016_000136B) *** Local Caption ***

हार्दिक पांड्या पहले पार्ट टाइम लेग स्पिन गेंदबाजी करते थे. वह एक अच्छे लेग स्पिनर नहीं थे इसलिए उनको गेंदबाजी में इस्तेमाल नहीं किया जाता है. इसको लेकर हार्दिक पांड्या निराश थे. इसके बाद उन्होंने अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देना शुरू किया. लेकिन वे नेट पर अभ्यास के दौरान तेज गेंदबाजों की सहायता करते थे. एक दिन रणजी ट्रॉफी कोच सनथ कुमार ने हार्दिक को गेंदबाजी करते हुए देखा और उसके कुछ महीने बाद ही उन्हे गेंदबाजी कराना शुरू कर दिया,

भले हार्दिक का पहला रणजी सीजन अच्छा नहीं गुजरा हो लेकिन हार्दिक ने आईपीएल में मुख्य भूमिका निभाई थी. हार्दिक पांड्या ने आईपीएल सीजन 2015 के कुछ मैचों में अच्छी गेंदबाजी की. हार्दिक का मानना है कि किसी भी युवा खिलाड़़ी के लिए लाइमलाइट में आने के लिए आईपीएल से बेहतर कोई प्लेटफॉर्म नहीं है.

आईपीएल एक ऐसा बड़ा मंच है जहां आप खुद को साबित कर सकते हो. मैं कहता हूं कि आईपीएल ने मेरी लाइफ बदल दी. आईपीएल में मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलते हुए हार्दिक पांड्या ने जॉन राइट और रिकी पोंटिंग को काफी प्रभावित किया. आईपीएल सीजन 2015 में अच्छा प्रदर्शन की बदौलत हार्दिक पांड्या को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाली टी-20 टीम इंडिया में मौका मिला.

जब हार्दिक ने बनाए 1 ओवर में 34 रन 

वैसे हार्दिक के नाम घरेलू क्रिकेट में एक बड़ा रिकॉर्ड भी है. बड़ौदा के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने 2016 में सैयद मुश्ताक ट्रॉफी में दिल्ली के आकाश सूदन के खिलाफ एक ओवर में 34 रन बना डाले थे. इसी ओवर में 5 एक्स्ट्रा बने और आकश सूदन के नाम एक ओवर में 39 रन पिटवाने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया. इसी ओवर में आकाश ने वाइड के साथ-साथ बाई के भी चार रन दिए, यानी आकाश के ओवर में कुल 39 रन बने.

2016 हार्दिक का स्वर्णिम साल

इसके बाद हार्दिक ने आईपीएल में कई तूफानी पारियां खेली. कई मैचों में तो उन्होंने अपनी टीम को हारा हुआ मैच जीता दिया. हार्दिक का स्वर्णिम दौर शुरू हुआ जब उन्हे 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया. हालांकि पहला मैच उनके लिए ज्यादा अच्छा नहीं रहा और उन्होंने 4 ओवर में 37 रन लुटा दिए. लेकिन अगले ही मैच में उन्होंने अच्छी गेंदबाज करते हुए दुनिया को दिखा दिया की उन पर जो विश्वास दिखाया है वह उसके काबिल है. उन्हे इस सीरीज में बल्ले से तो मौका नहीं मिला लेकिन गेंदबाजी और फील्डिंग से वह सबको प्रभावित करते गए.

इसके बाद बांग्लादेश में हुए एशिया कम में तो वह स्टार बनकर उभरे. उनकी तूफानी बल्लेबाजी देखकर हर कोई हैरान था. उस टूर्नामेंट में तो कई बार उन्हे धोनी से ऊपर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया.

Kolkata:Indian batsman Hardik Pandya acknowledging crowds after complete his half century as other batsmanm Kedar Jadhav looks on during 3rd ODI against England at Eden Garden in Kolkata on Sunday. PTI Photo by Swapan Mahapatra(PTI1_22_2017_000206B)

उनका ये प्रदर्शन उन्हे वनडे टीम में जगह दिलाने के लिए काफी था. न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्हे वनडे मैचों में पर्दापण करने का मौका मिल गया. पहले ही मैच में 3 विकेट लेकर उन्होंने वनडे करियर की शुरुआत भी धमाकेदार तरीके से की. गेंद के साथ वह अपने बल्ले की चमक भी दिखा रहे थे.

कई मैचों में उन्होंने शानदार पारियां खेल अपनी टीम को जीत दिलाई. चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ उनकी 76 रन की आतिशी पारी शायद ही कोई भूला पाए. हालांकि वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए लेकिन उनकी तारीफ पाकिस्तान के खिलाड़यों ने भी की.

अब टेस्ट क्रिकेट में भी उनका आगाज शानदार रहा. हार्दिक पंड्या ने श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट की पहली पारी में ताबड़तोड़ 49 गेंदों पर अर्धशतक ( 50 रन ) जमाया, जिसमें 3 शानदार छक्के शामिल थे. साथ ही पहली पारी में 1 विकेट लेकर अपने पहले ही टेस्ट में उम्दा प्रदर्शन किया और भारत ने यह मुकाबला 304 रनों से जीत लिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi