S M L

बीसीसीआई के ताबूत में आखिरी कील की तैयारी, सीओए ने तैयार किया नया संविधान

19 सितंबर से पहले सुप्रीम कोर्ट में जमा हो जाएगा बीसीसीआई का नया संविधान

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Sep 08, 2017 05:01 PM IST

0
बीसीसीआई के ताबूत में आखिरी कील की तैयारी, सीओए ने तैयार किया नया संविधान

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने में आनाकानी कर रही बीसीसीआई की मुसीबतें अब और बढ़ने वाली हैं. अदालत की बनाई प्रशासकों की समिति यानी सीओए ने बोर्ड के लिए एक नया संविधान बनाकर तैयार कर लिया है और इसे 19 सितंबर से पहले देश की सबसे बड़ी अदालत यानी सुप्रीम कोर्ट में जमा कर दिया जाएगा.

इसके साथ ही सीओए के मुखिया विनोद राय ने साफ कर दिया है कि अब सुप्रीम कोर्ट में कोई स्टेटस रिपोर्ट जमा नहीं की जाएगी. इससे पहले सीओए की तरफ से अदालत में पांच स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की गई थी. इन रिपोर्ट्स में सीओए की ओर से अदालत को बीसीसीआई में लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के मुताबिक हो रहे सुधारों की प्रक्रिया से अवगत कराया जाता था.

पिछली रिपोर्ट में सीओए ने अदालत में यह साफ कर दिया था कि बीसीसीआई की इन सुधारों को लागू करने की कोई मंशा नहीं है. साथ सीओए ने अदालत से बोर्ड के मौजूदा नेतृत्व को भी हटाने की मांग की थी. इनमें कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना, अंतरिम सेक्रेटरी अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी शामिल है.

आपको बता दें कि लोढ़ा कमेटी की तमाम सिफारिशों में से कुछ को छोड़कर बीसीसीआई बाकी सिफारिशों को मंजूर कर चुकी है. बोर्ड के पदाधिकारियों के कार्यकाल की सीमा, बोर्ड के सीईओ के अधिकारों की सीमा, एक राज्य एक वोट और चयनकर्ताओं की संख्या जैसी लोढ़ा कमेटी की कुछ सिफारिशें बोर्ड के अधिकारियों के गले नहीं उतर रही हैं.

बोर्ड की इन तमाम आपत्तियों के चलते लोढ़ा कमेटी की सिफारिशे लागू नहीं हो सकी है लिहाजा अदालत ने पिछली सुनवाई में सीओए को नया संविधान बनाने का निर्देश दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi