S M L

अपनी ही सरकार से नहीं मिला यूपी की महिला क्रिकेटर्स को सम्मान

हिंदी न्यूज़18 से खास बातचीत में पूनम यादव और दीप्ति शर्मा ने अपने दर्द को बयां किया

FP Staff Updated On: Aug 05, 2017 06:49 PM IST

0
अपनी ही सरकार से नहीं मिला यूपी की महिला क्रिकेटर्स को सम्मान

महिला क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड में खेले गए वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल तक का सफर तय किया. जब टीम एक के बाद एक जीत दर्ज कर रही थी तो कोई किसी महिला खिलाड़ी की तुलना सचिन से तो कोई सहवाग से किए जा रहा था. टीम में शामिल हर खिलाड़ी को उम्मीद थी कि पुरुष टीम पर करोड़ों न्यौछावर करने को तैयार रहने वाली सरकारें कम से कम एक बार सम्मान तो जरूर करेंगी. लेकिन, ऐसा किसी-किसी प्रदेश में ही हुआ.

जहां तेलंगाना, महाराष्ट्र और पंजाब ने अपने खिलाड़ियों को पलकों पर बिठाया, वहीं यूपी में सीएम तो छोड़िए किसी मंत्री तक ने सम्मान करने की जरूरत नहीं समझी. पीएम नरेंद्र मोदी ने भी मुलाकात की. आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला, जो यूपी से ही हैं, उन्होंने भी सुध नहीं ली. यूपीसीए के चेयरमैन रिजवान शमशाद की बधाई की कॉल तक नहीं आई है.

हिंदी न्यूज़18 से खास बातचीत में पूनम यादव और दीप्ति शर्मा ने अपने दर्द बयां किया. इस बारे में दीप्ति शर्मा और पूनम यादव कहती हैं- उम्मीद है प्रदेश सरकार देर-सबेर कुछ न कुछ जरूर करेगी. ऐसा ही एकता बिष्ट के साथ भी है. बता दें कि दीप्ति शर्मा, पूनम यादव के अलावा एकता बिष्ट महिला वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाली टीम का हिस्सा रहीं.

शानदार प्रदर्शन के बावजूद किसी ने नहीं पूछा 

216 रन और भारत के लिए सबसे अधिक 12 विकेट लेने वाली ऑलराउंडर दीप्ति थोड़ी निराशा में कहती हैं- इंग्लैंड से लौटने के बाद लगा था महिला क्रिकेटरों को यूपी में अलग नजरिए से देखा जाएगा. उम्मीद के मुताबिक हमें तारीफ भी खूब मिली. सरकार के द्वारा सम्मान या अवॉर्ड दिए जाने के सवाल पर कहती हैं- अभी तक तो कुछ नहीं दिया गया है. किसी मंत्री ने भी मुलाकात नहीं की. अगर कुछ ऐसा होता है तो उसका वेलकम होगा.

Derby : India's Deepti Sharma, centre, celebrates after dismissing Australia's Nicole Bolton during the ICC Women's World Cup 2017 semifinal match between Australia and India at County Ground in Derby, England, Thursday, July 20, 2017. AP/ PTI(AP7_20_2017_000273B)

दूसरी ओर राज्य की होनहार क्रिकेटर पूनम कहती हैं- मुझे तो और आगे बढ़ना है. आगरा में जितनी सुविधाए हैं उनकी बदौलत ही मैं यहां तक पहुंची हूं. यह अच्छी बात है कि पंजाब सहित कई सरकारें अपनी खिलाड़ियों का सम्मान कर रही हैं...अवॉर्ड दे रही हैं.

कम से कम वहां तो महिला क्रिकेट को अपना मुकाम मिलेगा ही. यूपी सरकार के बारे में पूछने पर थोड़ी निराश हो जाती हैं. लंबी सांस लेने के बाद कहती हैं- सुनने में तो आ रहा है, जल्द ही कुछ घोषणा होगी, लेकिन किसी अधिकारी या मंत्री ने अभी तक संपर्क नहीं किया है.

किसे क्या मिला?

- बीसीसीआई ने फाइनल में पहुंचते ही सभी प्लेयर्स को 50-50 लाख रुपए देने की घोषणा कर दी थी. - तेलंगाना सरकार ने मिताली को एक करोड़ और बंजारा हिल्स पर एक फ्लैट दिया. - रेलवे ने मिताली को स्पोर्ट्स ऑफिसर का पद ऑफर किया. - जूनियर टीम के पूर्व चयनकर्ता तथा कारोबारी वी चामुंडेश्वरनाथ ने मिताली को बीएमडब्ल्यू कार गिफ्ट की. - महाराष्ट सरकार ने स्मृति मंधाना, पूनम राऊत और मोना मेश्राम को 50-50 लाख और एक- फ्लैट दिया है. - हरमनप्रीत कौर को पंजाब सरकार ने 5 लाख रुपए दिए और पुलिस में डीएसपी पद ऑफर किया. - झूलन गोस्वामी को एयर इंडिया ने डिप्टी मैनेजर पद ऑफर किया और 10 लाख रुपए दिए. - सुषमा को हरियाणा ने डीएसपी पद ऑफर किया. - रेलवे ने अपने हर इम्प्लॉइज (जो टीम में रहीं) को 13 लाख रुपए और एक प्रमोशन दिया है. - मध्यप्रदेश सरकार ने टीम को 50 लाख रुपए देने की घोषणा की.

नित्यानंद पाठक की न्यूज़18 हिंदी के लिए विशेष रिपोर्ट

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi