S M L

चैंपियंस ट्रॉफी 2017:  नेहरा को चुनें या शमी को, कैसी होगी टीम इंडिया

15 सदस्यीय भारतीय टीम में ज्यादातर की जगह अपनी जगह है पक्की

Bhasha | Published On: Apr 25, 2017 08:38 AM IST | Updated On: Apr 25, 2017 07:39 PM IST

चैंपियंस ट्रॉफी 2017:  नेहरा को चुनें या शमी को, कैसी होगी टीम इंडिया

भारतीय चयनकर्ता जून में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी के लिए जब टीम चयन करने के लिये बैठेंगे, तो गेंदबाजों को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा होगी. उनके लिए सबसे बड़ा सिरदर्द होगा कि किस गेंदबाज को लें और किसे छोड़ें.

चौथे तेज गेंदबाज के स्थान के लिए आशीष नेहरा और मोहम्मद शमी दोनों दावेदार हैं. आईसीसी ने ब्रिटेन में होने वाली चैंपियन्स ट्रॉफी के लिए 15 सदस्यीय टीम घोषित करने की अंतिम समय सीमा 25 अप्रैल तय की है. ऐसे में भारतीय टीम के चयन के लिए ज्यादा समय नहीं बचा है.

चयनसमिति की बैठक की तिथि अभी तय नहीं है, क्योंकि बीसीसीआई चाहता है कि राजस्व की साझेदारी और शासन जैसे आईसीसी से जुड़े मसले पहले सुलझाए जाएं. लेकिन इन सारे विवादों के बीच नजरें टीम के चयन पर हैं.

रविचंद्रन अश्विन के अगले कुछ सप्ताह में फिर से अभ्यास शुरू करने की उम्मीद है. उनका और रविंद्र जडेजा का स्पिन विभाग में चयन तय है. लेकिन तेज गेंदबाजी में चौथे सदस्य को लेकर चर्चा हो सकती है. भारतीय टीम के ब्रिटेन पहुंचने पर दो अभ्यास मैच खेलने हैं और अश्विन को तब मैच अभ्यास का मौका मिल जाएगा.

तेज गेंदबाजों में डेथ ओवरों के विशेषज्ञ जसप्रीत बुमराह, स्विंग गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और रफ्तार के सौदागर उमेश यादव का फिट होने पर 15 सदस्यीय टीम में चयन पक्का है. इसी तरह से हार्दिक पांड्या का चयन भी तय है जो तेज गेंदबाज ऑलराउंडर के रूप में टीम में रहेंगे. ऐसे में तेज गेंदबाजी विभाग में एक स्थान खाली रह जाता है जिसके लिए मोहम्मद शमी और आशीष नेहरा दावेदार हैं.

शमी टेस्ट प्रारूप में भारत के लिए अच्छे गेंदबाज साबित हुए हैं. उन्होंने अपना पिछला वनडे मैच 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल के रूप में सिडनी में खेला था. बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार कप्तान विराट कोहली अपने गेंदबाजी विभाग में नेहरा को चाहते हैं. उनके अपार अनुभव से युवा तेज गेंदबाजों को काफी मदद मिलेगी.

ये भी पढे़ें - चैंपियंस ट्रॉफी 2017: शफीउल इस्लाम को मिली बांग्लादेश टीम में जगह

इसके अलावा मैच की स्थिति का आकलन करने में भी वह माहिर हैं. नेहरा विजय हजारे ट्रॉफी में दिल्ली की तरफ से खेले थे और वह अब भी 50 ओवरों के प्रारूप के लिए एक स्थान के प्रबल दावेदार हैं. गर्दन के दर्द के कारण हालांकि वर्तमान आईपीएल में वह सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से कुछ मैच नहीं खेल पाए. लेकिन उनके अगले सप्ताह तक फिट होने की संभावना है.

शमी को भी उनकी फ्रेंचाइजी दिल्ली डेयरडेविल्स ने नियमित रूप से चुना है जिससे चयनसमिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद और उनके दो अन्य साथियों को उनकी वर्तमान फॉर्म पर गौर करने का मौका मिलेगा. विशेषज्ञों का मानना है कि शमी और उमेश में से केवल एक को टीम में रखा जाना चाहिए क्योंकि ये दोनों ही आउटस्विंग गेंदबाज हैं.

उमेश ने टेस्ट मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया और आईपीएल में भी वह अब तक बेहतर खेल दिखा रहे हैं. इसलिए उनका मामला मजबूत बन गया है. युवा बेसिल थम्पी को स्टैंड बाई रखा जा सकता है. उन्होंने डेथ ओवरों में यॉर्कर करने की अपनी क्षमता से प्रभावित किया है. सुनील गावस्कर से लेकर ड्वेन ब्रावो तक ने केरल के इस तेज गेंदबाज की काफी तारीफ की है.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi