विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

बीसीसीआई करेगी लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों से बचने की आखिरी कोशिश

फिर से सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा बोर्ड

FP Staff Updated On: Jul 02, 2017 10:43 AM IST

0
बीसीसीआई करेगी  लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों से बचने की आखिरी कोशिश

लोढ़ा पैनल की सिफारिशों को लागू किए जाने से पहले बीसीसीआई सुप्रीम कोर्ट से थोड़ी राहत की मांग कर सकती है. इन सिफारिशों के  आकलन के लिये गठित बीसीसीआई की आठ सदस्यीय समिति ने बोर्ड के पदाधिकारियों के लिए तीन साल के ‘कूलिंग ऑफ’ पीरियड की सिफारिश में कुछ बदलाव की मांग करने का प्रस्ताव रखा है. लोढ़ा पैनल के सुधारों में बीसीसीआई के पदाधिकारियों के लिये नौ साल के कार्यकाल की व्यवस्था है जिसमें प्रत्येक कार्यकाल के बाद तीन साल के कूलिंग ऑफ पीरियड का भी प्रावधान है. बोर्ड की समिति चाहती है कि इस तीन साल के वक्त को खत्म किया जाए.

समिति के एक पदाधिकारी ने बताया कि अगर 12 साल का कार्यकाल स्वीकार नहीं होता है तो फिर बिना किसी विराम के पूरे नौ साल के कार्यकाल की पेशकश की जाए. उन्होंने कहा ' कार्यकाल कई अधिकारियों के लिये एक मसला है. इनमें सौरव गांगुली भी शामिल हैं जिन्हें लोढ़ा सुधारों के ज्यों के त्यों लागू होने पर 14 जुलाई को अपना पद छोड़ना होगा. गांगुली ने कोलकाता से स्काईप के जरिये बैठक में हिस्सा लिया.

इसके अलावा यह भी पता चला है कि एक राज्य एक मत और चयनकर्ताओं की संख्या तीन से बढ़ाकर पांच करने के मसलों का भी जिक्र किया जाएगा.'

बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा उनकी सात जुलाई को मुंबई में एक और बैठक होगी. उन्होंने कहा, 'हम उच्चतम न्यायालय के आदेश का पालन करने के लिये प्रतिबद्ध हैं. हमें कुछ परेशानियां है जिन्हें हम प्रशासकों की समिति  यानी सीओए और उच्चतम न्यायालय के सामने रखेंगे. हमने इन परेशानियों की पहचान कर ली है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi